एक छोटी सी बच्ची ने माँ से पूछा, मां, धरती किसने बनाई? मां ने जवाब दिया, ब्रह्म ने, बच्ची ने फिर पूछा ब्रह्म को किसने बनाया? मां के पास कोई जवाब नहीं था

DainikBhaskar | December 13, 2018 11:28 AM IST

भानुमति नरसिम्हन रिलिजन डेस्क. एक छोटी सी बच्ची ने माँ से पूछा, "अम्मा, धरती किसने बनाई?" माँ ने जवाब दिया, "ब्रह्म ने।" "और ब्रह्म को किसने बनाया?" माँ के पास कोई जवाब न था। "जल्दी करो, स्कूल के लिए देर हो

1937- आज ही के दिन चीन और जापान के बीच

DainikBhaskar | December 13, 2018 05:10 AM IST

1937- आज ही के दिन चीन और जापान के बीच नानजिंग युद्ध शुरू हुआ था। यह युद्ध 1945 तक चला। इसमें जापान की जीत हुई थी। युद्ध के बाद चीन में भारी नरसंहार हुआ था। इसके पहले चीन और जापान

81 साल पहले चीन- जापान में नानजिंग युद्ध शुरू हुआ था, इसमें जापान की जीत हुई थी

DainikBhaskar | December 13, 2018 02:31 AM IST

1937- आज ही के दिन चीन और जापान के बीच नानजिंग युद्ध शुरू हुआ था। यह युद्ध 1945 तक चला। इसमें जापान की जीत हुई थी। युद्ध के बाद चीन में भारी नरसंहार हुआ था। इसके पहले चीन और जापान

जापान की दृष्टिहीन कंप्यूटर साइंटिस्ट ने ऐसा एप बनाया जिसकी मदद से बिल्डिंग के भीतर दृष्टिहीन आसानी से चल-फिर सकेंगे

DainikBhaskar | December 11, 2018 02:26 AM IST

जापान की चिएको असाकावा इन दिनों आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) के जरिए दृष्टिहीनों का जीवन बदलने की कोशिश कर रही हैं। उन्होंने नव-कॉग नाम से एप बनाया है। यह आवाज से कंट्रोल होने वाला स्मार्टफोन एप है। इसकी मदद से दृष्टिहीन

जापान की दृष्टिहीन कम्प्यूटर साइंटिस्ट ने ऐसा एप बनाया जिसकी मदद से बिल्डिंग के भीतर दृष्टिहीन आसानी से चल-फिर सकेंगे

DainikBhaskar | December 10, 2018 06:02 AM IST

जापान की चिएको असाकावा इन दिनों आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) के जरिए दृष्टिहीनों का जीवन बदलने की कोशिश कर रही हैं। उन्होंने नव-कॉग नाम से एप बनाया है। यह आवाज से कंट्रोल होने वाला स्मार्टफोन एप है। इसकी मदद से दृष्टिहीन

सर्दी शुरू होते ही जापान के ग्रेट कामोरेंट पक्षियों का झुंड शिवपुरी आने लगा

DainikBhaskar | December 10, 2018 03:50 AM IST

शिवपुरी| सर्दी के मौसम शुरु होते ही ठंडे प्रदेशों से पक्षियों का आना शुरु हो गया है। इस क्रम में सबसे पहले चांदपाठा झील के किनारे में ग्रेट कामोरेंट पक्षियों के एक झुंड ने डेरा डाल लिया है । पहचान:

जापान की दृष्टिहीन कंप्यूटर साइंटिस्ट ने ऐसा एप बनाया जिसकी मदद से बिल्डिंग के भीतर दृष्टिहीन आसानी से चल-फिर सकेंगे

DainikBhaskar | December 10, 2018 03:40 AM IST

जापान की चिएको असाकावा इन दिनों आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) के जरिए दृष्टिहीनों का जीवन बदलने की कोशिश कर रही हैं। उन्होंने नव-कॉग नाम से एप बनाया है। यह आवाज से कंट्रोल होने वाला स्मार्टफोन एप है। इसकी मदद से दृष्टिहीन

जापान / 14 साल में आंखों की रोशनी चली गई थी, दृष्टिहीनों के लिए बनाया आवाज से चलने वाला ऐप

DainikBhaskar | December 09, 2018 11:59 AM IST

टोक्यो. जापान में डॉ. चीको असाकावा की आंखों की रोशनी 14 साल की उम्र में चली गई थी। लेकिन वे बीते 30 साल से दृष्टिहीनों के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) तैयार करने में जुटी हैं। वे आवाज से चलने वाला