C.A. रिजल्ट घोषित- नीरजा भनोट के भतीजे बने ट्राईसिटी में टॉपर

Bhaskar News | Last Modified - Jan 18, 2018, 05:21 AM IST

514 मार्क्स लेकर रवनीत कौर देश में 19वें और चंडीगढ़ में सेकेंड रैंक पर हैं।
  • C.A. रिजल्ट घोषित- नीरजा भनोट के भतीजे बने ट्राईसिटी में टॉपर

    चंडीगढ़. इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया ने सीए फाइनल ईयर के रिजल्ट घोषित कर दिए। चंडीगढ़ के हरि भनोट ने 527 मार्क्स के साथ देश में 12वां रैंक हासिल किया है। वह ट्राईसिटी में पहले नंबर पर हैं। हरि अशोक चक्र हासिल कर चुकीं नीरजा भनोट के भतीजे हैं।


    इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया (आईसीएआई) की अोर से बुधवार को चार्टर्ड अकाउंटेंट (सीए) फाइनल ईयर का रिजल्ट घोषित किया गया। इस रिजल्ट में चंडीगढ़ के हरि भनोट ने 527 मार्क्स के साथ ऑल इंडिया 12वां रैंक लेकर चंडीगढ़ में फर्स्ट पोजिशन हासिल की। हरि भनोट अशोक चक्र हासिल कर चुकी नीरजा भनोट के भतीजे हैं। वहीं, रवनीत कौर ने 514 मार्क्स के साथ ऑल इंडिया 19वां रैंक लेकर चंडीगढ़ में सेकेंड पोजिशन हासिल की। दोनों टॉपर्स में दो बातें कॉमन हैं कि इन्होंने फर्स्ट अटेम्प्ट में सीए फाइनल एग्जाम को क्रैक किया और अपने खानदान में यह पहले सीए हैं।

    मां ने सीए बनने के लिए किया मोटिवेट
    सेक्टर 46 के हरि भनोट तीन सालों से सीए की आर्टिकलशिप के तहत मुंबई में केपीएमजी में जॉब कर रहे हैं। 23 साल के हरि ने कहा कि पहले ही अटेम्प्ट में उन्होंने सीए फाइनल एग्जाम को क्रैक कर दिया। सेंट स्टीफंस स्कूल सेक्टर 45 से 10वीं, एसडी स्कूल सेक्टर 32 से 12वीं और डीएवी कॉलेज सेक्टर 10 से बीकॉम कर चुके हरि ने कहा कि उन्होंने कभी नहीं सोचा था कि वह सीए बनेंगे। ग्रेजुएशन करते हुए उनकी मां शांति भनोट ने उन्हें सीए बनने के लिए मोटिवेट व गाइड किया। इसके बाद उन्होंने इसकी कोचिंग लेनी शुरू की। पहले वह चंडीगढ़ में सीए की कोचिंग लेते थे। बाद में मुंबई जाकर ली।

    ड्रैमेटिक्स से सीए में सेकेंड पोजिशन तक
    सेक्टर-33 की रवनीत कौर एकेडेमिक्स में हमेशा से ही बेहतरीन रही हैं। सेक्रेड हार्ट स्कूल सेक्टर 26 से 94.6 परसेंट से 12वीं की, फिर एसडी कॉलेज सेक्टर 32 से 82 परसेंट से बीकॉम पूरी की। रवनीत ने कहा कि स्कूल टाइम से वह ड्रैमेटिक्स और डेक्लोमेशन में प्राइज जीतती आई हैं। हालांकि कॉलेज में उन्होंने अपनी इस हॉबी को काफी कम कर दिया था। इसका कारण यही था कि उनका लक्ष्य सीए को क्रेक करना था। 23 साल की रवनीत ने कहा कि वे अपने परिवार की पहली सदस्य हैं, जो सीए बनी हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Chandigarh News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: C.A. Result Declared
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×