Follow us

Amitabh Bachchan (अमिताभ बच्चन) Hindi News

Last Updated: April 19 2018, 20:30 PM

एंग्री यंगमैन, शहंशाह, मेगास्टार, बिग बी, सदी के महानायक, स्टार ऑफ द मिनेनियम और ना जाने ऐसे ही कितने नामों से जाने जाते हैं अमिताभ बच्चन। अमिताभ बच्चन का जन्म 11 अक्टूबर को साल 1942 में हुआ था। 4 नेशनल फिल्म अवॉर्ड, 15 फिल्मफेयर अवॉर्ड, पद्म श्री, पद्म भूषण और पद्म विभूषण जैसे प्रतिष्ठित पुरस्कारों से सम्मानित अमिताभ बच्चन हिंदी सिनेमा की सबसे लोकप्रिय हस्ती हैं और विश्वभर में भी जबरदस्त फैन फॉलोइंग है। उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में मशहूर कवि हरिवंशराय बच्चन के घर जन्मे अमिताभ का नाम पहले इंकलाब था जो भारतीय स्वतंत्रा संग्राम के दौरान प्रयोग किए गए इंकलाब जिंदाबाद से लिया गया था। हालांकि बाद में उनके पिता ने अपने दोस्त और मशहूर कवि रहे सुमित्रानंदन पंत के कहने पर नाम बदल दिया। अमिताभ बच्चन यानि बिग बी की मां का नाम तेजी बच्चन था। उन्हें थियेटर में काफी दिलचस्पी थी। अमिताभ की मां तेजी को कई फिल्मों में एक्टिंग का ऑफर भी मिला लेकिन गृहस्थी संभालने के लिए उन्होंने एक्टिंग करने से मना कर दिया। नैनीताल के शेरवुड कॉलेज से पढ़ाई करने के बाद अमिताभ बच्चन ने दिल्ली यूनिवर्सिटी के किरोड़ीमल कॉलेज से विज्ञान में ग्रेजुएशन की। इसके बाद उन्होंने इलाहाबाद के ज्ञान प्रबोधनी और ब्वॉय हाई स्कूल से मास्टर ऑफ आर्ट्स की डिग्री ली। वॉइस नरेटर के रूप में करियर की शुरुआत अमिताभ बच्चन ने अपने करियर की शुरुआत मृणाल सेन की फिल्म भुवन शोम से की थी जिसके लिए अमिताभ वॉइस नेरेटर बने थे। इस फिल्म को नेशनल अवॉर्ड भी मिला था। इसके बाद अमिताभ बच्चन ने एक्टिंग के फील्ड में कदम रखे। एक एक्टर के तौर पर उनकी पहली फिल्म थी सात हिंदुस्तानी। इसके बाद अमिताभ बच्चन ने आनंद, रेश्मा और शेरा, गुड्डी, बॉम्बे टू गोवा और परवाना जैसी फिल्में कीं। अमिताभ की ये सभी फिल्में करियर के शुरुआती दौर में आईं जब वो हिंदी सिनेमा में अपनी जगह बनाने में लगे थे। 70 के दशक में अमिताभ को स्टारडम मिला। यह वो दौर था जब उन्होंने जंजीर, अभिमान, नमक हराम, दीवार, शोले, कभी कभी, अमर अकबर एंथोनी, परवरिश, खून पसीना, मुकद्दर का सिकंदर, मिस्टर नटवरलाल, काला पत्थर सिलसिला जैसी अनगिनत फिल्में कीं। अमिताभ बच्चन ने राखी से लेकर जीनत अमान, परवीन बाबी, जया भादुड़ी, रीना रॉय और रेखा जैसी कई हीरोइनों के साथ काम किया और उन सभी के साथ अमिताभ की जोड़ी को खूब पसंद किया गया। अमिताभ और रेखा की जोड़ी तो आज भी दर्शकों के दिल में रची-बसी है। इस जोड़ी ने दर्जनभर से भी ज्यादा फिल्में एक साथ कीं, जो ब्लॉकबस्टर रहीं। लेकिन 80 का दौर अमिताभ बच्चन पर भारी पड़ गया। साल 1982 में अमिताभ को फिल्म कुली के सेट पर पेट में गहरी चोट लगी जिससे उनकी जान पर बन आई। अमिताभ ठीक तो हो गए लेकिन आज भी यदा कदा उस चोट का दर्द उभर आता है। 1992 में अमिताभ बच्चन ने कुछ सालों के लिए एक्टिंग से ब्रेक ले लिया। इस दौरान उन्होंने प्रोडक्शन में हाथ आजमाया और अमिताभ बच्चन कॉरपोरेशन लिमिटेड के नाम से अपना प्रोडक्शन हाउस खोला, लेकिन इस प्रोडक्शन बैनर के तले बनी ज्यादातर फिल्में नहीं चलीं। अपने प्रोडक्शन के बैनर तले बनी फिल्म मृत्युदाता के जरिए अमिताभ ने फिर से एक्टिंग में वापसी करने की कोशिश की लेकिन नाकामयाबी हाथ लगी। उनका प्रोडक्शन हाउस भी आर्थिक रूप से कमजोर पड़ गया। आखिरकार साल 2000 में अमिताभ बच्चन ने टीवी का रूख किया। मशहूर रिएलिटी टीवी शो कौन बनेगा करोड़पति उनका सहारा बना। ना सिर्फ इसके जरिए अमिताभ अपना करियर रिवाइव करने में कामयाब रहे बल्कि उनका फिल्मी करियर भी ट्रैक पर लौट आया। आज बॉलीवुड में अमिताभ को पांच दशक होने को आए हैं, लेकिन कोई भी ऐसा एक्टर नहीं हुआ है जो उन्हें मेगास्टार की गद्दी से हिला पाए।

एंग्री यंगमैन, शहंशाह, मेगास्टार, बिग बी, सदी के महानायक, स्टार ऑफ द मिनेनियम और ना जाने ऐसे ही कितने नामों से जाने जाते हैं अमिताभ बच्चन। अमिताभ बच्चन का जन्म 11 अक्टूबर को साल 1942 में हुआ था। 4 नेशनल फिल्म अवॉर्ड, 15 फिल्मफेयर अवॉर्ड, पद्म श्री, पद्म भूषण और पद्म विभूषण जैसे प्रतिष्ठित पुरस्कारों से सम्मानित अमिताभ बच्चन हिंदी सिनेमा की सबसे लोकप्रिय हस्ती हैं और विश्वभर में भी जबरदस्त फैन फॉलोइंग है। उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में मशहूर कवि हरिवंशराय बच्चन के घर जन्मे अमिताभ का नाम पहले इंकलाब था जो भारतीय स्वतंत्रा संग्राम के दौरान प्रयोग किए गए इंकलाब जिंदाबाद से लिया गया था। हालांकि बाद में उनके पिता ने अपने दोस्त और मशहूर कवि रहे सुमित्रानंदन पंत के कहने पर नाम बदल दिया। अमिताभ बच्चन यानि बिग बी की मां का नाम तेजी बच्चन था। उन्हें थियेटर में काफी दिलचस्पी थी। अमिताभ की मां तेजी को कई फिल्मों में एक्टिंग का ऑफर भी मिला लेकिन गृहस्थी संभालने के लिए उन्होंने एक्टिंग करने से मना कर दिया। नैनीताल के शेरवुड कॉलेज से पढ़ाई करने के बाद अमिताभ बच्चन ने दिल्ली यूनिवर्सिटी के किरोड़ीमल कॉलेज से विज्ञान में ग्रेजुएशन की। इसके बाद उन्होंने इलाहाबाद के ज्ञान प्रबोधनी और ब्वॉय हाई स्कूल से मास्टर ऑफ आर्ट्स की डिग्री ली। वॉइस नरेटर के रूप में करियर की शुरुआत अमिताभ बच्चन ने अपने करियर की शुरुआत मृणाल सेन की फिल्म भुवन शोम से की थी जिसके लिए अमिताभ वॉइस नेरेटर बने थे। इस फिल्म को नेशनल अवॉर्ड भी मिला था। इसके बाद अमिताभ बच्चन ने एक्टिंग के फील्ड में कदम रखे। एक एक्टर के तौर पर उनकी पहली फिल्म थी सात हिंदुस्तानी। इसके बाद अमिताभ बच्चन ने आनंद, रेश्मा और शेरा, गुड्डी, बॉम्बे टू गोवा और परवाना जैसी फिल्में कीं। अमिताभ की ये सभी फिल्में करियर के शुरुआती दौर में आईं जब वो हिंदी सिनेमा में अपनी जगह बनाने में लगे थे। 70 के दशक में अमिताभ को स्टारडम मिला। यह वो दौर था जब उन्होंने जंजीर, अभिमान, नमक हराम, दीवार, शोले, कभी कभी, अमर अकबर एंथोनी, परवरिश, खून पसीना, मुकद्दर का सिकंदर, मिस्टर नटवरलाल, काला पत्थर सिलसिला जैसी अनगिनत फिल्में कीं। अमिताभ बच्चन ने राखी से लेकर जीनत अमान, परवीन बाबी, जया भादुड़ी, रीना रॉय और रेखा जैसी कई हीरोइनों के साथ काम किया और उन सभी के साथ अमिताभ की जोड़ी को खूब पसंद किया गया। अमिताभ और रेखा की जोड़ी तो आज भी दर्शकों के दिल में रची-बसी है। इस जोड़ी ने दर्जनभर से भी ज्यादा फिल्में एक साथ कीं, जो ब्लॉकबस्टर रहीं। लेकिन 80 का दौर अमिताभ बच्चन पर भारी पड़ गया। साल 1982 में अमिताभ को फिल्म कुली के सेट पर पेट में गहरी चोट लगी जिससे उनकी जान पर बन आई। अमिताभ ठीक तो हो गए लेकिन आज भी यदा कदा उस चोट का दर्द उभर आता है। 1992 में अमिताभ बच्चन ने कुछ सालों के लिए एक्टिंग से ब्रेक ले लिया। इस दौरान उन्होंने प्रोडक्शन में हाथ आजमाया और अमिताभ बच्चन कॉरपोरेशन लिमिटेड के नाम से अपना प्रोडक्शन हाउस खोला, लेकिन इस प्रोडक्शन बैनर के तले बनी ज्यादातर फिल्में नहीं चलीं। अपने प्रोडक्शन के बैनर तले बनी फिल्म मृत्युदाता के जरिए अमिताभ ने फिर से एक्टिंग में वापसी करने की कोशिश की लेकिन नाकामयाबी हाथ लगी। उनका प्रोडक्शन हाउस भी आर्थिक रूप से कमजोर पड़ गया। आखिरकार साल 2000 में अमिताभ बच्चन ने टीवी का रूख किया। मशहूर रिएलिटी टीवी शो कौन बनेगा करोड़पति उनका सहारा बना। ना सिर्फ इसके जरिए अमिताभ अपना करियर रिवाइव करने में कामयाब रहे बल्कि उनका फिल्मी करियर भी ट्रैक पर लौट आया। आज बॉलीवुड में अमिताभ को पांच दशक होने को आए हैं, लेकिन कोई भी ऐसा एक्टर नहीं हुआ है जो उन्हें मेगास्टार की गद्दी से हिला पाए।

मुंबई. अमिताभ बच्चन ने कठुआ गैंगरेप मामले में अपनी नाराजगी व्यक्त की है।...

Share Story :