टेक अपडेट /हर महीने करीब 80 लाख वायरस होते हैं रिलीज, एंटीवायरस भी होता है नाकाफी



antivirus in really safe for computers and mobile
X
antivirus in really safe for computers and mobile

Dainik Bhaskar

Jun 22, 2019, 10:36 AM IST

गैजेट डेस्क, रवि शर्मा, पुणे. ज्यादातर लोग जानते हैं कि उन्हें एंटीवायरस की जरूरत है लेकिन क्या आप जानते हैं कि आज के वायरस इस तरह से डिजाइन किए जाते हैं कि एंटीवायरस से बचकर निकल जाएं। ये वायरस कंप्यूटर को पूरी तरह से बरबाद कर देते हैं, ठीक वैसे ही जैसे डकैत घर में घुसकर तोड़-फोड़ मचाता है। जब आपके घर में सुरक्षा के एक से ज्यादा इंतजाम हैं तो कंप्यूटर में क्यों नहीं? ये वो वजहें हैं जिनसे एंटीवायरस हार जाता है।

  • नए वायरस हर रोज

    माना जाता है कि करीब 80 लाख वायरस हर महीने रिलीज किए जाते हैं। पारंपरिक एंटीवायरस का रिस्पॉन्स टाइम बेहद स्लो है और वायरस ज्यादा स्मार्ट हो गए हैं। इसके लिए अतिरिक्त सुरक्षा की जरूरत है जो लगातार स्कैन करे और वायरस भी हटाए। ऐसे वायरस जो छुपने में भी सक्षम बनाए गए हैं।

  • आप गलत नहीं करेंगे तो भी खतरा

    जिन साइट्स पर आप रोज जाते हैं, आज के वायरस वहीं हमला कर सकते हैं और एड स्पेस को हाईजैक कर सकते हैं। कई बार सर्च इंजन में सबसे ऊपर आने वाली साइट्स को टारगेट कर ऐसे वायरस छोड़े जाते हैं। इसी तरह आप भी किसी गलत वक्त पर, गलत साइट पर पहुंच सकते हैं और वायरस की चपेट में आ सकते हैं, भले ही एंटीवायरस-की पीसी में मौजूद हो।

  • एंटीवायरस को देते हैं धोखा

    पारंपरिक एंटीवायरस प्रोग्राम वायरस की पहचान कर उसे ब्लैकलिस्ट कर देते हैं। बहरहाल, हैकर्स ने इसका भी इलाज निकाल लिया है। इसलिए जरूरी है कि पीसी में मौजूदा साल का ही एंटीवायरस इंस्टॉल किया गया हो और सुरक्षा का एक अन्य घेरा भी तैयार किया गया हो।

  • यह है उपाय

    बाजार में कई डिवाइस मिलते हैं जो बाहरी तौर पर सुरक्षा देते हैं और इन्हें इंस्टॉल नहीं करना होता। इनसे कम्प्यूटर स्लो नहीं होते, दूसरे सॉफ्टवेयर से ये प्रभावित नहीं होते। किसी भी एंटीवायरस सॉफ्टवेयर से ज्यादा सक्षम और असरदार हैं। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना