टोक्यो / जापान में 83 साल की महिला प्रोग्रामिंग सीखकर मोबाइल एप बना रहीं, दो साल पहले वीडियो गेम भी बना चुकी हैं

X

  • 60 साल की उम्र में अकेलेपन को दूर करने के लिए कंप्यूटर खरीदा था

Mar 25, 2019, 12:14 PM IST

गैजेट डेस्क. सीखने और सिखाने की उम्र नहीं होती। जापान की मसाका वाकामिया ने 60 साल की उम्र में पहला कंप्यूटर खरीदा। अब वह 83 साल की उम्र में मोबाइल एप बना रही हैं। वाकामिया के मुताबिक यह ऐप उन लोगों के लिए उपयोगी होगा, जो जापानी भाषा पढ़ना-लिखना जानते हैं, लेकिन अंग्रेजी नहीं समझ पाते।

 

वाकामिया ने दो साल पहले एक मोबाइल गेम भी बनाया था। वह कहती हैं, 'मैं अकेले रहती हूं। इसलिए मेरा पूरा फोकस प्रोग्रामिंग पर है। आज इंटरनेट पर ज्यादातर चीजें अंग्रेजी में हैं। हमारी पीढ़ी के लोग अंग्रेजी ठीक से नहीं समझ पाते। मैं चाहती हूं कि सभी बुजुर्ग टेक्नोलॉजी का फायदा उठाएं। वे टेक्नोलॉजी के जरिए नए-नए लोगों से जुड़ सकते हैं। इससे उनका अकेलापन दूर होगा।

 

cs

 

वे अपने हुनर को सामने ला सकते हैं। जिंदगी की सुबह और शाम दोनों ही खुशी के साथ जीने के लिए है।' दरअसल जापान को 'सुपर एज्ड नेशन' कहा जाता है। सरकारी रिकॉर्ड के मुताबिक यहां हर चार में से एक व्यक्ति 65 साल से अधिक उम्र का है।

 

वाकामिया ने अपने घर में कंप्यूटर सेंटर भी खोल रखा है। वह यहां अपनी उम्र के लोगों को कंप्यूटर सिखाती हैं। वाकामिया कहती हैं, 'मैं तब बहुत खुश हुई, जब लोगों, खासकर नई पीढ़ी ने मेरे विचारों का गर्मजोशी से स्वागत किया। मैं हमेशा क्रिएटिव रहना चाहती हूं। यह भी चाहती हूं कि आज के बच्चे भी क्रिएटिव रहें।' 

 

साल 2017 में एपल के सीईओ टिम से मिलीं 
वाकामिया ने 2017 में सैन फ्रांसिस्को में एपल के सीईओ टिम कुक से मुलाकात की थी। उन्होंने एपल पर भाषाई दिक्कतों के बारे में टिम कुक को सलाह भी दी थी। वह संयुक्त राष्ट्र में भाषण भी दे चुकी हैं।

 

g

 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना