कल्पेश याग्निक का कॉलम: हिन्दुस्तान में क्यों नहीं है सदर-ए-ताउम्र रहने की ख़ौफनाक ख्वाहिश पर रोक?

DainikBhaskar | March 24, 2018 05:37 AM IST

‘सत्ता उस आग की तरह है जो जलती है तो जलती रहती है - बुझी कि फिर जलना बहुत मुश्किल।’ - अज्ञात

कल्पेश याग्निक का कॉलम: हिन्दुस्तान में क्यों नहीं है सदर-ए-ताउम्र रहने की ख़ौफनाक ख्वाहिश पर रोक?

DainikBhaskar | March 24, 2018 01:57 AM IST

दुनिया में ये एक अजीब-सी होड़ मच गई है। कायदे तोड़ो। नए कायदे गढ़ो। अपनी तरह के कायद-ए-आज़म बनने की दौड़।