Hindi News »Union Territory »Chandigarh »News» A Women Commited Suicide In Mohali

शादी के बाद गिफ्ट लेकर आई थी फ्रेंड से मिलने, रूम में झांका तो लटकी थी पंखे से

शादी के दो महीने बाद हो गया था डायवोर्स, रहती थी परेशान

Bhaskar News | Last Modified - Jan 21, 2018, 02:36 AM IST

  • शादी के बाद गिफ्ट लेकर आई थी फ्रेंड से मिलने, रूम में झांका तो लटकी थी पंखे से
    +8और स्लाइड देखें
    शरणदीप कौर और उसकी फ्रेंड जो उससे मिलने आई थी।

    मोहाली.गर्ल्स पीजी के कमरे में एक 35 साल की शरणदीप कौर ने पंखे से फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली। उसकी पुरानी रूममेट सरिता उससे मिलने आई तो कमरे का दरवाजा बंद था। उसने दरवाजा खोला तो अंदर पंखे से शरणदीप लटक रही थी। उसने शोर मचाया तो पीजी में रहने वाली अन्य लड़कियां वहां पहुंचीं और पुलिस को सूचना दी। मटौर के एसएचओ जरनैल सिंह टीम के साथ पहुंचे और शव को फेज-6 के सिविल हॉस्पिटल की मॉर्चरी में रखवा दिया। लाश के पास एक सुसाइड नोट मिला। शरणदीप कौर मूल रूप से अमृतसर की रहने वाली थी और मोहाली इंडस्ट्रियल एरिया फेज 8बी में एक आईटी कंपनी में काम करती थी। कॉल कर बुलाया था फ्रेंड को...

    पुरानी रूममेट मिलने आई थी शादी के बाद: शरणदीप की सहेली सरिता ने बताया कि वह, शरणदीप और एक अन्य लड़की नैंसी काफी समय तक इसी रूम में इकट्‌ठी रहती थीं। कुछ समय पहले उसकी और दूसरी रूममेट की शादी हो गई थी। गतरात उसे शरणदीप का फोन आया और उसने कहा कि तुमसे मिलने का दिल कर रहा है। इस पर उसने शनिवार को ऑफिस के बाद आने की बात कही। शनिवार शाम करीब 5 बजे वह गिफ्ट लेकर यहां पहुंची तो शरणदीप ने फंदा लगा रखा था।


    शादी के दो महीने बाद हो गया था डायवोर्स

    शरणदीप की अन्य रूममेट नैंसी और सरिता ने बताया कि वे करीब 8 साल तक शरणदीप के साथ इसी रूम में रही। शरणदीप की शादी करीब 5 साल पहले हुई थी, लेकिन दो महीने बाद ही उसका डायवोर्स हो गया था। तब से वह परेशान रहती थी।

    शनिवार को थी छुट्‌टी

    सरिता और नैंसी के जाने के बाद शरणदीप अब कमल के साथ इसी रूम में रह रही थी। कमल ने बताया कि शनिवार को शरणदीप की छुट्‌टी होती थी। एसएचओ जरनैल सिंह ने कहा कि घर वालों को सूचना दे दी गई है।

    यह लिखा सुसाइड नोट में

    पुलिस को मिले सुसाइड नोट में शरणदीप ने लिखा- कभी सोचा भी नहीं था कि मैं ऐसा लेटर लिखूंगी। मैं कभी तुम्हारी अच्छी बेटी नहीं बन पाई, तुम्हें हमेशा दुख दिया, कभी कोई खुशी नहीं दे सकी। आज मैं आपको सारे दुखों से मुक्त कर रही हूं और अब मैं आपको कोई दुख नहीं दूंगी। बाबा जी ने मुझे आप जैसे अच्छे पैरेंन्टस दिए लेकिन मैंने आपकी किस्मत खराब कर दी। लेकिन अब सब ठीक हो जाएगा। मैने अपने को काफी पॉजीटिव करने की कोशिश की लेकिन नही कर पाई। मम्मी-पापा मेरे जाने के बाद रोना मत...

    आगे की स्लाइड्स में देखें फोटोज...

  • शादी के बाद गिफ्ट लेकर आई थी फ्रेंड से मिलने, रूम में झांका तो लटकी थी पंखे से
    +8और स्लाइड देखें
    शरणदीप की फ्रेंड्स।
  • शादी के बाद गिफ्ट लेकर आई थी फ्रेंड से मिलने, रूम में झांका तो लटकी थी पंखे से
    +8और स्लाइड देखें
    रोते हुए रिलेटिव्स।
  • शादी के बाद गिफ्ट लेकर आई थी फ्रेंड से मिलने, रूम में झांका तो लटकी थी पंखे से
    +8और स्लाइड देखें
    कमरे में पड़ी लाश।
  • शादी के बाद गिफ्ट लेकर आई थी फ्रेंड से मिलने, रूम में झांका तो लटकी थी पंखे से
    +8और स्लाइड देखें
    शरणदीप की पुरानी रूममेट सरिता ।
  • शादी के बाद गिफ्ट लेकर आई थी फ्रेंड से मिलने, रूम में झांका तो लटकी थी पंखे से
    +8और स्लाइड देखें
    शरणदीप कौर आईटी कंपनी में जॉब करती थी।
  • शादी के बाद गिफ्ट लेकर आई थी फ्रेंड से मिलने, रूम में झांका तो लटकी थी पंखे से
    +8और स्लाइड देखें
    कमरा अंदर से लॉक था।
  • शादी के बाद गिफ्ट लेकर आई थी फ्रेंड से मिलने, रूम में झांका तो लटकी थी पंखे से
    +8और स्लाइड देखें
    घर के बाहर खड़ी पुलिस की गाड़ी।
  • शादी के बाद गिफ्ट लेकर आई थी फ्रेंड से मिलने, रूम में झांका तो लटकी थी पंखे से
    +8और स्लाइड देखें
    मौके पर पहुंची एंबूलेंस।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Chandigarh News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: A Women Commited Suicide In Mohali
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×