एनालिसिस / 19 साल में 0.35MP से 50MP का हो गया फोन को कैमरा, अब लोग स्मार्टफोन में ले रहे प्रोफेशनल फोटोग्राफी का मजा



why companies gives more and more camera in smartphone, know complete analysis with pros and cons
why companies gives more and more camera in smartphone, know complete analysis with pros and cons
why companies gives more and more camera in smartphone, know complete analysis with pros and cons
why companies gives more and more camera in smartphone, know complete analysis with pros and cons
why companies gives more and more camera in smartphone, know complete analysis with pros and cons
why companies gives more and more camera in smartphone, know complete analysis with pros and cons
X
why companies gives more and more camera in smartphone, know complete analysis with pros and cons
why companies gives more and more camera in smartphone, know complete analysis with pros and cons
why companies gives more and more camera in smartphone, know complete analysis with pros and cons
why companies gives more and more camera in smartphone, know complete analysis with pros and cons
why companies gives more and more camera in smartphone, know complete analysis with pros and cons
why companies gives more and more camera in smartphone, know complete analysis with pros and cons

  • रिपोर्ट के मुताबिक 2010 से 2017 के बीच प्रोफेशनल कैमरों की सेल्स में 28% की गिरावट आई
  • 89% भारतीय ग्राहक फोन खरीदते वक्त कैमरे जबकि 72% स्टोरेज को देते हैं प्राथमिकता

Dainik Bhaskar

Apr 16, 2019, 11:21 AM IST

गैजेट डेस्क. इन दिनों भारत में यूनिक कैमरा सेटअप से लैस स्मार्टफोन का काफी क्रेज देखने को मिल रहा है। ग्राहकों को कुछ अलग और यूनिक देने के लिए स्मार्टफोन कंपनियों ने 48 मेगापिक्सल सेंसर तक के कैमरे मोबाइल फोन में दे डाले जो पहले सिर्फ डिजिटल और प्रोफेशनल कैमरों में ही देखने को मिलते थे। हाल ही में सैमसंग ने अपने नए स्मार्टफोन A80 में ट्रिपल रोटेटिंग कैमरा सेटअप दिया हो जो फ्रंट और रियर कैमरे दोनों का ही काम करेगा तो हुवावे और वीवो जैसी कंपनियों में अपने स्मार्टफोन में 32 मेगापिक्सल का सेल्फी कैमरा दिए हैं।

 

IBM ने लॉन्च किया था पहला स्मार्टफोन

 

1994 में आईबीएम ने दुनिया का पहला कॉमर्शियल स्मार्टफोन  'साइमन पर्सनल कम्प्यूनिकेटर' लॉन्च किया। इसमें कॉलिंग करने के अलावा फैक्स और ई-मेल भेज जाता सकता था। फोन में कैलकुलेटर, नोटपैड और टचस्क्रीन की सुविधा भी थी हालांकि फिर भी फोन ज्यादा दिन तक मार्केट में अपनी पैठ नहीं बना और 1995 में इसका प्रोडक्शन बंद कर दिया गया था। साल 2000 में सैमसंग ने पहला कैमरे वाला फोन बनाया। इसमें फोटोग्राफी के लिए सिर्फ 0.35 मेगापिक्सल का कैमरा दिया गया था। लेकिन तब किसी ने सोचा भी नहीं होगा कि आने वाले समय में स्मार्टफोन में ही प्रोफेशनल कैमरों को मजा लिया जा सकेगा। तो जानिए क्या है वाकई ज्यादा मेगापिक्सल के कैमरे हमारे काम के है या यह सिर्फ कंपनियों की नई सेल्स स्ट्रेटजी है...

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना