विज्ञापन

एंड्रॉयड वन / इस ओएस पर चलने वाले स्मार्टफोन में आते हैं जल्दी-जल्दी अपडेट, फोन भी स्लो नहीं होता

Dainik Bhaskar

Dec 08, 2018, 10:19 AM IST


everything you need to  know about android one
X
everything you need to  know about android one
  • comment

गैजेट डेस्क. एंड्रॉयड का अपडेशन रेट काफी कम है। अक्टूबर 2018 तक केवल 19.2 फीसद एंड्रॉयड यूजर्स की डिवाइस ही एंड्रॉयड 8.0 ऑरियो पर अपडेट हुई हैं। इस परेशानी का हल निकालते हुए गूगल ने एंड्रॉयड का एक किफायती वर्जन "एंड्रॉयड वन" पेश किया है। इसमें यूजर को जल्दी-जल्दी अपडेट्स मिलते हैं। 

 

अमेजन से Vivo Y81 खरीदने के लिए क्लिक करें

 

क्या है एंड्रॉयड वन?

  1. स्टॉक एंड्रॉयड से मिलता-जुलता है। इस वर्जन में जरूरत के कुछ ही गूगल एप्स हैं। फोन के सॉफ्टवेयर में कुछ बेसिक फीचर्स दिए गए हैं। 2014 में इसे एंट्री-लेवल एंड्रॉयड डिवाइसेज़ के लिए लॉन्च किया गया था। जिस तेजी से एंड्रॉयड बढ़ रहा है, उसी तेजी से एंड्रायड वन भी बढ़ाया जा रहा है। 

  2. पिछले साल मई में "एंड्रॉयड गो" की एंट्री हुई थी। यह बेहद हल्का वर्जन है, तो इसे एंट्री लेवल डिवाइसेज के लिए रखा है। एंड्रॉयड वन का प्रमोशन हो गया है और अब ये एंट्री लेवल फोन्स तक सीमित नहीं है, मिड रेंज हैंडसेट्स में भी इसे जगह मिल रही है। 

एंड्रॉयड वन फोन का इस्तेमाल क्यों?

  1. एंड्रॉयड वन स्मार्टफोन के इस्तेमाल से सबसे बड़ा फायदा यह है कि इससे फोन स्लो नहीं होता। अतिरिक्त एप्स, स्किन्स से फोन स्लो हो जाता है। यह सॉफ्टवेयर लोडेड नहीं है। गूगल असिस्टेंट, गूगल लेंस जैसे एंड्रॉयड अनुभव यहां मौजूद हैं। अपडेट पर इसमें वो फीचर्स भी मिलेंगे जो एंड्रायड 9.0 में दिए जा रहे हैं। 

  2. इस्तेमाल करने का दूसरा बड़ा कारण अपडेटेड स्पीड है। छोटा हो या बड़ा, हर अपडेट को फोन मेकर के नाके से गुजरना ही होता है। वन के मामले में जांच-पड़ताल थोड़ी कम होती है, तो अपडेट्स में वक्त भी कम लगता है। 

COMMENT
Astrology
Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन