--Advertisement--

साइकिल पर खेल रहा था 11 साल का बच्चा, ट्रक के टायरों के नीचे आने से मौत

- भीड़ और ट्रक यूनियन वालों में पथराव, चार ट्रकों, एक गाड़ी व यूनियन के आॅफिस के शीशे टूटे

Dainik Bhaskar

Jun 09, 2018, 06:31 AM IST
हादसे के बाद तोड़फोड़ होने से क्षतिग्रस्त ट्रक। हादसे के बाद तोड़फोड़ होने से क्षतिग्रस्त ट्रक।

मोहाली. फेज-6 में दारा स्टूडियो के पास ट्रक यूनियन के एक ट्रक ने 11 साल के बच्चे को कुचल दिया। मौके पर ही मौत हो गई। इस दौरान वाल्मीकि काॅलोनी वालों ने यूनियन के ट्रकों और ड्राइवरों पर पत्थराव किया। यूनियन वालों ने भी ईंट और पत्थर बरसाए। इसमें चार ट्रकों, एक गाड़ी व यूनियन के आॅफिस के शीशे टूटे। कॉलोनी की कुछ महिलाएं भी घायल हुई। डीएसपी ने आकर स्थिति को संभाला। पुलिस फोर्स के बीच शुक्रवार दोपहर बाद बच्चे का डॉक्टरों के बोर्ड से पोस्टमाॅर्टम करवा दिया गया।

- घरवाले व भीड़ शव को संस्कार के लिए नहीं लेकर गए। उनका कहना था कि बच्चे के दादा-दादी व ताया-ताई आ रहे हैं। उनके आने के बाद ही शव संस्कार के लिए लेकर जाएंगे। खबर लिखे जाने तक शव माॅर्चरी में ही रखा हुआ था।

- भीड़ ने कहा कि शनिवार सुबह 10 बजे तक शव को संस्कार के लिए माॅर्चरी से ले जाएंगे। वहीं फेज-1 थाना पुलिस ने यूनियन के अज्ञात ट्रक चालक के खिलाफ केस दर्ज कर दिया था। इस ट्रक के मालिक स्वर्ण सिंह बग्गा बताए गए हैं।

स्कूल की छुटि्टयां होने के कारण यूनियन के पास खेलता रहता था शिवम

- वाल्मीकि बस्ती में रहने वाला शिवम फेज-6 सरकारी स्कूल की तीसरी क्लास में पढ़ता था और आजकल स्कूल में छुटि्टयां होने के कारण घर पर ही रहता था। उसके पास छोटा सा साइकिल था और वह अकेला घर के आसपास साइकिल चलाता रहता था।

- शुक्रवार सुबह करीब 11 बजे साइकिल पर यूनियन के बीच खेल रहा था कि वहां से गुजर रहे एक ट्रक के पिछले टायरों के नीचे साइकिल सहित आ गया।

- इस कारण मौके पर ही उसकी मौत हो गई। हादसे के बाद ट्रक ड्राइवर भीड़ इकट्ठी होती देख फरार हो गया। शिवम की तीन बड़ी बहनें हैं और एक छोटा भाई है।

पुलिस न ट्रक का पता लगा पाई और न ही ड्राइवर का
- यह ट्रक यूनियन सदस्य स्वर्ण सिंह बग्गा का है। ट्रक पर हादसे के समय चालक कौन था यह न पुलिस को पता है और न ही यूनियन प्रधान व अन्य सदस्यों को। इस बारे डीएसपी सिटी-1 आलम विजय ने कहा कि पता लगा रहे हैं। ड्राइवर फरार है।

- पुलिस को वह ट्रक भी नहीं मिला, जिसके नीचे शिवम साइकिल सहित आया। ट्रक मालिक स्वर्ण सिंह को फोन किया गया तो उन्होंने उठाया नहीं।

घरवाले बोले-ट्रक ड्राइवर को सामने लाओ या फिर हमारे ऊपर भी ट्रक चढ़ा दो...

- साहब या तो मेरे ऊपर भी ट्रक चढ़ा दो यदि ऐसा नहीं करना तो उस ट्रक चालक को मेरे सामने करो, जिसने मेरे मासूम बच्चे को ट्रक के टॉयर के नीचे कुचल दिया। यह बात वाल्मीकि काॅलोनी में रहने वाले निर्मल सिंह सड़क पर पड़े 11 साल के बेटे शिवम के शव के साथ लिपट कर रोते हुए बोल रहे थे। बच्चे की मां पुष्पा, पिता व भाई-बहन के आंसू थमने का नाम नहीं ले रहे थे।

ये नुकसान हुआ...
- मलकीत सिंह, गुरविंदर सिंह व दो अन्य ट्रक चालकों के ट्रकों के शीशे तोड़ डाले। यूनियन प्रधान मनिंदर सिंह के आॅफिस में तोड़फोड़ की। यूनियन के चेयरमैन राजपाल सिंह की सफारी गाड़ी के शीशे तोड़े। यूनियन वालों ने जवाब में पथराव किया। भीड़ में तुलसी, लक्ष्मी व सुशीला व एक अन्य शख्स पत्थर लगने से घायल हो गए।

भीड़ के गुस्से का शिकार एक सफारी कार भी हो गई। भीड़ के गुस्से का शिकार एक सफारी कार भी हो गई।
घटना के बाद लोगों का गुस्सा सातवें आसमान पर था। घटना के बाद लोगों का गुस्सा सातवें आसमान पर था।
X
हादसे के बाद तोड़फोड़ होने से क्षतिग्रस्त ट्रक।हादसे के बाद तोड़फोड़ होने से क्षतिग्रस्त ट्रक।
भीड़ के गुस्से का शिकार एक सफारी कार भी हो गई।भीड़ के गुस्से का शिकार एक सफारी कार भी हो गई।
घटना के बाद लोगों का गुस्सा सातवें आसमान पर था।घटना के बाद लोगों का गुस्सा सातवें आसमान पर था।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..