• Hindi News
  • Tech auto
  • Tech
  • Facebook Rayban teaming up with AR glasses, which will enable calling and live streaming on social media platforms

रिपोर्ट / फेसबुक-रेबेन मिलकर बना रहीं एआर चश्मा, इससे कॉलिंग और सोशल मीडिया पर लाइव स्ट्रीमिंग कर सकेंगे

Facebook-Rayban teaming up with AR glasses, which will enable calling and live streaming on social media platforms
X
Facebook-Rayban teaming up with AR glasses, which will enable calling and live streaming on social media platforms

  • रिपोर्ट के मुताबिक इस चश्मे को 2023-25 के बीच बाजार में उतारा जा सकता है
  • फेसबुक एआई वॉयस असिस्टेंट और रिंग डिवाइस पर भी काम कर रही है

दैनिक भास्कर

Sep 18, 2019, 12:30 PM IST

गैजेट डेस्क. फेसबुक और रेबेन की पेरेंट कंपनी लुक्सोटिका मिलकर ऑग्मेंटेड रियलिटी तकनीक से लैस चश्मा बना रही है। रिपोर्ट के मुताबिक कंपनी यूएस पेटेंट एंड ट्रेडमार्क ऑफिस में इसका इसका पेटेंट फाइल करा चुकी है। फेसबुक के इस एआर ग्लास की मदद से यूजर कॉलिंग के अलावा सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर लाइव स्ट्रीमिंग भी कर सकेंगे। इसे स्मार्टफोन के रिप्लेसमेंट के तौर पर भी देखा जा रहा है। रिपोर्ट के मुताबिक यह 2025 तक बाजार में उपलब्ध होगा। फेसबुक का यह एआर ग्लास, गूगल ग्लास को चुनौती देगा।

 

े

 

चश्मे के डिस्प्ले पर मिलेगी जरूरी जानकारियां

फेसबुक को इस प्रोजेक्ट को पूरा करने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था, जिसके बाद चश्मे बनाने वाली कंपनी लुक्सोटिका इस प्रोजक्ट को पूरा करने में फेसबुक की मदद कर रही है। लुक्सोटिका, चश्मे का पॉपुलर ब्रांड रेबेन की पेरेंट कंपनी है।

रिपोर्ट के मुताबिक इसे 2023-25 के बीच बाजार में उतारा जा सकता है। इसे ओरिऑन कोडनेम दिया गया है। फेसबुक ग्राहकों को लुभाने के लिए इसे अट्रैक्टिव साइज देना चाहती है जो सभी हाई-एंड फीचर्स से लैस हो। लेकिन फेसबुक इसके साइज और इसमें मिलने वाले हाई-एंड फीचर के बीच तालमेल नहीं बैठ पा रही थी। जिसके बाद कंपनी ने लुक्सोटिका की मदद ली।

यह एक इनोवेटिव डिवाइस होगा। रिपोर्ट के मुताबिक इसे स्मार्टफोन को रिप्लेसमेंट के तौर पर देखा जा रहा है। यूजर इसकी मदद से कॉलिंग कर सकेंगे। इसकी डिस्प्ले पर सारी महत्वपूर्ण जानकारियां देखी जा सकेंगी। इसके साथ ही इसके ग्लास की मदद से सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर लाइव स्ट्रीमिंग भी की जा सकेगी।

एआर ग्लास के अलावा फेसबुक आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस तकनीक पर बेस्ड वॉयस असिस्टेंट को लेकर भी काम कर रही है। उम्मीद की जा रही है कि यह एआई वायस असिस्टेंट इसी ग्लास में बिल्ट-इन फीचर के तौर पर दी जा सकती है। इसके साथ ही कंपनी रिंग डिवाइस को लेकर भी काम कर रही है, जिसे 'एगिओस' कोडनेम दिया गया है। यह रिंग डिवाइस मोशन सेंसर के जरिए यूजर से इंपुट लेगी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना