Hindi News »Union Territory »Chandigarh »News» 6th Month Of Pregnancy Was Born Baby

प्रेग्नेंसी के 6th महीने पैदा हुई थी बच्ची, 2 महीने के इलाज के बाद डॉक्टरों ने बचाया

मात्र 24 सप्ताह के गर्भ के बाद पैदा 400 ग्राम वजन वाली बेबी को स्टाफ बचाने में कामयाब हुआ।

bhaskar news | Last Modified - Dec 14, 2017, 06:20 AM IST

  • प्रेग्नेंसी के 6th महीने पैदा हुई थी बच्ची, 2 महीने के इलाज के बाद डॉक्टरों ने बचाया
    +1और स्लाइड देखें
    अस्पताल से बच्ची को बुधवार को छुट्‌टी मिल गई।

    कोटकपूरा.बालरोग अस्पताल चंडीगढ़ चाइल्ड केयर के चिकित्सकों के प्रयत्न से साढ़े 24 सप्ताह (6 महीने) की पंजाब की सबसे कम वजन 400 ग्राम की बच्ची सामान्य बच्चों जैसे दुनिया देख रही है। सवा दो महीने के उपचार के बाद सामान्य वातावरण में रहने लायक हुई बच्ची को अस्पताल प्रबंधक ने बुधवार को अभिभावकों को सुपुर्द कर विदा किया। डाक्टरों का कहना है कि पंजाब का पहला ऐसा मामला है जहां मात्र 24 सप्ताह के गर्भ के बाद पैदा 400 ग्राम वजन वाली बेबी को स्टाफ बचाने में कामयाब हुआ।


    चाइल्ड केयर सेंटर के संचालक और बाल रोग विशेषज्ञ डाॅ. रवि बांसल ने बताया कि बाल रोग विशेषज्ञों की टीम डाॅ. पुनिया, डाॅ. हरपाल सिंह और डॉ. अमन सेठी के पास मुक्तसर के एक निजी अस्पताल से जुड़वां बच्चियों का केस आया। इनमें एक बेबी का वजन 650 ग्राम और दूसरी का 450 ग्राम था। कम वजन के चलते दूसरी बच्ची के बचने की संभावना बहुत कम थी लेकिन अस्पताल के आईसीयू केयर यूनिट के कर्मचारियों ने 65 दिन की कड़ी मेहनत के बाद बच्ची को बचाने में कामयाबी हासिल की। लड़की की माता गुरप्रीत कौर और पिता नत्था सिंह निवासी गांव अलीका जिला सिरसा ने डाक्टरों का धन्यवाद किया। उन्होंने कहा कि वे बच्ची के जिंदा रहने की उम्मीद लगभग छोड़ चुके थे लेकिन डाॅ. रवि बंसल के नेतृत्व में चंडीगढ़ अस्पताल के चिकित्सकों ने इस असंभव को भी संभव कर दिखाया।

  • प्रेग्नेंसी के 6th महीने पैदा हुई थी बच्ची, 2 महीने के इलाज के बाद डॉक्टरों ने बचाया
    +1और स्लाइड देखें
    इलाज करने वाले चंडीगढ़ अस्पताल के डॉक्टर रवि बंसल व उनकी टीम।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×