Hindi News »Union Territory »Chandigarh »News» 17 Years Ago Had Gone To 100 Dollars Abroad

कैनेडा में MPA उम्मीदवार दीपक के पिता बोले-17 साल पहले 100 डॉलर लेकर गया था विदेश

उस समय शायद यह नहीं सोचा था कि आने वाले समय पर वो कैनेडियन सरकार का हिस्सा बनेंगे।

bhaskar news | Last Modified - Dec 20, 2017, 06:58 AM IST

  • कैनेडा में MPA उम्मीदवार दीपक के पिता बोले-17 साल पहले 100 डॉलर लेकर गया था विदेश

    मोहाली. केमिकल इंजीनियरिंग के बाद दीपक ने जब कैनेडा जाने के लिए पहली बार कहा तो सबसे पहले यह ख्याल आया कि विदेश जाकर कैसा माहौल मिलेगा। सेटल हो पाएगा या नहीं। लेकिन अाज 17 साल बाद जो सुकून के पल आए हैं, उसने साबित किया है कि 100 डॉलर जेब में डाल कर विदेश जाने वाला अगर कोई भी युवक ठान ले तो विदेश में भी अपने काम व्यवहार से लोगों का दिल जीतकर वहां राजनीति में अहम स्थान पा सकता है। यह कहना है दीपक आनंद के बुजुर्ग माता-पिता सरदारी लाल आनंद और संतोष आनंद का, जो मोहाली के फेज-3ए में रहते हैं। उनके दो बेटे हैं। बड़ा बेटा आॅस्ट्रेलिया में अपने परिवार के साथ सेटल है। सरदारी लाल ने कहा कि उन्हें बड़ी खुशी है कि उनका बेटा राजनीति की पहली पारी जीत चुका है।

    100 डॉलर जेब में डाल कर विदेश जाने वाला

    अब एमपीए के उम्मीदवार: मोहालीसे कैनेडा अपना करियर बनाने गए केमिकल इंजीनियर दीपक आनंद ने भी उस समय शायद यह नहीं सोचा था कि आने वाले समय पर वो कैनेडियन सरकार का हिस्सा बनेंगे। दीपक 17 साल पहले मोहाली से सिर्फ 100 डॉलर लेकर कैनेडा गए थे। दीपक केमिकल इंजीनियरिंग करके पीआर बेस पर कैनेडा गए थे। अब उन्हें कैनेडा के ओन्टेरियो (मिसिसॉगा-माल्टन) के मेंबर ऑफ पार्लियमेंट्री असेंबली (एमपीए) इलेक्शन के लिए एमपीए का टिकट मिला है। मिसिसॉगा माल्टल में बुजुर्गों बच्चों के लिए सोशल वर्क करने वाले दीपक को 12 हजार लोगों की बैठक में एमपीए का उम्मीदवार चुना गया है।

    दीपक की कामयाबी के पीछे पत्नी का हाथ
    दीपकआनंद के पिता एसएल आनंद जो मोहाली के फेज-3ए में रहते हैं, ने बताया कि दीपक वर्ष 2000 में अपना करियर बना कर कैनेडा गया था। उन्होंने बताया कि साथ ही उसकी पत्नी भी कैनेडा गई थी। उन्होंने बताया कि जिस प्रकार हर कामयाब इंसान के पीछे एक औरत का हाथ होता है, उसी प्रकार दीपक की कामयाबी का क्रेडिट काफी हद तक उसकी पत्नी तथा उनकी बेटियों जैसी बहू अरुणा आनंद को जाता है, क्योंकि उनकी बहू ने दीपक को उसका पॉलिटिकल करियर शुरू करने के लिए काफी प्रोत्साहित किया।

    चार उम्मीदवारों में से लोगों ने चुना दीपक को
    कैनेडाकी प्रोग्रेसिव कंजर्वेटिव पॉलिटिकल पार्टी के चार उम्मीदवार दीपक आनंद, हरदीप ग्रेवाल, रजिंदर बल मिनहास तथा क्लाइड रोच एमपीए की टिकट के लिए आमने सामने थे। टिकट की वोटिंग से पहले चारों उम्मीदवारों ने लोगों के सामने भाषण दिया। इसके बाद लोगों ने वोटिंग करते हुए दीपक आंनद को एमपीए पद के लिए पार्टी की ओर से उम्मीदवार नियुक्त किया।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Chandigarh News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: 17 Years Ago Had Gone To 100 Dollars Abroad
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×