2020 में टेक्नो-गैजेट / इस साल 5जी, अगला पूरा दशक इसी का

Intelligence of Things, AI and 5G define the technology in next full year decade in india
X
Intelligence of Things, AI and 5G define the technology in next full year decade in india

वॉयस असिस्टेंट बनेगा जिंदगी का अहम हिस्सा, फोन से कंट्रोल होंगे सारे गैजेट

दैनिक भास्कर

Jan 11, 2020, 12:12 PM IST

अभिषेक तैलंग. नए दशक में टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में हम कई ऊंची छलांगें देखेंगे जिसकी शुरुआत नए वर्ष में हो जाएगी। टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में छिटपुट बदलाव तो आप हर दूसरे-तीसरे महीने देखते ही रहेंगे, पर असली क्रांति तो 5जी आने के बाद शुरू होगी। यानी अगले 10 वर्ष 5जी के नाम! लगभग हर टेक कंपनी, 5जी के इंतजार में है। फिर चाहे वो स्मार्ट फोन बनाने वाली कंपनी हो, गेमिंग कंपनी हो या वीडियो स्ट्रीमिंग सर्विस हो। 5जी के आने के बाद आपके स्मार्ट फोन को इस्तेमाल करने का तरीका बदल जाएगा। जरूरी नहीं है कि हर वक्त आपको अपनी जेब में स्मार्ट फोन लेकर घूमना पड़े। 5जी आपके स्मार्ट फोन की एसेसरीज को इतनी ताकत दे देगा कि आप फोन को साथ रखे बिना भी उसका इस्तेमाल कर पाएंगे। सुबह जॉगिंग के वक्त आपकी स्मार्ट वॉच से ही कॉन्फ्रेंस कॉल हो जाएंगी। वॉयस इनेबल्ड स्मार्ट इयरफोन/स्मार्ट स्पीकर आपके हाथों को दूसरे जरूरी कामों के लिए मुक्त रखेंगे। आपका फोन 5जी की मदद से आपके आसपास के सभी गैजेट्स का सरदार बन जाएगा। एक टच या वॉयस कमांड से आपका फोन, घर के सभी इलेक्ट्राॅनिक गैजेट को नियंत्रित करेगा। फिर चाहे वो एसी, टीवी हो या घर का सिक्योरिटी सिस्टम। ये सब कमाल करने वाले गैजेट अभी बाजार में बिक रहे हैं पर आने वाले वर्ष में ये और सस्ते होंगे और जल्द ही घर-घर में आम हो जाएंगे। पर इन्हें असली ताकत तो 5जी ही देगा। 

पब्जी तो महज शुरुआत है!
2019 में हमने मोबाइल गेमिंग का बूम देखा। पब्जी खेलने वाले हर गली-नुक्कड़ में देखे। पर ये तो महज शुरुआत है। सस्ता और तेज इंटरनेट जहां मल्टीप्लेयर ऑनलाइन गेमिंग को बढ़ावा देगा, वहीं दूसरी ओर गूगल स्टैडिया, एपल आर्केड जैसे प्लेटफॉर्म प्रोफेशनल गेमिंग को घर-घर ले जाएंगे। जहां आपको उच्च क्वालिटी के ग्राफिक्स वाले गेम खेलने के लिए महंगा वाला फोन या गेमिंग कंसोल लेने की जरूरत ही नहीं पड़ेगी। गेमिंग में इस्तेमाल होने वाला सारा हाई एंड कम्प्यूटेशन दूर बैठे किसी गूगल या माइक्रोसॉफ्ट जैसी कंपनी के क्लाउड सर्वर पर होगा और आप हजारों मील दूर बैठे अपने फोन या गेमिंग कंट्रोलर पर सिर्फ गेम का मजा लेंगे, वो भी अपने दोस्तों और ऑनलाइन गेमिंग बडीज के साथ। इस तरह की टेक्नोलॉजी को भारत में लांच होते-होते सितंबर तक का वक्त लग जाएगा। एपल आर्केड तो लॉन्च हो चुका है, पर वो सिर्फ एपल के उपकरणों के लिए है और गूगल स्टैडिया को भारत में लाॅन्च होने में थोड़ा वक्त लगेगा। 

टीवी वापस लौटेगा!
स्मार्टफोन और टैबलेट आने के बाद जो लोग टीवी की तेरहवीं मना रहे थे, उनके लिए ब्रेकिंग न्यूज है कि टीवी अब जबरदस्त वापसी करने वाला है। इसका सबसे बड़ा सबूत है कि स्मार्ट फोन बनाने वाली िशयोमी, वन प्लस, नोकिया और मोटोरोला जैसी ढेरों कंपनियां आखिर क्यों अब टीवी बनाने में भी हाथ आजमा रही है? जवाब सीधा है, टीवी वापस आने वाला है। लेकिन, ये टीवी बुद्धू बक्सा नहीं, बल्कि स्मार्ट टीवी है। जिस पर तेज इंटरनेट की मदद से आप ढेरों ऑनलाइन स्ट्रीमिंग सेवाओं का इस्तेमाल कर पाएंगे। देश-दुनिया की मशहूर फिल्में, टीवी सीरीज, डॉक्यूमेंट्री आपकी अपनी भाषा में मिलेंगी। साथ ही इन स्मार्ट टीवी की मदद से सोशल नेटवर्किंग, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के साथ ही मल्टी प्लेयर ऑनलाइन गेमिंग भी हो पाएगी। सस्ते और सुंदर स्मार्ट टीवी की भीड़ आपको इस वर्ष देखने को मिली, 2020 के खत्म होते-होते भारतीय बाजार में ढेरों टीवी और कई देसी-विदेशी ऑनलाइन वीडियो स्ट्रीमिंग सेवाओं की बहार आ जाएगी, जिसमें डिज़नी जैसी कंपनियां भी शामिल होंगी। तो अच्छे कंटेट के लिए तैयार रहिए। 

उलट-पलट फोन
यकीन मानिए, फोल्डिंग गैजेट का दौर आ गया है, लेकिन अभी यह कहना जल्दबाजी होगी कि 2019 में गैलेक्सी फोल्ड या मोटो रेजर जैसे फोल्डिंग डिवाइस हमने देखे, 2020 में भी इसी तरह के डिवाइस देखने को मिलेंगे। फोल्डिंग स्क्रीन का सबसे बड़ा फायदा ये होता है कि आप बड़ी स्क्रीन को छोटा बनाकर जेब में रख सकते हैं या लैपटॉप बैग में 65 इंच का टीवी लेकर घूम सकते हैं। लेकिन, सैमसंग गैलेक्सी फोल्ड या मोटो रेजर के साथ अभी बहुत दिक्कतें है। ये नाजुक हैं और स्क्रीन चटकने की कई शिकायतें सुनने को मिली हैं। ठीक इसी तरह डील-डौल में भी ये भारी हैं और सबसे बड़ी दिक्कत इनमें अभी प्लास्टिक स्क्रीन का इस्तेमाल हो रहा है, जो कांच के मुकाबले कम चमकदार और कम टच रेस्पोंसिव होती है। इस बात में कोई शक नहीं है कि फोल्डेबल स्कीन आने वाले वक्त में अनेक गैजेट में इस्तेमाल होंगी पर 2020 में हमें इन गैजेट में छोटे-मोटे सुधार दिखते रहेंगे। आम आदमी की जेब में इन गैजेट को पहुंचने में अभी कम से कम 2-3 साल तो लगेंगे। 

मेरी आवाज़ ही पहचान है!
2019 में सबसे ज्यादा बिकने वाले गैजेट में अमेजन की अलेक्सा डिवाइस समेत तमाम ऐसे गैजेट का नाम शुमार रहा, जो आपके वॉयस कमांड से अनेक काम कर लेते है। 2020 में भी ये दौर इसी तरह से चलेगा। यह कैटेगरी सबसे तेजी से आगे बढ़ रही है। ये आपके कहनेभर से न सिर्फ गाने सुनाना, टाइम बताना जैसे काम करने लगे हैं, बल्कि अब आप इनसे अपने घर की लाइट, एसी व फ्रिज को भी कंट्रोल कर सकते हैं। साथ ही छोटे बच्चों की पढ़ाई में भी ये काफी मदद कर रहे हैं। अब ये वॉयस असिस्टेंट हिंदी जैसी भाषाएं समझते भी हैं और आपसे हिंदी में बात भी कर सकते हैं। 2020 और आने वाले वर्षों में वॉयस असिस्टेंट हमारे जीवन का एक अहम हिस्सा बन जाएंगे।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना