--Advertisement--

प्रेग्नेंसी के 6th महीने पैदा हुई थी बच्ची, 2 महीने के इलाज के बाद डॉक्टरों ने बचाया

Dainik Bhaskar

Dec 14, 2017, 06:20 AM IST

मात्र 24 सप्ताह के गर्भ के बाद पैदा 400 ग्राम वजन वाली बेबी को स्टाफ बचाने में कामयाब हुआ।

अस्पताल से बच्ची को बुधवार को छुट्‌टी मिल गई। अस्पताल से बच्ची को बुधवार को छुट्‌टी मिल गई।

कोटकपूरा. बालरोग अस्पताल चंडीगढ़ चाइल्ड केयर के चिकित्सकों के प्रयत्न से साढ़े 24 सप्ताह (6 महीने) की पंजाब की सबसे कम वजन 400 ग्राम की बच्ची सामान्य बच्चों जैसे दुनिया देख रही है। सवा दो महीने के उपचार के बाद सामान्य वातावरण में रहने लायक हुई बच्ची को अस्पताल प्रबंधक ने बुधवार को अभिभावकों को सुपुर्द कर विदा किया। डाक्टरों का कहना है कि पंजाब का पहला ऐसा मामला है जहां मात्र 24 सप्ताह के गर्भ के बाद पैदा 400 ग्राम वजन वाली बेबी को स्टाफ बचाने में कामयाब हुआ।


चाइल्ड केयर सेंटर के संचालक और बाल रोग विशेषज्ञ डाॅ. रवि बांसल ने बताया कि बाल रोग विशेषज्ञों की टीम डाॅ. पुनिया, डाॅ. हरपाल सिंह और डॉ. अमन सेठी के पास मुक्तसर के एक निजी अस्पताल से जुड़वां बच्चियों का केस आया। इनमें एक बेबी का वजन 650 ग्राम और दूसरी का 450 ग्राम था। कम वजन के चलते दूसरी बच्ची के बचने की संभावना बहुत कम थी लेकिन अस्पताल के आईसीयू केयर यूनिट के कर्मचारियों ने 65 दिन की कड़ी मेहनत के बाद बच्ची को बचाने में कामयाबी हासिल की। लड़की की माता गुरप्रीत कौर और पिता नत्था सिंह निवासी गांव अलीका जिला सिरसा ने डाक्टरों का धन्यवाद किया। उन्होंने कहा कि वे बच्ची के जिंदा रहने की उम्मीद लगभग छोड़ चुके थे लेकिन डाॅ. रवि बंसल के नेतृत्व में चंडीगढ़ अस्पताल के चिकित्सकों ने इस असंभव को भी संभव कर दिखाया।

इलाज करने वाले चंडीगढ़ अस्पताल के डॉक्टर रवि बंसल व उनकी टीम। इलाज करने वाले चंडीगढ़ अस्पताल के डॉक्टर रवि बंसल व उनकी टीम।
X
अस्पताल से बच्ची को बुधवार को छुट्‌टी मिल गई।अस्पताल से बच्ची को बुधवार को छुट्‌टी मिल गई।
इलाज करने वाले चंडीगढ़ अस्पताल के डॉक्टर रवि बंसल व उनकी टीम।इलाज करने वाले चंडीगढ़ अस्पताल के डॉक्टर रवि बंसल व उनकी टीम।
Astrology

Recommended

Click to listen..