इनोवेशन / जापानी वैज्ञानिकों ने बनाई रोबोटिक पूंछ, यह शरीर का बैलेंस बनाकर गिरने से बचाती है



Japanese researchers designed robotic TAIL that straps body to improve balance and agility
X
Japanese researchers designed robotic TAIL that straps body to improve balance and agility

  • डिवाइस को कमर में बांधकर पूंछ का किया जा सकेगा इस्तेमाल, नाम रखा गया आर्क्यू 
  • शोधकर्ताओं का दावा- भारी सामान उठाने पर गिरने से बचाएगी रोबोटिक पूंछ

Dainik Bhaskar

Aug 07, 2019, 03:35 PM IST

लाइफस्टाइल डेस्क. जापान की किओ यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने रोबोटिक पूंछ बनाई है। इसे पहनने पर इंसान को गिरने से बचाया जा सकता है। शोधकर्ताओं के मुताबिक, डिवाइस को कमरबंद की तरह तैयार किया गया है जिसे कमर पर बांधकर इसमें लगी पूंछ का इस्तेमाल किया जा सकता है। गिरने की स्थिति में यह विपरीत दिशा में मूव करती है और गिरने से बचाती है। इसका नाम आर्क्यू रखा गया है।

गेमिंग में भी होगा इस्तेमाल

  1. शोधकर्ताओं के मुताबिक, इसका डिजाइन समुद्री घोड़े से प्रेरित है। यह जलीय जंतु अपनी पूंछ से शिकार पर अटैक करता है और कई चीजों को एक साथ जकड़ने में सक्षम है। यह काफी लचीली होती है। रोबोटिक पूंछ को भी ऐसा ही तैयार करने की कोशिश की गई है। इसे पहनने वाले की लंबाई के मुताबिक, छोटा या बड़ा भी किया जा सकता है। पूंछ में लगे छोटे-छोटे खंडों को बढ़ाया या घटा सकते हैं।

     

    ''

     

  2. शोधकर्ताओं के मुताबिक, पूंछ छोटे-छोटे खंड से मिलकर बनी है। हर खंड भारी है जो पहनने वाले को भारी सामान उठाकर चलने के दौरान बैलेंस बनाने में मदद करता है। रोबोटिक पूंछ में लगे हार्डवेयर का इस्तेमाल गेमिंग और वर्चुअल रिएल्टी में भी किया जा सकता है। शोधकर्ताओं ने फिलहाल इसका एक प्रोटोटाइप तैयार किया है जिसे हाल ही में लॉस एंजलिस के वार्षिक अधिवेशन में पेश किया गया था। 

     

    ''

     

  3. आर्क्यू में कई तरह की रोबोटिक मांसपेशियों लगाई गई हैं। ये मांसपेशियां इसकी लंबाई और इसमें बनने वाले एयर दबाव से संचालित होती हैं। ये शरीर के मूवमेंट के आधार पर खिंचती और सिकुड़ती हैं। शोधकर्ताओं का कहना है, आर्क्यू का इस्तेमाल एक कंकाल के तौर रोबोट में भी किया जा सकेगा जो इंसानी क्षमता वाला होगा। 

     

    ''

     

     

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना