विज्ञापन

किलर रोबोट / सैनिकों की जगह रोबोट लड़ेंगे युद्ध, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से तैयार हो रही नई सेना

Dainik Bhaskar

Mar 25, 2019, 04:19 PM IST


russian army claims that it has bulit an army of killer robot
russian army claims that it has bulit an army of killer robot
russian army claims that it has bulit an army of killer robot
russian army claims that it has bulit an army of killer robot
russian army claims that it has bulit an army of killer robot
X
russian army claims that it has bulit an army of killer robot
russian army claims that it has bulit an army of killer robot
russian army claims that it has bulit an army of killer robot
russian army claims that it has bulit an army of killer robot
russian army claims that it has bulit an army of killer robot
  • comment

  • रशियन आर्मी सेल्फ ड्रायविंग टैंक और ड्रोन की कर रही टेस्टिंग
  • रोबोटिक सिस्टम पर 600 करोड़ का निवेश करेगी ब्रिटिश आर्मी

गैजेट डेस्क. आने वाले समय में जंग के मैदान में सैनिकों की जगह रोबोट लड़ते दिखाई देंगे। रूस ने इसकी तैयारी शुरू कर दी है। हाल ही में जारी हुए एक वीडियो में जिसमें रशिया आर्मी को आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस बेस्ड ड्रायवरलेस टैंक और रिमोट कंट्रोल्ड ड्रोन की टेस्टिंग करते हुए देखा गया है। 

 

आसमान में रहकर सीमा की चौकसी करेगी मिनी ड्रोन

  1. रशियन आर्मी के इस वीडियो को Kremlin ने जारी किया है। जिसमें रशिया की लेटेस्ट ड्रोन टेक्नोलॉजी को देखा जा सकता है। साथ ही इसमें एआई कंट्रोल्ड ड्राइवरलेस टैंक भी है, जो सैनिक की राइफल के अनुसार अपना निशाना साध रहा है।

  2. रशियन एडवांस्ड रिसर्च फाउंडेशन (एआरएफ) का कहना है कि हमारा लक्ष्य एक ऐसी रोबोट आर्मी को तैयार करना है, जो पूरी तरह से आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस तकनीक पर आधारित हो। फिलहाल ड्रोन को रिमोट कंट्रोल से नियंत्रित किया जा रहा है लेकिन भविष्य में इसे फुली ऑटोनोमस बनाया जाएगा।

  3. विश्व के शक्तिशाली देश बड़े स्तर पर ऑटोनोमस और रिमोट कंट्रोल्ड व्हीकल को बनाने पर काम कर रहे हैं। इसका सीधा सा मतलब यह है कि भविष्य के मिलिट्री हार्डवेयर बिना किसी इंसानी हस्तक्षेप के दुश्मनों को ढूंढकर उन्हें मार गिराएंगे।

  4. पिछले महीने ही ब्रिटिश आर्मी ने दावा किया कि वो 200 मिनी ड्रोन बनाने पर काम कर रही है जो आकार में इंसानों के हाथ से भी छोटा है। यह युद्धस्थल पर आसमान में तैनात रहकर सैनिकों को खतरें की चेकावनी देगा।

  5. दिखने में यह मिनी ड्रोन काली मक्खी की तरह होगा जो मुश्किल हालातों में भी आसानी से काम करेगा जहां फिलहाल सैनिकों को तैनात होना पड़ता है। डिफेंस मिनिस्ट्री रोबोटिक सिस्टम पर लगभग 600 करोड़ रुपए का निवेश कर रही है।

  6. पिछले महीने आयोजित हुए एक इवेंट में जमा हुए दुनियाभर से आए वैज्ञानिकों ने शिरकत की। यहां एक्सपर्ट्स ने दावा किया है यह जानवेला रोबोट्स मानवजाति के लिए खतरा है। इन्हें जल्द से जल्द बैन करना चाहिए।

COMMENT
Astrology
Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन