स्टडी / सार्थक बातचीत बढ़ाने के लिए फेसबुक न्यूजफीड में किए गए बदलावों से हुआ उल्टा असर, यूजर्स के एंग्री रिएक्शन में हुई बढ़ोतरी



study says Facebook users have become angrier and more divided since last year's major changes in newsfeed
X
study says Facebook users have become angrier and more divided since last year's major changes in newsfeed

Dainik Bhaskar

Mar 19, 2019, 06:03 PM IST

गैजेट डेस्क. बातचीत को बेहतर और ज्यादा अर्थपूर्ण बनाने के लिए फेसबुक ने पिछले साल प्लेटफॉर्म के न्यूज फीड में बदलाव किया था। लेकिन एक साल में ही इस बदलाव का उलटा असर हुआ है। सोशल मीडिया एगेंजमेंट ट्रैकिंग फर्म न्यूजव्हिप की एक स्टडी में यह जानकारी सामने आई है।

 

फेसबुक ने जनवरी, 2018 में घोषणा की थी कि वे प्लेटफॉर्म की न्यूज फीड एल्गोरिदम में कुछ बड़े बदलाव कर रहे हैं। जिसके बाद से न्यूज फीड में मीडिया संस्थानों और व्यापारों से जुड़ी पोस्ट्स से पहले परिवार और दोस्तों की पोस्ट्स को जगह मिलेगी। स्टडी में दावा किया गया है कि इस बदलाव के बाद से यूजर्स ने साइट पर पहले से ज्यादा गुस्सैल प्रतिक्रिया (एंग्री रिएक्शन) दिया है।
 

''

 

एल्गोरिदम में बदलाव किए हुए अभी सिर्फ एक साल हुआ है। स्टडी के दौरान रिसर्चर्स ने देखा कि फेसबुक पर इस बदलाव के बाद से किस तरह का कंटेट शेयर किया गया और उस कंटेट पर कैसे रिएक्शन आए। इसके बाद उन्होंने इसकी तुलना पिछले सालों से की।

 

बदलाव की घोषणा करते समय फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने कहा था, 'हम आशा करते हैं कि हमारे बदलावों से यूजर्स को निजी पल देखने को मिलेंगे, जिससे हम एक दूसरे के साथ ज्यादा जुड़ सकेंगे। हम लोगों से ज्यादा जुड़ाव महसूस कर पाएंगे और हमारे जीवन का अकेलापन कम होगा। यह हमारी खुशी और सेहत पर काफी अच्छा प्रभाव डालेगा।' लेकिन स्टडी में देखा गया कि फेसबुक पर डर, बांटने वाली राजनीतिक पोस्ट्स और गुस्से से भरी पोस्ट ज्यादा शेयर की गई।

 

राजनीतिक पोस्ट सबसे ज्यादा शेयर

न्यूजव्हिप ने अपनी स्टडी में सबसे ज्यादा शेयर किए गए विषयों को लिस्ट किया है। स्टडी के अनुसार हर 100 पोस्ट्स में से सबसे ज्यादा 36 पोस्ट राजनीतिक होती है। वहीं अर्थशास्त्र की सबसे कम 6 पोस्ट होती है। सॉफ्ट सब्जेक्ट से जुड़ी पोस्ट की संख्या 100 में से केवल 17 होती हैं।

लिस्ट में शामिल अन्य विषयों में हार्ड/जनरल विषय की 8 पोस्ट, विज्ञान की 10 और मौत से संबंधित 11 पोस्ट शेयर की गई। स्टडी के अनुसार यूजर्स ने राजनीतिक स्टोरी पर ज्यादा एंग्री रिएक्शन दिए। 

 

''

 

गर्भपात से संबंधित पोस्ट पर सबसे ज्यादा कमेंट  
बीते एक वर्ष की सबसे ज्यादा कमेंट वाली पोस्ट सीबीएन.कॉम की थी जिसे 10 लाख से ज्यादा कमेंट मिले थे। इसका विषय न्यूयॉर्क में गर्भपात को लीगल करने से जुड़ा था। साल की सबसे ज्यादा शेयर की गई खबर का विषय मानव तस्करी से जुड़ा था। प्लेटफॉर्म पर बहुत ज्यादा शेयर किया गया एक विषय 'मोमो गेम' था, जो डर की भावना को बढ़ा रहा था। स्टडी में देखा गया कि सबसे ज्यादा शेयर या कमेंट की गई स्टोरी यूजर्स को गुस्सा दिलाने या बांटनेवाली थी। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना