एनालिसिस /नए वनप्लस में मिल सकती है 12GB रैम और 30 वॉट का चार्जर, फोन में इतनी रैम की जरूरत क्यों?



oneplus 7 pro is most powerful smartphone of 2019
X
oneplus 7 pro is most powerful smartphone of 2019

  • आज भारत, यूके और न्यू यॉर्क में साथ लॉन्च होंगे वनप्लस 7 और 7 प्रो
  • पहली बार डेटा ट्रांसफर के लिए UFS 3.0 स्टोरेज सिस्टम मिल सकता है

Dainik Bhaskar

May 14, 2019, 05:16 PM IST

गैजेट डेस्क. चीन की कंपनी वनप्लस लंबे इंतजार के बाद मंगलवार रात अपने दो नए स्मार्टफोन वनप्लस 7 और वनप्लस 7 प्रो लॉन्च किए हैं। महीनेभर पहले से इन दोनों स्मार्टफोन की चर्चा टेक इंडस्ट्री में हो रही है। गो बियॉन्ड स्पीड की थीम पर  इस बार स्मार्टफोन में डिस्प्ले, पॉप अप कैमरा और प्रोसेसर सहित कई फीचर्स नए दिए गए हैं। कंपनी ने अपना सफर 2014 में वनप्लस वन से शुरू किया था, जो 6 साल के बाद वनप्लस 7 तक पहुंच गया है। इस कंपनी ने हमेशा यूजर्स की जरूरत को देखकर फोन डिजाइन किए हैं। 

 

OnePlus 7 की कीमत  32,999 से शुरु है।  फोन के साथ 5,990 रुपए कीमत का ईयरफोन भी दिया जा रहा है। 16 मई से दोनों फोन के अलग अलग कलर और स्टोरेज वेरियंट मिलने शुरू हो जाएंगे।  

 

 

वन प्लस के लाइव लॉन्चिंग इवेंट की झलकियां यहां देखें

 

 

OnePlus 7 और OnePlus 7 प्रो के फीचर

 

प्रोसेसर- नए फ्लैगशिप स्मार्टफोन में 8 कोर वाला क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 855 नैनोमीटर चिपसेट दिया गया है, जिसे 855 को एड्रेनो 640 जीपीयू ग्राफिक्स से लैस किया गया है। इस बार वन प्लस स्मार्टफोन को बेहतर बेजललैस डिस्प्ले के साथ पेश किया गया है।

 

रैम- शानदार हाईस्पीड प्रोसेसर के अलावा वनप्लस 7 प्रो में 12GB रैम दी गई है। रैम बढ़ने की वजह से स्मार्टफोन में हेवी ऐप रोम मेमोरी की बजाय रैम मेमोरी में लोड हो सकेंगे और इस वजह से फोन की परफॉरमेंस तेज और स्मूथ होगी। 

 

बैटरी और स्पीकर- प्रो वर्जन को 4000 एमएएच वाली दमदार बैटरी से लैस किया गया है। वनप्लस 7 में 3700 एमएएच की बैटरी मौजूद है। फोन में डोलबी एटमॉस के 3 डी साउंड वाले डुअल स्पीकर भी दिए गए हैं।

 

कैमरा- OnePlus 7 Pro में 48 मेगा पिक्सल के सेंसर के साथ ट्रिपल कैमरा सिस्टम दिया गया है। इसमें ऑप्टिकल इमेज स्टेबलाइजेशन भी मौजूद है। हालांकि सिस्टम में से एक कैमरा अल्ट्रा-वाइड या टेलीफोटो कैमरा के बजाय एक डेप्थ सेंसर है। कैमरा अल्ट्राशॉट फीचर्स एचडीआर प्लस और सुपर रिज़ॉल्यूशन मोड से लैस है। OnePlus 7 में ड्यूल कैमरा सिस्टम मौजूद है।

 

सेल्फी कैमरे के लिए दोनों फोन में एक 16 मेगापिक्सल का शूटर है, यह 1080p का वीडियो रिकॉर्ड कर सकता है। कैमरा 4K / 60fps (फ्रेम प्रति सेकेंड) का वीडियो कैप्चर करने के साथ-साथ 1080p / 240fps और 720p / 480fps स्लो मोशन मोड की सुविधा देता है।  

 

स्टोरेज- स्टोरेज को भी बढ़ाया गया है और प्रो वर्जन को नए यूएफएस 3.0 स्टैंडर्ड पर 128GB और 256GB स्टोरेज क्षमता के साथ लॉन्च किया गया है। दोनों ही फोन में 6 GB और 8 जीबी रैम वाले वैरिएंट मौजूद हैं जबकि वनप्लस 7 प्रो में एक 12 GB का वर्जन भी पेश किया गया है।

 

कीमत- भारतीय बाजार में वनप्लस 7 की कीमत 32,999 रुपए और प्रो वर्जन की कीमत 48,999 रुपए से शुरु है। OnePlus7 का दाम 32,999 रुपए (6GB +128GB) और 37,999 रुपए (8GB+256GB) होगा जबकि OnePlus7Pro के तीन वेरिएंट की कीमत 48,999 रुपए (6GB+128GB), 52,999 (8GB+256GB) रुपए और Rs 57,999 (12GB+256GB) रुपए होगी।

  • आखिर इतनी रैम की जरूरत क्यों?

    आखिर इतनी रैम की जरूरत क्यों?

    स्मार्टफोन में रैम (RAM : रेंडम एक्सेस मेमोरी) जैसा हार्डवेयर तेजी से बढ़ रहा है। 2 साल पहले तक जहां 2GB से 3GB रैम को बहुत माना था, वो अब 8GB से 10GB के फिगर पर पहुंच गई है, लेकिन आपने कभी सोचा है कि फोन में ज्यादा रैम की जरूतर क्यों होती है?

     

    दरअसल, जब हम फोन में कोई काम करते हैं तो वो अस्थाई तौर पर फोन में सुरक्षित होता जाता है। जैसे, आप कोई गेम खेलें, मूवी देखें, चैटिंग करें, गाने सुनें या ऐसा कोई भी दूसका काम करें। इन सभी की कुछ अस्थाई फाइलें रैम में सेव होती जाती हैं। यदि फोन की रैम कम होगी तब वो हैंग होने लगेगा या फिर उसकी स्पीड स्लो हो जाएगी।

  • 12GB रैम से क्या फायदा?

    12GB रैम से क्या फायदा?

    फोन में रैम कितनी होनी चाहिए, ये फोन के इस्तेमाल पर भी डिपेंड है। अभी वीवो एपेक्स 2019, टूरिंग फोन और लेनोवो जेड5 प्रो जीटी में 12GB रैम मिल रही है, लेकिन ये फोन भारत में लॉन्च नहीं हुए हैं। अब मान लेते हैं कि वनप्लस के नए फोन में 12GB रैम मिलने वाली है, तब सोचिए कि इतनी रैम से क्या होगा? इस बात को 3 प्वाइंट से समझिए।

     

    1. सीमित स्टोरेज : अब जो फोन लॉन्च हो रहे हैं उनमें 512GB तक स्टोरेज मिल जाता है, लेकिन कंपनियां इन फोन में माइक्रो SD कार्ड लगाने का ऑप्शन नहीं देतीं। इसकी वजह फोन के डेटा की सेफ्टी है। दरअसल, आईफोन में मेमोरी स्लॉट नहीं होता है। इस बारे में कंपनी के सीईओ टिम कुक ने बताया है कि यूजर्स के डेटा सेफ्टी के लिए हमनें आईफोन में मेमोरी बढ़ाने का ऑप्शन नहीं दिया है। ये बात भी सही है एंड्रॉयड फोन की तुलना में आईफोन सुरक्षित माने जाते हैं। ऐसे में अब कई कंपनियां फोन से मेमोरी स्लॉट को हटाकर ऑनबोर्ड ज्यादा स्टोरेज दे रही हैं। अब स्टोरेज ज्यादा होगा तो रैम भी ज्यादा देनी पड़ेगी।
    2. पावरफुल कैमरा : वनप्लस में ट्रिपल रियर कैमरा मिलेगा, ये बात कंपनी के टीजर से तय हो चुकी है। कैमरा लेंस किस कंपनी और अपर्चर के होंगे, ये देखना बाकी है। बीते एक साल में लगभग सभी कंपनियों ने फोन में मिलने वाले कैमरा को काफी अपग्रेड किया है। सिंगल रियर कैमरा अब डुअल, ट्रिपल यहां तक की चार कैमरे में बदल चुका है। ये कैमरे इतने पावरफुल होते हैं कि एक फोटो का साइज 10MB तक हो जाता है। वहीं, इनसे हाई क्वालिटी 4K रिकॉर्डिंग भी होती है। यानी 1 मिनट की रिकॉर्डिंग फोन में 500MB से 1GB तक स्पेस ले लेती है। ऐसे में यदि रैम कम हुई तब कैमरा का रिस्पॉन्स भी स्लो हो जाता है।
    3. हाई ग्राफिक्स गेम्स : स्मार्टफोन के लिए हाई ग्राफिक्स गेम्स आने लगे हैं। इनका साइज 1GB से 2GB या उससे भी ज्यादा होता है। इन गेम्स में हाई ग्राफिक्स, रेजोल्यूशन, साउंड इफेक्ट्स होते हैं। इसके साथ, इन्हें ऑनलाइन कई लोगों के साथ खेला जाता है। ऐसे में यदि फोन में रैम कम हुई तब वो हैंग करेगा और बैटरी भी गर्म होगी। इस वजह से वनप्लस में 12GB रैम मिल सकती है।

  • वनप्लस में ये भी खास

    वनप्लस में ये भी खास

    वनप्लस में 4000mAh की बैटरी और 30 वॉट का चार्जर मिलने वाला है। 30 वॉट के चार्जर से फोन को महज 1 घंटे में फुल चार्ज किया जा सकेगा। इतना ही नहीं, 30 मिनट की चार्जिंग में ये 80 प्रतिशत चार्ज हो जाएगा। इसके साथ, इसमें UFS 3.0 स्टोरेज सिस्टम भी मिल सकता है। यदि ऐसा होता है तब इस स्पीड से डेटा ट्रांसफर करने वाला ये भारत का पहला फोन भी होगा। UFS 2.1 के मुकाबले UFS 3.0 दोगुना तेजी से डेटा ट्रांसफर करने में सक्षम है। ये डेटा ट्रांसफर की स्पीड बढ़ाकर 11.6Gbps से 23.2Gbps तक कर देता है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना