ट्राई / 10 से 15 दिसंबर तक भारत में बंद रहेगी MNP सेवा, 16 दिसंबर के बाद ऑपरेटर चेंज कराने में में लगेंगे दो से तीन दिन

फोटो क्रेडिट- ट्विटर फोटो क्रेडिट- ट्विटर
X
फोटो क्रेडिट- ट्विटरफोटो क्रेडिट- ट्विटर

  • 9 दिसंबर शाम 6 बजे से पहले एमएनपी कराने वाले यूजर्स की रिक्वेस्ट पुराने नियमों के तहत पूरी की जाएगी
  • वर्तमान नियमों के तहत ऑपरेटर चेंज कराने में लगभग एक हफ्ते का समय लगता है

Dainik Bhaskar

Dec 04, 2019, 06:42 PM IST
गैजेट डेस्क. मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी सर्विस भारतीय यूजर्स के बीच काफी पॉपुलर है। इसे सर्विस में यूजर को बिना मोबाइल नंबर चेंज किए अपना टेलीकॉम ऑपरेटर बदलने की सुविधा मिलती है। अगर यूजर अपना ऑपरेटर बदलना चाहता है तो पहले इसके मोबाइल पर यूनिक पोर्टिंग कोड (यूपीसी) जनरेट होता है, जिसके बाद पूरी प्रक्रिया होने में काफी लंबा समय लगता है। वर्तमान में मौजूदा ऑपरेटर से किसी अन्य ऑपरेटर में नंबर पोर्ट कराने में यूजर को एक हफ्ते या उससे ज्यादा समय तक इंतजार करना पड़ता था। इसी समस्या से निपटने के लिए टेलीकॉम रेग्युलेटरी ऑथोरिटी ऑफ इंडिया (ट्राई) मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी के नियमों में बदलाव करने जा रही है। जिसके तहत इस सेवा को 10 दिसंबर से 15 दिसंबर तक बंद रखा जाएगा। इस दौरान नए नियमों की टेस्टिंग की जाएगी।

16 दिसंबर से लागू होंगे नए नियम

    • मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी से जु़ड़े नए नियम 16 दिसंबर रात 12 बजे से लागू होंगे। नए नियम लागू होने के कुछ दिन पहले मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी सर्विस को पूरी तरह रोक दिया जाएगा।
    • ट्राई के मुताबिक 9 दिसंबर 5:59PM से पहले अप्लाई करने वाले यूजर्स की रिक्वेस्ट मौजूदा नियमों के मुताबिक पूरी की जाएगी।
    • इसके बाद 16 दिसंबर रात 12 बजे तक नई रिक्वेस्ट सबमिट नहीं की जाएगी। यानी 6 दिन नई मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी की सेवा पूरी तरह से बंद रहेगी।
    • ट्राई का कहना है कि टेस्टिंग के प्रॉसेस में इतना समय इसलिए लिया गया है ताकि नए नियम लागू होने के बाद किसी प्रकार की समस्या का सामना न करना पड़े।
    • नए नियमों के लागू होने बाद ग्राहकों को एक ऑपरेटर से दूसरे ऑपरेटर में नंबर पोर्ट कराने में काफी सहूलियत होगी।

  1. नए नियम आने से क्या होगा फायदा

    16 दिसंबर से लागू होने वाले नए नियमों के बाद आम यूजर्स को नंबर एमएनपी कराने में काफी सहूलियत होगी। नए नियमों के बाद नंबर पोर्ट होने में सिर्फ दो से तीन दिन का ही समय लगेगा।

  2. दूसरे सर्कल का नंबर पोर्ट होने में लगेंगे 5 दिन

    यूजर अगर इंटर सर्कल नंबर पोर्ट कराना चाहता है तो उसे इस पूरी प्रक्रिया के लिए कम से कम 5 दिन का इंतजार करना पड़ेगा। पहले ये नियम 11 नवंबर से लागू होने वाले थे, जिसे किसी कारण से टाल दिया था।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना