ऑनलाइन फूड /डिलीवरी करने वाली कंपनियों की पेशकश, अब रेस्टोरेंट नहीं 'क्लाउड किचन' का खाना ऑर्डर कर सकेंगे



Uber founder takes aim at South Korea shared kitchen market
X
Uber founder takes aim at South Korea shared kitchen market

  • ऑनलाइन फूड कंपनियां क्लाउड किचन में निवेश के लिए आम लोगों को भी ऑफर दे रहीं

Dainik Bhaskar

Jul 11, 2019, 10:05 AM IST

नई दिल्ली. रेस्टोरेंट या होटल के लजीज खाने की घर-घर तक डिलीवरी पहुंचाने वाली ऑनलाइन फूड कंपनियां अब खुद ही फूड कुकिंग बिजनेस के कारेाबार में उतर गई हैं। अपने ऑनलाइन प्लेटफार्म पर वे दूसरे रेस्टोरेंट के बजाय खुद के क्लाउड किचन में बने सस्ते खाने को प्रमोट कर रही हैं। इसके लिए वे छोटे शहरों तक लीज पर क्लाउड किचिन खोल रही हैं। कंपनियों की इस पेशकश से नए उद्यमियों को मौका मिल रहा है लेकिन मौजूदा रेस्टोरेंट्स पर संकट खड़ा हो गया है। उनके लिए लागत के मामले में ऑनलाइन कंपनियों से मुकाबला करना मुश्किल साबित हो रहा है।

 

ऑनलाइन फूड डिलीवरी कंपनी जोमैटो लोगों को किचन खोलने के लिए जमीन उपलब्ध कराने पर दो से चार लाख रुपए प्रतिमाह का कमाने का ऑफर दे रही है। कंपनी ने अपनी वेबसाइट पर बताया है कि करीब दो से तीन हजार वर्गफीट जमीन और 35 लाख रुपए के निवेश से हर महीने निश्चित आय हो सकती है। इसमें सिर्फ किचन का निर्माण करके जोमैटो को देना होगा। ठीक इसी तरह का ऑफर उबर ईट्स भी दे रही है। हालांकि ऑफर अभी भारत के बजाय दूसरे देशों दक्षिण कोरिया, अमेरिका और यूरोपीय देशों में मिल रहा हैं। 

  • स्विगी की घर के बने खाने की डिलीवरी

    स्विगी ने एक कदम आगे बढ़ते हुए घर के बने खाने की डिलीवरी शुरू की है। 'स्विगी डेली' एप के जरिए घरेलू रसोइयों द्वारा तैयार किया गया घर का खाना व टिफिन सेवा गुरुग्राम में उपलब्ध है। स्विगी के मुख्य कार्यकारी श्रीहर्ष मजेती ने कहा कि आने वाले महीनों में मुंबई और बेंगलुरू में भी सेवा शुरू होगी। स्विगी के के ऑफर को देखते हुए जोमैटो भी टिफिन सर्विस शुरू करने की कोशिश कर रहा है।

  • 2023 तक ऑनलाइन फूड डिलीवरी कारोबार 1.1 लाख करोड़ का होगा

    कंसल्टेंसी फर्म मार्केट रिसर्च फ्यूचर की रिपोर्ट के मुताबिक भारत में ऑनलाइन फूड डिलीवरी मार्केट साल 2023 तक सालाना 1.1 लाख करोड़ रुपए का हो जाएगा। शहरों में कामकाजी आबादी में महिलाओं की बढ़ती संख्या इसकी वजह है। ऑनलाइन कारोबार को 2023 तक 16.2% की वार्षिक ग्रोथ रेट मिल सकती है। दिलचस्प बात यह है 95 प्रतिशत लोग ऑफर और छूट तो 84 प्रतिशत समय की बचत व ट्रैफिक की परेशानियों से बचने के लिए ऑनलाइन खाना ऑर्डर करते हैं।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना