रिपोर्ट / जियो ने बनाया भारत में दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा इंटरनेट यूजर आधार

Dainik Bhaskar

Jun 13, 2019, 03:26 PM IST


India has the worlds second largest Internet user base due to reliance jio
X
India has the worlds second largest Internet user base due to reliance jio

  • ग्लोबली इंटरनेट यूजर्स में भारत 12% का योगदान दे रहा है
  • 380 करोड़ बिलियन इंटरनेट यूजर्स की संख्या दुनिया की आधी से अधिक आबादी बन चुकी है

गैजेट डेस्क. रिलायंस जियो के प्रयासों के चलते भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा इंटरनेट उपयोगकर्ता आधार बनाने में सफल रहा है। भारत वैश्विक स्तर पर सभी इंटरनेट यूजर्स में 12% तक का योगदान देता है। इंटरनेट ट्रेंड्स पर 2019 मैरी मीकर की रिपोर्ट के मुताबिक इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर कंपनी रिलायंस जियो सबसे ज्यादा इनोवेटिव इंटरनेट कंपनी है।

 

रिपोर्ट में कहा गया है कि कि 380 करोड़ बिलियन इंटरनेट यूजर्स की संख्या दुनिया की आधी से अधिक आबादी बन चुकी हैं। इसमें कहा गया है कि चीन के पास वैश्विक स्तर पर सभी इंटरनेट यूजर्स का सबसे बड़ा आधार 21% है। अमेरिका में वैश्विक इंटरनेट यूजर्स का 8% आधार है। रिपोर्ट के अनुसार वैश्विक इंटरनेट यूजर्स की वृद्धि ठोस है लेकिन धीमी है। 2018 में यह वृद्धि 6% थी, जो उससे पिछले वर्ष 7% थी, इस प्रकार से इसमें 1% की कमी आई है। 2019 मैरी मीकर की रिपोर्ट के अनुसार 30.7 करोड़ मोबाइल फोन सर्विस ग्राहकों के साथ, रिलायंस जियो ई-कॉमर्स के लिए ऑफलाइन पहुंच का विस्तार कर रहा है।

 

रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी का इस बारे में कहना है कि "हम रिलायंस रिटेल के फिजिकल मार्केटप्लेस को जियो के डिजिटल इंफ्रास्ट्रक्चर और सर्विसेज के साथ एकीकृत करके एक हाइब्रिड, ऑनलाइन-टू-ऑफलाइन कॉमर्स प्लेटफॉर्म बना रहे हैं।" यह प्लेटफॉर्म रिलायंस रिटेल स्टोर्स पर 35 करोड़ ग्राहकों की आमद, 30.7 करोड़ जियो कनेक्टिविटी ग्राहकों और पूरे भारत में 3 करोड़ छोटे व्यापारियों को एक साथ लाएगा जो देश के आखिरी कोने तक फिजिकल मार्केट कनेक्टिविटी प्रदान करते हैं।"

जियो सबसे ज्यादा इनोवेटिव इंटरनेट कंपनी

  1. जियो की मुफ्त वॉयस कॉल और सस्ते डेटा प्लान ने एक साल में दो गुना डेटा उपयोग बढ़ने में मदद की है।

  2. रिपोर्ट ने भारत में इंटरनेट के नियमों को काफी संतुलित करार दिया है।

  3. भारत में विविध नियामक संस्थाएं हैं, जिनमें से कई लोगों की इंटरनेट तक पहुंच को विनियमित करने की शक्ति रखती हैं।

  4. कंटेंट रेगुलेशन पर, रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में बिना प्रत्यक्ष सार्वजनिक इनपुट के, कुछ संबोधन सुरक्षा के साथ अक्सर घटना-संचालित कंटेंट फिल्टरिंग होती है।

  5. इसमें कहा गया है कि इसके अलावा, कुछ सेंसरशिप है, आम तौर पर 'अपमानजनक सामग्री' को हटाने के लिए होती है।

  6. रिलायंस ने 2018 में हाइब्रिड ऑनलाइन-ऑफलाइन मॉडल के साथ ई-कॉमर्स सेगमेंट में अपने प्रवेश घोषणा की और तब से लॉजिस्टिक्स प्लेयर ग्रैब, सॉफ्टवेयर फर्म सी-स्क्वायर, क्षेत्रीय भाषा सेवा प्रदाता प्लेटफार्म रिवेरा लैंग्वेज टेक्नोलॉजीज सहित लॉजिस्टिक्स सरकारी योजनाओं/ सेवाओं के एग्रीगेटर ईज़ीगोवेट और मल्टीफिजिक्स सिमुलेशन सेवाएं सांख्यसूत्र लैब्स और ग्रामीण उपभोक्ता केंद्रित स्टार्टअप का अधिग्रहण किया है।

  7. रिपोर्ट के अनुसार, जियो नेटवर्क का वार्षिक डेटा उपयोग 2018 में 17-18 एक्साबाइट्स (17-18 बिलियन जीबी) के बीच था, जो कि वित्त वर्ष 2017 में 9 एक्सबाइट्स डेटा उपयोग से लगभग दो गुना वृद्धि है। इसके अलावा, रिलायंस ऑफलाइन खुदरा की संख्या दुकानों की संख्या लगभग 11,000 बताई गई है।

  8. कंपनी की योजना अपने ई-कॉमर्स वेंचर के लिए 5,000 शहरों और कस्बों में स्थित 5,100 से अधिक जियो पॉइंट स्टोर्स को डिलीवरी और कलेक्शन पॉइंट के रूप में उपयोग करने की है। इसके साथ,कंपनी को भारत की 95% आबादी तक अपनी सीधी पहुंच का विस्तार करने की उम्मीद है।

COMMENT