ब्रेन स्ट्रोक के 90 फीसदी मरीज समय पर अस्पताल नहीं पहुंच पाते: डॉ. लांबा

Panchkula Bhaskar News - 55 साल की उम्र के बाद पांच महिलाओं में से एक है और छह पुरुषों में से एक को ब्रेन स्ट्रोक होने का खतरा रहता है। शरीर का...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 07:40 AM IST
Panchkula News - 90 of brain stroke patients can not reach hospital at the time dr lamba
55 साल की उम्र के बाद पांच महिलाओं में से एक है और छह पुरुषों में से एक को ब्रेन स्ट्रोक होने का खतरा रहता है। शरीर का एक हिस्सा अचानक काम करना बंद कर सकता है।

सेक्टर-5 एसबीआई की ओर से पेंशनर्स के लिए कराए हेल्थ टॉक प्रोग्राम में न्यूरोलॉजिस्ट डॉ. अनुराग लांबा ने बताई। उन्होंने कहा कि यदि कोई व्यक्ति संतुलन में समस्याओं से ग्रस्त है, आवाज में बदलाव, अचानक दृष्टि चले जाना, अचानक गिर जाना, थकान हो तो उन्हें अस्पताल ले जाना चाहिए। ब्रेन स्ट्रोक का इलाज घर पर शुरू नहीं हो सकता।

इसके लिए सीटी या एमआरआई स्कैन आवश्यक है। स्ट्रोक के पहले लक्षणों का अनुभव करने के बाद औसतन एक व्यक्ति इलाज करने से पहले 13 घंटे तक इंतजार करता है। डॉ. लांबा ने बताया कि 2 परसेंट मरीज 24 घंटे तक इंतजार करते हैं। इसलिए इस मामले में अवेयरनेस जरूरी है, क्योंकि स्ट्रोक के लक्षणों को पहचानना और तत्काल आपातकालीन ध्यान देना महत्वपूर्ण है।

X
Panchkula News - 90 of brain stroke patients can not reach hospital at the time dr lamba
COMMENT