विज्ञापन

चीन / पहली बार 3000 किमी दूर बैठे डॉक्टर ने 5जी नेटवर्क की मदद से दिमाग की सफल सर्जरी की

Dainik Bhaskar

Mar 19, 2019, 11:03 AM IST


World first remote brain surgery via 5G network done in China
X
World first remote brain surgery via 5G network done in China
  • comment

  • चीन की राजधानी बीजिंग में 5जी टेक्नोलॉजी के जरिए रोबाटिक सर्जरी की गई 

गैजेट डेस्क. चीन में एक डॉक्टर ने 3,000 किलोमीटर दूर बैठकर पर्किंसन से ग्रस्त मरीज के दिमाग की सर्जरी की। रोबोट की मदद से की गई इस सर्जरी में 5जी मोबाइल नेटवर्क का इस्तेमाल किया गया। चीनी मीडिया का दावा है कि दुनिया में इस तरह से पहली बार सर्जरी हुई है।

5जी नेटवर्क की अहम भूमिका रही

  1. मरीज बीजिंग के एक हॉस्पिटल में भर्ती था। वहीं, सर्जरी करने वाले डॉक्टर लिंग झिपेई करीब 3,000 किमी दूर हेनान प्रांत के सान्या शहर में मौजूद थे। डॉक्टर झिपेई ने सान्या से ही रोबोट और मशीनों को नियंत्रित किया। एक मोबाइल एप की मदद से उन्होंने यह सर्जरी पूरी की।

  2. इस मामले में 5जी नेटवर्क की अहम भूमिका रही, क्योंकि इंटरनेट की सही स्पीड होने से ही रियल टाइम ऑपरेशन संभव हो सका।

  3. पीपुल लिबरेशन आर्मी में सर्जन डॉ. झिपेई ने बताया कि 5जी टेक्नोलॉजी ने 4जी में आने वाली वीडियो लैग और रिमोट कंट्रोल डिले जैसी मुश्किलों को दूर कर दिया। इससे दिमाग में इंप्लांट आसानी से हो सका। सर्जरी के बाद मरीज ने कहा कि उसे अच्छा महसूस हो रहा है। 

  4. यह सर्जरी शनिवार को करीब 3 घंटे तक चली। इस दौरान मरीज के दिमाग में इलेक्ट्रोड लगाए गए। डॉ. झिपेई के मुताबिक इस टेक्नोलॉजी से दूर-दराज के इलाकों में जाए बिना आसानी से सर्जरी की जा सकेगी। वहीं मरीजों को भी बड़े शहरों में जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

  5. पर्किंसन रोग दिमाग की नर्व को नुकसान पहुंचने पर होता है। दिमाग से जाने वाले सिग्नल अनियंत्रित हो जाते हैं। इससे मांसपेशियों में कठोरता और झटके भी आते हैं। दुनियाभर में 1 करोड़ से ज्यादा लोग इस समस्या से ग्रस्त हैं। दिमाग में प्रत्यारोपण के बाद मरीज अपनी गतिविधियों को नियंत्रित कर सकता है, इसके साथ ही मांसपेशियों का कामकाज भी सामान्य हो जाता है। 

  6. दूर-दराज के मरीजों को अब बड़े शहरों में नहीं आना पड़ेगा

    डॉ. झिपेई ने उम्मीद जताई कि 5जी टेक्नोलॉजी की मदद से जल्द ही हम दूर स्थित कई सारे हॉस्पिटलों में ऑपरेशन कर सकेंगे। इससे मरीजों को स्थानीय हॉस्पिटलों में ही बेहतर इलाज मिल सकेगा।

COMMENT
Astrology
Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन