खतरा / चार्जर, कीबोर्ड जैसे उपकरण भी कर सकते हैं लैपटॉप को हैक



peripherals can hack laptop and mobile- tech advice by tech expert balendu sharma dadhich
X
peripherals can hack laptop and mobile- tech advice by tech expert balendu sharma dadhich

Dainik Bhaskar

Mar 24, 2019, 04:45 PM IST

गैजेट डेस्क. कुछ साल पहले आयकर विभाग के एक रिटायर्ड अधिकारी ने एक इंटरव्यू के दौरान क्लाउड कंप्यूटिंग व मोबाइल सिक्योरिटी पर कुछ 'भोलीभाली' बातें कही थीं, जैसे यह कि क्लाउड कंप्यूटिंग तभी सफल होती है जब आसमान में अच्छे बादल हों। उन्होंने एक टिप्पणी यह भी की थी कि अमेरिका में जब किसी का मोबाइल फोन खराब हो जाता है तो कुछ लोग अच्छी-खासी कीमत देकर उसे खरीदने के लिए तैयार हो जाते हैं। भले ही आप अपने मोबाइल फोन से सिम, एसडी कार्ड आदि निकाल भी लें, उसे कई बार रिसेट भी कर दें तब भी ये लोग उसके लिए काफी पैसा देने को तैयार हो जाते हैं। इसके पीछे इन सज्जन ने तर्क यह दिया था कि मोबाइल फोन का डेटा असल में बैटरी में चला जाता है और उसे खरीदने वाले बैटरी से डेटा निकालकर उसका दुरुपयोग कर लेते हैं। 

 

यह बयान मजेदार था और अविश्वसनीय भी। रिटायर्ड अधिकारी की आईटी की समझ वास्तव में बहुत ज्यादा सीमित थी, यह साफ था। लेकिन उन्होंने बैटरी वाली जो बात एक तुक्के के रूप में कही थी, वह अब तीर में तब्दील हो गई है। पश्चिमी देशों में हुए कुछ अध्ययनों ने सतर्क किया है कि आप अपने मोबाइल फोन, लैपटॉप आदि के साथ जिन दूसरे उपकरणों (पेरिफेरल्स) को कनेक्ट करते हैं, उनका इस्तेमाल आपके डेटा की चोरी और मोबाइल-लैपटॉप को हाईजैक करने के लिए किया जा सकता है। इन पेरिफेरल्स में बैटरी तो नहीं, लेकिन लैपटॉप चार्जर, मोबाइल चार्जर, प्रोजेक्टर, की-बोर्ड, माउस, मॉनिटर, ग्राफिक कार्ड, नेटवर्क कार्ड, डॉकिंग स्टेशन या ऐसी ही दूसरी चीजें भी हो सकती हैं। यह डरा देने वाली कल्पना है क्योंकि पेन ड्राइव से लेकर मॉनिटर तक का इस्तेमाल तो हम रोजाना ही करते हैं। 
 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना