इनोवेशन / 3D प्रिटिंग तकनीक से बनीं दुनिया की पहली हाइपरकार ब्लेड, रेग्युलर कारों से 90% हल्का है इसका चेसिस



divergent debuts blade the worlds first 3D printed hypercar, know its specifications features price and technique
divergent debuts blade the worlds first 3D printed hypercar, know its specifications features price and technique
divergent debuts blade the worlds first 3D printed hypercar, know its specifications features price and technique
divergent debuts blade the worlds first 3D printed hypercar, know its specifications features price and technique
X
divergent debuts blade the worlds first 3D printed hypercar, know its specifications features price and technique
divergent debuts blade the worlds first 3D printed hypercar, know its specifications features price and technique
divergent debuts blade the worlds first 3D printed hypercar, know its specifications features price and technique
divergent debuts blade the worlds first 3D printed hypercar, know its specifications features price and technique

  • ब्लेड 0-100 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार तक पहुंचने में सिर्फ दो सेकंड का समय लेती है
  • इसमें बाई फ्यूल (नेचुरल+गैसोलीन) इंजन है, कार का कुल वजन 635 किलोग्राम है

Dainik Bhaskar

May 17, 2019, 02:13 PM IST

गैजेट डेस्क. लॉस एंजेलिस की स्टार्टअप कंपनी डिवरजेंट 3डी ने 3डी-प्रिंटिंग तकनीक से दुनिया की पहली हाइपरकार 'ब्लेड' बनाई है। इसमें एयरोस्पेस इंडस्ट्री में इस्तेमाल होने वाले तकनीक का भी उपयोग किया गया है। इसे 0 से 100 किमी की रफ्तार पकड़ने में दो सेकंड का वक्त लगता है। यह कार 730 हार्स पावर की ताकत प्रोड्यूस करती है। इसकी बॉडी को एयरोस्पेस ग्रेड कार्बन फाइबर और एल्युमिनियम अलॉय से बनाया गया है।

 

 

s

 

मिनटों में हो जाती है असेंबल

  1. कंपनी ने ब्लेड को बनाने के साथ थ्री-डी प्रिंटिंग की ताकत को भी दिखाने की कोशिश की है। यह कार पूरी तरह से रोड लीगल है, यानी इसे रोड पर चलाने में कोई कानूनी परेशानी का सामना नहीं करना होगा। इसमें फॉर व्हील ड्राइव दिया गया है। थ्री-डी प्रिंटिंग तकनीक से बने इसके चेसिस का वजन सिर्फ 46 किलो है। पारंपरिक कारों के चेसिस से 90% तक कम है।

  2. इसका डिजाइन काफी हद तक विमान से प्रेरित है। इसके केबिन को जेट प्लेन के तर्ज पर तैयार किया गया है, जिसमें सेंट्रल सीटिंग पोजीशन रखी गई है। चेसिस को हल्का बनाने के लिए थ्री डी प्रिंटेड एल्युमिनियम ज्वाइंट्स को कार्बन फाइबर से बने ट्यूब से जोड़ा गया है।

  3. 2017 में डिवरजेंट कंपनी में हांगकांग के बिलिनियर्स ली का-शिंग में 65 मिलियन डॉलर का निवेश किया था। इसमें ऑटोमोटव इंडस्ट्री के लिए पार्ट्स बनाए जाते हैं, जो लागत के साथ पर्यावरण पर होने वाले दुष्प्रभावों को भी कम करते हैं। सबसे पहले ब्लेड के प्रोटोटाइप मॉडल की डिटेल साल 2015 में दुनिया के सामने आई थी।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना