--Advertisement--

शादी के बाद गिफ्ट लेकर आई थी फ्रेंड से मिलने, रूम में झांका तो लटकी थी पंखे से

शादी के दो महीने बाद हो गया था डायवोर्स, रहती थी परेशान

Danik Bhaskar | Jan 21, 2018, 02:34 AM IST
शरणदीप कौर और उसकी फ्रेंड जो उससे मिलने आई थी। शरणदीप कौर और उसकी फ्रेंड जो उससे मिलने आई थी।

मोहाली. गर्ल्स पीजी के कमरे में एक 35 साल की शरणदीप कौर ने पंखे से फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली। उसकी पुरानी रूममेट सरिता उससे मिलने आई तो कमरे का दरवाजा बंद था। उसने दरवाजा खोला तो अंदर पंखे से शरणदीप लटक रही थी। उसने शोर मचाया तो पीजी में रहने वाली अन्य लड़कियां वहां पहुंचीं और पुलिस को सूचना दी। मटौर के एसएचओ जरनैल सिंह टीम के साथ पहुंचे और शव को फेज-6 के सिविल हॉस्पिटल की मॉर्चरी में रखवा दिया। लाश के पास एक सुसाइड नोट मिला। शरणदीप कौर मूल रूप से अमृतसर की रहने वाली थी और मोहाली इंडस्ट्रियल एरिया फेज 8बी में एक आईटी कंपनी में काम करती थी। कॉल कर बुलाया था फ्रेंड को...

पुरानी रूममेट मिलने आई थी शादी के बाद: शरणदीप की सहेली सरिता ने बताया कि वह, शरणदीप और एक अन्य लड़की नैंसी काफी समय तक इसी रूम में इकट्‌ठी रहती थीं। कुछ समय पहले उसकी और दूसरी रूममेट की शादी हो गई थी। गतरात उसे शरणदीप का फोन आया और उसने कहा कि तुमसे मिलने का दिल कर रहा है। इस पर उसने शनिवार को ऑफिस के बाद आने की बात कही। शनिवार शाम करीब 5 बजे वह गिफ्ट लेकर यहां पहुंची तो शरणदीप ने फंदा लगा रखा था।


शादी के दो महीने बाद हो गया था डायवोर्स

शरणदीप की अन्य रूममेट नैंसी और सरिता ने बताया कि वे करीब 8 साल तक शरणदीप के साथ इसी रूम में रही। शरणदीप की शादी करीब 5 साल पहले हुई थी, लेकिन दो महीने बाद ही उसका डायवोर्स हो गया था। तब से वह परेशान रहती थी।

शनिवार को थी छुट्‌टी

सरिता और नैंसी के जाने के बाद शरणदीप अब कमल के साथ इसी रूम में रह रही थी। कमल ने बताया कि शनिवार को शरणदीप की छुट्‌टी होती थी। एसएचओ जरनैल सिंह ने कहा कि घर वालों को सूचना दे दी गई है।

यह लिखा सुसाइड नोट में

पुलिस को मिले सुसाइड नोट में शरणदीप ने लिखा- कभी सोचा भी नहीं था कि मैं ऐसा लेटर लिखूंगी। मैं कभी तुम्हारी अच्छी बेटी नहीं बन पाई, तुम्हें हमेशा दुख दिया, कभी कोई खुशी नहीं दे सकी। आज मैं आपको सारे दुखों से मुक्त कर रही हूं और अब मैं आपको कोई दुख नहीं दूंगी। बाबा जी ने मुझे आप जैसे अच्छे पैरेंन्टस दिए लेकिन मैंने आपकी किस्मत खराब कर दी। लेकिन अब सब ठीक हो जाएगा। मैने अपने को काफी पॉजीटिव करने की कोशिश की लेकिन नही कर पाई। मम्मी-पापा मेरे जाने के बाद रोना मत...

आगे की स्लाइड्स में देखें फोटोज...

शरणदीप की फ्रेंड्स। शरणदीप की फ्रेंड्स।
रोते हुए रिलेटिव्स। रोते हुए रिलेटिव्स।
कमरे में पड़ी लाश। कमरे में पड़ी लाश।
शरणदीप की पुरानी रूममेट सरिता । शरणदीप की पुरानी रूममेट सरिता ।
शरणदीप कौर आईटी कंपनी में जॉब करती थी। शरणदीप कौर आईटी कंपनी में जॉब करती थी।
कमरा अंदर से लॉक था। कमरा अंदर से लॉक था।
घर के बाहर खड़ी पुलिस की गाड़ी। घर के बाहर खड़ी पुलिस की गाड़ी।
मौके पर पहुंची एंबूलेंस। मौके पर पहुंची एंबूलेंस।