--Advertisement--

मौड़ बम ब्लास्ट- कबाड़ी से खरीदकर डेरे की वर्कशॉप में असेम्बल की गई थी इस्तेमाल मारुति

31 जनवरी 2017 को चुनावी सभा में हुआ था ब्लास्ट,7 की गई थी जान, डेरे की वर्कशॉप के 4 कारिंदों ने कोर्ट में दर्ज कराए बयान

Danik Bhaskar | Feb 09, 2018, 06:23 AM IST
डेमो फोटो डेमो फोटो

चंडीगढ़/जालंधर. विधानसभा चुनाव से तीन दिन पहले 31 जनवरी 2017 को कांग्रेस प्रत्याशी व सिरसा डेरामुखी गुरमीत राम रहीम के समधी हरमंदर जस्सी की चुनावी सभा में ब्लास्ट में इस्तेमाल कार सिरसा में डेरे की वर्कशॉप के बी हिस्से में असेम्बल हुई थी। ये कार बाबा के लिए गाड़ियां मोडिफाई करने वाले मैकेनिक गुरतेज काला के कहने पर वर्कशॉप के 4 लोगों ने तैयार की। लेकिन, उन्हें नहीं पता था कि कार ब्लास्ट में इस्तेमाल होगी।

यह खुलासा वर्कशॉप में काम करने वाले 4 कर्मचारियों ने किया है। उन्होंने मौड़ पुलिस थाने में ब्लास्ट में इस्तेमाल कार की शिनाख्त की। उन्होंने तलवंडी साबो कोर्ट में 164 सीआरपीसी के तहत बयान दर्ज करवाए। काला ने ये कार किसके कहने पर तैयार करवाई, ये खुलासा होना बाकी है।

डेरामुखी के लिए कार मॉडिफाई करने वाले मैकेनिक ने असेम्बल कराई, सिरसा में लगी आईईडी

वर्कशॉप कर्मियों के बयानों के अनुसार, मारुति 800 को सिरसा के एक कबाड़ी सुनील कुमार से खरीदा गया। इसके बाद कार डेरे के गेट के पास पेट्रोल पंप के साथ बनी वर्कशॉप में लाई गई। यहां वर्कशॉप दो पार्ट में है। ए पार्ट में डेरे और प्राइवेट गाड़ियों की रिपेयरिंग होती है। जबकि बी में सिर्फ डेरा मुखी की। यहां सुपरवाइजर डबवाली के गांव आलीके का गुरतेज काला है। मारुति के पार्ट्स मानसा के सरदूलगढ़ के डेंटर नारायण सिंह ने बदले थे। कार में इंजन चोरमार गांव के हरप्रीत सिंह और राजस्थान के हरमेल सिंह ने लगाया। करनाल के पेंटर कृष्ण कुमार ने सफेद पेंट किया। सभी डेरे की वर्कशॉप में काम करते थे। कार की बैटरी भी सिरसा से खरीदी गई, जिसे काला खरीदकर लाया था। कुकर सुनाम की एक प्राइवेट फैक्ट्री में बना था।

पुलिस को अब काला की तलाश

एसआईटी अब काला की तलाश कर रही है। उधर, पुलिस सूत्रों के अनुसार कार में सिरसा में ही आईईडी (इम्प्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस) फिट की गई थी। इसके बाद उसे 90 किमी. चालकर मौड़ मंडी लाया गया और जनसभा के पास छोड़ दिया गया। काला के पकड़े जाने के बाद ही ब्लास्ट के पीछे के लोगों के नाम सामने आ सकते हैं।

जल्द करेंगे मामले का खुलासा...
हम मामले के काफी करीब हैं। जल्द खुलासा करेंगे। सिरसा समेत कई इलाकों में जांच की है। डेरे के 4 व्यक्तियों की गवाही मामले को हल करने में सहायक होगी। ^ -रणबीर सिंह खटड़ा, डीआईजी