• Hindi News
  • Tech auto
  • Tech
  • OnePlus smartphone users are struggling with the problem of rapid battery down, say WhatsApp is the main reason

रिपोर्ट / तेजी से बैटरी खत्म होने की समस्या से जूझ रहे वनप्लस यूजर्स, बोलें- वॉट्सऐप इसकी मुख्य वजह

OnePlus smartphone users are struggling with the problem of rapid battery down, say - WhatsApp is the main reason
X
OnePlus smartphone users are struggling with the problem of rapid battery down, say - WhatsApp is the main reason

दैनिक भास्कर

Nov 11, 2019, 01:40 PM IST

गैजेट डेस्क. एंड्रॉयड 9 और 10 ऑपरेटिंग सिस्टम पर चलने वाले वनप्लस स्मार्टफोन में इन दिनों तेजी से बैटरी डाउन होने की समस्या सामने आ रही है। इसकी मुख्य वजह वॉट्सऐप को माना जा रहा है। रिपोर्ट के मुताबिक इंस्टेंट मैसेजिंग ऐप वॉट्सऐप के लेटेस्ट वर्जन 2.19.308 की वजह से वनप्लस स्मार्टफोन की बैटरी तेजी से कम हो रही है, भले ही यूजर्स वॉट्सऐप का इस्तेमाल सीमित समय के लिए कर रहे हो।

सिर्फ एंड्रॉयड 9 और 10 ओएस डिवाइस में हो रही समस्या

शनिवार को जारी हुई एंड्रॉयड सेंट्रल की रिपोर्ट के मुताबिक वनप्लस स्मार्टफोन यूजर्स ने इसकी जानकारी रेडिट, वनप्लस फोरम यहां तक की गूगल प्ले स्टोर तक को दी। रिपोर्ट में वनप्लस फोन इस्तेमाल करने वाले यूजर्स का कहना है कि वॉट्सऐप की वजह से उनके फोन की बैटरी 40% या उससे ज्यादा प्रतिशत तक कम हो रही है।

गौर करने वाली बात यह है कि इसमें सिर्फ वह वनप्लस स्मार्टफोन यूजर्स शामिल है, जिनके फोन एंड्रॉयड 9 या एंड्रॉयड 10 ऑपरेटिंग सिस्टम पर चल रहे हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक, ऐसा नहीं कि सभी वॉट्सऐप इस्तेमाल करने वाले सभी वनप्लस स्मार्टफोन यूजर्स इस समस्या से जूझ रहे हैं, लेकिन फिर भी इस समस्या से परेशान लोगों की संख्या काफी ज्यादा है। कुछ समय पहले श्याओमी यूजर्स भी इसी तरह समस्या को लेकर रिपोर्ट कर चुके हैं।

पिछले महीने ही वनपल्स 6T और वनप्लस 6 के लिए गूगल के लेटेस्ट एंड्रॉयड 10 ऑपरेटिंग सिस्टम का अपडेट किया गया। जो यूजर्स इन हैंडसेट को यूज कर रहे हैं वो अब नए ओएस से इन्हें अपडेट कर सकते हैं। नए अपडेट में यूजर्सको प्राइवेसी, डार्क मोड, लाइव कैप्शन, फोकस मोड और लोकेशन शेयर जैसे लेटेस्ट फीचर्स की सुविधा मिली है।

प्राइवेसी : सबसे ज्यादा फोकस गूगल ने यूजर की प्राइवेसी पर किया है। नए ऑपरेटिंग सिस्टम एंड्रॉयड 10 में यूजर को प्राइवेसी का एक अलग सेक्शन मिलेगा। इस फीचर से यूजर स्मार्टफोन में इंस्टॉल ऐप को अपनी जरूरत के हिसाब से परमिशन दे सकेगा या ब्लॉक भी कर सकेगा।

 

डार्क मोड : कुछ कंपनियां रात में स्मार्टफोन यूज करने वाले यूजर को डार्क मोड का ऑप्शन दे रही है, जिससे उनकी आंखों पर कोई बुरा असर न पड़े। गूगल ने भी अपने नए एंड्रॉयड 10 ऑपरेटिंग सिस्टम में डार्क मोड का ऑप्शन दिया है। हालांकि स्मार्टफोन में डार्क मोड का ऑप्शन देने वाली कंपनी काफी सीमित है।

 

चैट एक्सपीरियंस : हममें से ज्यादातर स्मार्टफोन यूजर्स फोन के चैट करना पसंद करते हैं। यूजर को चैटिंग का बेहतर एक्सपीरियंस देने के लिए कई अपडेट किए हैं। नए ऑपरेटिंग सिस्टम एंड्रॉयड 10 में मैसेज और चैट बिल्कुल वैसे ही दिखेंगे जैसे फेसबुक मैसेंजर चैट बबल्स की तरह दिखते हैं। यूजर ऐप में जाए बगैर रिप्लाई कर सकेगा।

 

लाइव कैप्शन : जिन यूजर्स को सुनने में परेशानी होती है उनके लिय लाइव कैप्शन का फीचर काफी काम आएगा। इस फीचर का यूज करने पर प्ले हो रही मीडिया फाइल में कैफ्शन आने लगेंगे। नए ओएस एंड्रॉयड 10 में लाइव कैप्शन का फीचर वीडियो, ऑडियो, पॉडकास्ट मैसेज के लिए काम करेगा।

 

वाई-फाई नेटवर्क : गूगल के इस नए ऑपरेटिंग सिस्टम एंड्रॉयड 10 में यूजर्स वाई-फाई नेटवर्क आसानी से शेयर कर सकेंगे। यूजर्स आपस में स्मार्टफोन से QR कोड स्कैन कर वाई-फाई नेटवर्क से जुड़ जाएंगे।

 

स्क्रीनशॉट : गूगल के इस नए ऑपरेटिंग सिस्टम एंड्रॉयड 10 ने स्क्रीनशॉट लेना काफी आसान कर दिया है। इस नए ओएस के साथ यूजर्स को नॉच सपोर्ट मिलेगा।

 

अनडू ऐप रिमूवल : नए ऑपरेटिंग सिस्टम एंड्रॉयड 10 में अगर यूजर गलती से अपनी पसंदीदा ऐप को अनस्टॉल कर देता है, तो कुछ समय के लिए ऐप को अनडू कर रिइंस्टॉल करने का ऑप्शन मिलेगा। इस फीचर के इस्तेमाल से यूजर को वापस प्ले स्टोर में जाकर ऐप को दोबारा इंस्टॉल नहीं करना पडे़गा।

 

फोकस मोड : बार बार गैरजरूरी नोटिफिकेशन आने से परेशान होने वाले यूजर्स का भी गूगल ने खास ख्याल रखा है। नए ऑपरेटिंग सिस्टम एंड्रॉयड 10 में यूजर्स को फोकस मोड का ऑप्शन मिलेगा। इस फीचर को ऑन करने पर आप कुछ ऐप के नोटिफिकेशन को ऑफ कर सकेंगे। उसके बाद यूजर के पास सिर्फ जरूरी कॉन्टैक्ट के ही नोटिफिकेशन मिलेंगे।

 

लोकेशन शेयर : नए ऑपरेटिंग सिस्टम एंड्रॉयड 10 में यूजर्स अपनी जरूरत के मुताबिक मोबाइल ऐप को लोकेशन शेयर करने की परमिशन दे सकेंगे। फिलहाल एंड्रॉयड डिवाइस में लोकेशन शेयर करने के लिए दो तरह के ऑप्शन मिलते हैं। यूजर को या तो ऐप की लोकेशन परमिशन को ऑफ करना पड़ता है या ऑन करना पड़ता है।

 

नोटिफिकेशन : गूगल के नए ऑपरेटिंग सिस्टम एंड्रॉयड 10 में यूजर होम स्क्रीन से ही नोटिफिकेशन को कंट्रोल कर पाएंगे। यूजर को नोटिफिकेशन पर लॉन्ग प्रेस करना होगा जिसके बाद उन्हें दो ऑप्शन मिलेंगे 'show silently' और 'keep alerting'। इन दो ऑप्शन के इस्तेमाल से यूजर संबंधित ऐप के नोटिफिकेशन को आसानी से कंट्रोल कर सकेंगे।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना