विज्ञापन

एनालिसिस / 19 साल में 0.35MP से 50MP का हो गया फोन को कैमरा, अब लोग स्मार्टफोन में ले रहे प्रोफेशनल फोटोग्राफी का मजा

Dainik Bhaskar

Apr 16, 2019, 11:21 AM IST


why companies gives more and more camera in smartphone, know complete analysis with pros and cons
why companies gives more and more camera in smartphone, know complete analysis with pros and cons
why companies gives more and more camera in smartphone, know complete analysis with pros and cons
why companies gives more and more camera in smartphone, know complete analysis with pros and cons
why companies gives more and more camera in smartphone, know complete analysis with pros and cons
why companies gives more and more camera in smartphone, know complete analysis with pros and cons
X
why companies gives more and more camera in smartphone, know complete analysis with pros and cons
why companies gives more and more camera in smartphone, know complete analysis with pros and cons
why companies gives more and more camera in smartphone, know complete analysis with pros and cons
why companies gives more and more camera in smartphone, know complete analysis with pros and cons
why companies gives more and more camera in smartphone, know complete analysis with pros and cons
why companies gives more and more camera in smartphone, know complete analysis with pros and cons
  • comment

  • रिपोर्ट के मुताबिक 2010 से 2017 के बीच प्रोफेशनल कैमरों की सेल्स में 28% की गिरावट आई
  • 89% भारतीय ग्राहक फोन खरीदते वक्त कैमरे जबकि 72% स्टोरेज को देते हैं प्राथमिकता

गैजेट डेस्क. इन दिनों भारत में यूनिक कैमरा सेटअप से लैस स्मार्टफोन का काफी क्रेज देखने को मिल रहा है। ग्राहकों को कुछ अलग और यूनिक देने के लिए स्मार्टफोन कंपनियों ने 48 मेगापिक्सल सेंसर तक के कैमरे मोबाइल फोन में दे डाले जो पहले सिर्फ डिजिटल और प्रोफेशनल कैमरों में ही देखने को मिलते थे। हाल ही में सैमसंग ने अपने नए स्मार्टफोन A80 में ट्रिपल रोटेटिंग कैमरा सेटअप दिया हो जो फ्रंट और रियर कैमरे दोनों का ही काम करेगा तो हुवावे और वीवो जैसी कंपनियों में अपने स्मार्टफोन में 32 मेगापिक्सल का सेल्फी कैमरा दिए हैं।

 

IBM ने लॉन्च किया था पहला स्मार्टफोन

 

1994 में आईबीएम ने दुनिया का पहला कॉमर्शियल स्मार्टफोन  'साइमन पर्सनल कम्प्यूनिकेटर' लॉन्च किया। इसमें कॉलिंग करने के अलावा फैक्स और ई-मेल भेज जाता सकता था। फोन में कैलकुलेटर, नोटपैड और टचस्क्रीन की सुविधा भी थी हालांकि फिर भी फोन ज्यादा दिन तक मार्केट में अपनी पैठ नहीं बना और 1995 में इसका प्रोडक्शन बंद कर दिया गया था। साल 2000 में सैमसंग ने पहला कैमरे वाला फोन बनाया। इसमें फोटोग्राफी के लिए सिर्फ 0.35 मेगापिक्सल का कैमरा दिया गया था। लेकिन तब किसी ने सोचा भी नहीं होगा कि आने वाले समय में स्मार्टफोन में ही प्रोफेशनल कैमरों को मजा लिया जा सकेगा। तो जानिए क्या है वाकई ज्यादा मेगापिक्सल के कैमरे हमारे काम के है या यह सिर्फ कंपनियों की नई सेल्स स्ट्रेटजी है...

साल 2000 में सैमसंग ने उतारा था कैमरे से लैस पहला स्मार्टफोन

  1. इतने सारे कैमरे क्यों?

    इस समय लगभग सभी स्मार्टफोन कंपनियों में ज्यादा पावर वाले कैमरे से लैस स्मार्टफोन देने की होड़ लगी है। कंपनी ग्राहकों के रुझानों को देखते हुए फोन के कैमरों में लगातार बदलाव कर रही है। कई रिपोर्ट में भी सामने आ चुका है कि ग्राहक फोन के कैमरे की और ज्यादा आकर्षित होते हैं।

     

    इस मौके को कैश करने में कंपनियां भी कोई कसर नहीं छोड़ रही है। फोन में प्रोफेशनल कैमरों जैसी क्वालिटी देने के लिए कंपनियां कई सारे कैमरे फोन में दे रही है। यह सभी कैमरे अलग अलग काम करते हैं जो संयुकित रूप से फोटो की क्वालिटी को बढ़ा देते हैं।

     

    अब अलावा यह तथ्य भी है कि प्रोफेशनल कैमरों को चलाने के लिए ट्रेनिंग की आवश्यकता होती है इस हर कोई नहीं चला सकता, लेकिन स्मार्टफोन से फोटोग्राफी करने के लिए कोई खास मशक्कत नहीं करनी पड़ती, इसे आसानी से कोई भी चला सकता है साथ ही इसे साथ लेकर सफर करना भी आसान है।

  2. क्या कैमरे के कारण स्मार्टफोन की कीमत ज्यादा?

    यह कहना पूरी तरह से सही नहीं होगा की किसी स्मार्टफोन की कीमत उसमें मौजूद कैमरों की संख्या पर निर्भर होती है। उदाहरण के तौर पर एपल के आईफोन में सिर्फ एक ही कैमरा आता है बावजूद इसके आईफोन की कीमत काफी ज्यादा होती है। इससे यह कहा जा सकता है कि फोन की कीमत ब्रांड पर निर्भर करती है न कि कैमरों की संख्या पर।

     

    वहीं एक तथ्य यह भी है कि लोगों की कैमरे के प्रति रुझान को कैश करने के लिए कई कंपनियां एक ही फोन के कई वैरिएंट बाजार में उतारती है, जो डिजाइन, फीचर्स, प्रोसेसर, कनेक्टिविटी, सेंसर और बैटरी में लगभग एक जैसे ही होते हैं लेकिन कैमरों में अंतर देकर कंपनियां ग्राहकों से ज्यादा पैसे वसूलती है।

     

    उदाहरण के तौर पर सैमसंग गैलेक्सी M20 और M30 के 4 जीबी रैम और 64 जीबी स्टोरेज की बात की जाए तो दोनों में रैम, स्टोरेज, डिस्प्ले साइज, बैटरी, प्रोसेसर, ऑपरेटिंग सिस्टम लगभग एक जैसा ही है लेकिन कैमरा सेटअप में अंदर होने की वजह से दोनों की कीमत में लगभग दो हजार रुपए का अंजर आ गया है।

  3. क्या है ग्राहकों की पसंद?

    साइबर मीडिया रिसर्च (CMR) ने हाल ही में एक रिपोर्ट जारी कि जिसमें यह सामने आया कि 89% ग्राहक स्मार्टफोन खरीदते वक्त कैमरा को प्राथमिकता देते हैं जबकि 79% ग्राहक स्मार्टफोन की रैम, 87% ग्राहक फोन की बैटरी और 72% ग्राहक फोन की स्टोरेज को प्राथमिकता देते हैं।

     

    रिपोर्ट में यह बात भी सामने आई कि स्मार्टफोन खरीदते समय ग्राहक ब्रांड के साथ एक्सपेरिमेंट करना पसंद करते हैं, वो किसी एक ब्रांड के साथ लंबे समय तक टिके रहना पसंद नहीं करते।

  4. क्या DSLR या प्रोफेशनल कैमरों को खतरा?

    स्मार्टफोन में बेहतर कैमरा आने के कारण अब लोग प्रोफेशनल कैमरे खरीदने के कतरा रहे हैं या यह भी कहा जा सकता है कि इन फोटोग्राफी बेस्ड फोन ने DSLR या प्रोफेशनल कैमरों के लिय संकट खड़ा कर दिया है।

     

    जापान की कैमरा एंड इमेंजिंग प्रोडक्ट्स एसोसिएशन (CIPA) ने जारी की एक रिपोर्ट के मुताबिक साल 2010 में प्रोफेशनल कैमरों की सेल्स 12 करोड़ थी जो साल 2017 के आते आते सिर्फ 2.5 करोड़ रह गई। देखा जाए तो स्मार्टफोन के बढ़ते चलन से प्रोफेशनल कैमरों की बिक्री में 28% की गिरावट आई है।

इनोवेशन कैमरा ?

  1. सैमसंग गैलेक्सी A80

    a

     

    • सैमसंग ने थाईलैंड में हुए एक इवेंट में अपने इस यूनिक ट्रिपल रोटेटिंग कैमरा सेटअप वाले स्मार्टफोन को लॉन्च किया है। इसके भारत में भी लॉन्च होने की पूरी संभावना है क्योंकि भारत में कैमरा फोन को काफी तवज्जो दिया जाता है।  इसके कैमरा सेटअप को देखकर यह कहा जा सकता है कि फोन को खासतौर पर फोटोग्राफी के लिए डिजाइन किया है।
    • कंपनी ने एक स्लाइडर पर ट्रिपल कैमरा सेटअप फिक्स किया है जिसमें 48 मोगापिक्सल का प्राइमरी कैमरा, अल्ट्रा वाइड एंगल से लैस 8 मेगापिक्सल का सेकेंडरी कैमरा और 3D डेप्थ कैमरा सबसे खास बात यह है कि इस फोन से हाई रेजोल्यूशन रियर फोटो और वीडियो बनाए जा सकते हैं। भारत में इसकी कीमत 40 से 50 हजार रुपए तक हो सकती है।

  2. वीवो V15 प्रो

    s

     

    • चीनी कंपनी वीवो ने भी वीवी V15 प्रो को खासतौर पर फोटोग्राफी लवर्स के लिए डिजाइन किया है। कंपनी ने इसके रियर में ट्रिपल कैमरा सेटअप दिया है। फोन के रियर में 48 मेगापिक्सल का प्राइमरी कैमरा, 8 मेगापिक्सल का सेकेंडरी कैमरा और 5 मेगापिक्सल का तीसरा कैमरा है।
    • फोन को नॉच फ्री बनाने के लिए कंपनी ने इसके फ्रंट में पॉप अप सेल्फी कैमरा दिया है जो की 32 मेगापिक्सल का है। सेल्फी मोड में आते ही यह पॉपअप कैमरा फोन से बाहर आता है और काम हो जाने पर अपने आप अंदर भी हो जाता है। भारत में इस फोन की कीमत 23,990 रुपए है।

  3. हुवावे P30 प्रो

    s

     

    • हुवावे ने भी भारत में सबसे महंगे स्मार्टफोन को भारत में लॉन्च कर दिया है। इसमें चार रियर कैमरे हैं। कंपनी ने इसमें टॉप स्पेसिफिकेशन दिए हैं। बात चाहें डिस्प्ले  की हो या परफॉर्मेंस की, यह किसी भी मामले में निराश नहीं करेगा।
    • फोन में 40 मेगापिक्सल का प्राइमरी कैमरा, 20 मेगापिक्सल का सेकेंडरी कैमरा, 8 मेगापिक्सल का तीसरा कैमरा और चौथा ToF कैमरा 3D फोटो को कैप्चर करता है। सेल्फी लवर्स के लिए फोन में 32 मेगापिक्सल को सेल्फी कैमरा है जो हाई डेफिनेशन फोटो और वीडियो को सपोर्ट करता है। इसकी कीमत 71,990 रुपए है।

  4. नोकिया 9 प्योरव्यू

    x

     

    • नोकिया ने पिछले महीने हुई मोबाइल वर्ल्ड कांग्रेस में नोकिया 9 प्योरव्यू स्मार्टफोन से पर्दा उठाया था। यह दुनिया का पहला फोन जो पांच कैमरों से लैस है। फोन में 12 मेगापिक्सल के कुल 5 कैमरे हैं। इसके तीन कैमरे मोनोक्रोम और दो RGB सेंसर पर काम करते हैं, इसमें 3D ToF कैमरा भी है। इसका रियर कैमरा 4K वीडियो रिकॉर्डिंग करता है।
    • सेल्फी के लिए फोन में 20 मेगापिक्सल का कैमरा है, इसमें ट्रेटा पिक्सल बिनिंग टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया गया है। इसमें कम रोशनी में फोटो लेने पर चार पिक्सल मिलकर एक पिक्सल में तब्दील हो जाते हैं जिससे फोटो की डिटेलिंग अच्छी आती है। फिलहाल ये भारत में लॉन्च नहीं हुआ है लेकिन भारत में इसकी कीमत 50 हजार रुपए तक हो सकती है।

COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543
विज्ञापन