Hindi News »Union Territory »Chandigarh »News» Baby Got Help With Social Media

10 दिन से लापता बच्चा सोशल मीिडया की मदद से मिला, वॉट्सएप पर डाला फोटो और फोन नंबर

लापता हो गया था 10 साल का बच्चा, भाई ने फेसबुक और वॉट्सएप पर डाला फोटो और फोन नंबर

bhaskar news | Last Modified - Dec 19, 2017, 08:29 AM IST

  • 10 दिन से लापता बच्चा सोशल मीिडया की मदद से मिला, वॉट्सएप पर डाला फोटो और फोन नंबर

    मोहाली.सोशल मीडिया का प्रभाव किस प्रकार से तेजी से फैल रहा है, इसका उदाहरण कुंभड़ा की एक मीडिल क्लास फैमिली को उस समय देखने को मिला, जब उन्होंने अपने लापता बच्चे की फोटो सोशल मीडिया पर शेयर की। इस पर कुंभड़ा में ही रहने वाले एक परिवार ने बच्चे को पहचान कर उसके घरवालों से मिलाया। फेज-8 थाना पुलिस भी काफी दिनों से इस बच्चे की तलाश कर रही थी।


    भाई ने फेसबुक पर डाली थी फोटो: तीसरी कक्षा में पढ़ने वाला एक बच्चा विपिन 10 दिन पहले अपने घर से मार्केट के लिए निकला, लेकिन वापस ही नहीं आया था। विपिन के बड़े भाई चंदर ने बताया कि उसके 6 भाई बहन हैं और विपिन तीसरे नंबर पर है। 9 दिसंबर की शाम को विपिन लापता हो गया। जब वह रात तक वापस ही नहीं आया तो घरवालों ने उसकी तलाश शुरू की। विपिन का कहीं कुछ न पता चलने पर घरवालांे ने फेज-8 थाने में उसके लापता होने की शिकायत दी। पुलिस ने बच्चे के गायब होने की शिकायत दर्ज कर उसकी तलाश शुुरू कर दी लेकिन उसका कुछ पता नहीं चला।

    कुंभड़ा का परिवार मनसा देवी मंदिर में गया था माथा टेकने, वहां नजर आ गया विपिन

    जब तीन दिनों तक विपिन का कुछ पता नहीं चला तो एक दोस्त ने विपिन की फोटो सोशल मीडिया पर डालने का आइडिया दिया। इसके बाद चंदर ने फेसबुक व वॉट्सएप ग्रुप में विपिन की स्कूल ड्रेस वाली फोटो डालकर अपना मोबाइल नंबर भी लिखा। उसने लिखा कि उसका छोटा भाई लापता हो गया है। इसका कहीं पर कुछ पता चले तो उक्त नंबर पर सूचना दे। गत दिवस कुंभड़ा का ही एक परिवार माता मनसा देवी में माथा टेकने गया और उन्होंने वॉट्सएप ग्रुप में आई विपिन की फोटो और मैसेज देखा। उसी समय विपिन उनको वहां दिख गया और उन्होंने विपिन से सारी बात पूछी। इसके बाद उसके भाई को कॉल कर बताया गया, जिसके बाद यह परिवार विपिन को अपने साथ कुंभड़ा ले आया और उसके परिवार को सौंप दिया।

    विपिन लोगों से कहता था कोई कुंभड़ा पहंुचा दो
    विपिन ने मिलने के बाद अपने परिवार को बताया कि वह मनसा देवी मंदिर कैसे पहुंचा, उसे नहीं पता। मंदिर में माथा टेकने आए लोगों से वह बोलता था कि उसको किसी तरह कुंभड़ा पहंुचा दो, लेकिन किसी ने उसकी ओर ध्यान नहीं दिया। वह वहीं मंदिर में लंगर खाकर वहीं सो जाता था। सोमवार को उसे कुंभड़ा का परिवार वहां मिल गया।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×