करार / जियो-माइक्रोसॉफ्ट में डील, देश के छोटे और मंझले कारोबारियों के साथ स्टार्टअप वालों को मिलेगा फायदा



Jio and Microsoft announce alliance to accelerate digital transformation in India
X
Jio and Microsoft announce alliance to accelerate digital transformation in India

Dainik Bhaskar

Aug 12, 2019, 05:43 PM IST

गैजेट डेस्क. रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) की 42वीं बार्षिक आम बैठक (AGM) आज (12 अगस्त) को मुंबई में हुई। इवेंट में कंपनी ने कई बड़े ऐलान किए, जिसमें जियो गीगाफाइबर सर्विस भी शामिल है। ये देश की सबसे तेज इंटरनेट सर्विस होगी। दूसरी तरफ, कंपनी के सीएमडी मुकेश अंबानी ने बताया कि जियो और माइक्रोसॉफ्ट के बीच करार हुआ है। माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नडेला ने भी वीडियो के जरिए अपनी बात रखी। इस करार के बाद जियो देशभर में डाटा सेंटर खोलेगा।

एग्रीमेंट से जुड़ी खास बातें

  1. jio fiber

     

    जियो अपने आंतरिक कार्यबल को क्लाउड आधारित उत्पादकता और सहभागिता टूल्स माइक्रोसॉफ्ट 365 के साथ उपलब्ध कराएगा और अपने नॉन-नेटवर्क एप्लीकेशंस को माइक्रोसॉफ्ट एज्यूर क्लाउड प्लेटफॉर्म पर ट्रांसफर करेगा।

  2. जियो की कनेक्टिविटी बुनियादी ढांचा, जो हर किसी को, हर जगह, हर जगह से जोड़ने का लक्ष्य है, जियो क्लाउड फर्स्ट रणनीति के एक हिस्से के तौर पर स्टार्टअप्स के बढ़ते ईकोसिस्टम के भीतर माइक्रोसॉफ्ट एज्यूमर क्लाउड- प्लेटफॉर्म को अपनाने को बढ़ावा देगा।

  3. जियो अगली पीढ़ी की गणना, स्टोरेज और नेटवर्किंग क्षमताओं से युक्त भारत भर के स्थानों में डेटा सेंटर  स्थापित करेगा, और जियो की ऑफरिंग का समर्थन करने के लिए माइक्रोसॉफ्ट जियो ऑफरिंग्स का समर्थन करने के लिए अपने एज्यूर प्लेटफॉर्म को लागू करेगा। शुरुआत में दो डेटासेंटर स्थापित किए जाएंगे जिनमें 7.5 मेगावाट बिजली की खपत करने वाले आईटी उपकरणों को स्थापित किया जाएगा। इन पहले दो डेटा सेंटर्स को गुजरात और महाराष्ट्र राज्यों में स्थापित किए जा रहा है। इन्हें कैलेंडर वर्ष 2020में पूरी तरह से चालू करने का लक्ष्य रखा गया है।

  4. Jio

     

    जियो माइक्रोसॉफ्ट एज्यूर क्लाउड प्लेटफॉर्म का लाभ उठाएगा ताकि भारतीय व्यवसायों की आवश्यकताओं पर केंद्रित अभिनव क्लाउड समाधान विकसित किया जा सके। इन जियो द्वारा विकसित समाधानों के माध्यम से:

     

    > भारतीय स्टार्टअप के पास कुशल और किफायती क्लाउड इंफ्रास्ट्रक्चर और प्लेटफॉर्म सेवाओं तक पहुंच होगी, जिससे वे इनोवेटिव उत्पादों और सेवाओं को तेजी से और अधिक लागत प्रभावी ढंग से विकसित कर सकेंगे।

     

    > भारत में छोटे और मझोले व्यवसायों में माइक्रोसॉफ्ट 365 सहित क्लाउड-आधारित उत्पादकता, सहयोग और व्यावसायिक अनुप्रयोगों की पहुंच होगी, जिससे वे भारतीय बाजार में अधिक प्रभावी रूप से प्रतिस्पर्धा कर सकेंगे।

     

    > बड़ी कंपनियाँ नए जियो समाधानों का लाभ उठाकर अपने स्वयं के डिजिटल परिवर्तनों में तेजी लाने में सक्षम होंगी जो कई बड़े उद्यमों के भीतर आज पहले से ही उपयोग किए जा रहे माइक्रोसॉफ्ट ऑफरिंग्स के साथ काम कर सकते हैं।

     

    > भारत में साझीदार ईकोसिस्टम के पास अपने ग्राहकों की अनूठी जरूरतों को पूरा करने के लिए जियो के नए ऑफर्स का लाभ उठाने और अपने व्यवसायों को तेजी से विकसित करने का अवसर होगा।

  5. जियो और माइक्रोसॉफ्ट भारतीय ग्राहकों के लिए कम्प्यूटर विजन सॉल्यूशन पर भी काम करेंगे। इसके लिए माइक्रोसॉफ्ट भारतीय भाषाओं और बोलियों के लिए सॉल्यूशन डेवलप का सपोर्ट देगी, जिससे इंडियन सोसायटी के सभी वर्ग टेक्नोलॉजी को अपनाने में आसानी हो।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना