--Advertisement--

कार में सो रहा था बच्चा, पुलिस की गाड़ी आई बच्चे सहित उठाकर ले गई गाड़ी

नो पार्किंग में खड़ी गाड़ी को टो करने के चक्कर में पुलिसकर्मियों को ये भी नजर नहीं आया कि उस गाड़ी में एक बच्चा सो रहा था।

Dainik Bhaskar

Dec 18, 2017, 06:19 AM IST
Baby was sleeping in the car

चंडीगढ़. नो पार्किंग में खड़ी गाड़ी को टो करने के चक्कर में पुलिसकर्मियों को ये भी नजर नहीं आया कि उस गाड़ी में एक बच्चा सो रहा था। पुलिसकर्मी बस अपने काम में लगे रहे और गाड़ी को टो करके सेक्टर-29 ट्रैफिक लाइन में ले गए। यहां तक कि उन्होंने गाड़ी को इम्पाउंड भी कर दिया। लेकिन बाद में जब बच्चे की किडनैपिंग की कॉल कंट्रोल रूम पर चली तो पुलिसकर्मियों के होश उड़ गए और वे वापस ट्रैफिक लाइन पहुंचे और बच्चे को गाड़ी से निकाला। ये कारनामा करने वाले हवलदार सुभाष और होमगार्ड जसवीर को लाइन हाजिर कर दिया गया है और इंक्वायरी भी मार्क कर दी गई है।

ये वाक्या रविवार शाम करीब 4 बजे का है। मोहाली के राजेश अपनी इयॉन गाड़ी से सेक्टर-34 की मंडी में सब्जी लेने आए थे। यहां उन्होंने अपनी गाड़ी सड़क किनारे खड़ी कर दी। उनका 12 साल का बेटा रितेश सुबह खेलकर आया था तो थकावट के कारण गाड़ी में ही सो गया। राजेश बच्चे को गाड़ी में सोता हुआ छोड़कर खुद सब्जी लेने चले गए। पीछे से हवलदार सुभाष और होम गार्ड जसवीर पहुंचे और गाड़ी को टो करके ले गए। उन्हें ये भी नहीं पता चला कि गाड़ी में एक 12 साल का बच्चा सो रहा है।

पिता ने सोचा किडनैप हो गया
जब राजेश वापस सब्जी लेकर लौटे तो उन्होंने देखा कि तो वहां कार खड़ी थी और ही उनका बेटा। उन्होंने बच्चे और कार की तलाश शुरू कर दी लेकिन जब उन्हें कुछ पता नहीं चला तो उन्होंने पुलिस कंट्रोल रूम में किडनैपिंग की शिकायत दे दी। उधर, किडनैपिंग का मैसेज उन दोनों पुलिसकर्मियों तक भी पहुंच गया। तब उन दोनों की आंखें खुली कि जिस गाड़ी को वे टोकर ले गए थे उसमें तो एक बच्चा बैठा था। दोनों पुलिसकर्मी फौरन सेक्टर-29 ट्रैफिक पुलिस लाइन पहुंचे और फौरन बच्चे को गाड़ी से निकाला।

X
Baby was sleeping in the car
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..