Hindi News »Union Territory »Chandigarh »News» Chargesheet Against Judge Balvinder And Sunita In Paper Leak Case

लेडी से मिलने टैक्सी में खड़ूस नाम से जाते थे जज, ऑटो वाले के हाथ भिजवाती थी फ्रूट

जज बलविंदर कुमार शर्मा की पूरी पोल चार्जशीट में पुलिस ने खोल दी है।

संजीव महाजन | Last Modified - Jan 15, 2018, 08:09 AM IST

  • लेडी से मिलने टैक्सी में खड़ूस नाम से जाते थे जज, ऑटो वाले के हाथ भिजवाती थी फ्रूट
    +2और स्लाइड देखें
    आरोपी सुनीता के जज के साथ क्लोज रिलेशन थे।

    चंडीगढ़. हरियाणा में 109 जजों की भर्ती का पेपर अपनी नजदीकी सुनीता को लीक करने वाले हाईकोर्ट के पूर्व रजिस्ट्रार जज बलविंदर कुमार शर्मा की पूरी पोल चार्जशीट में पुलिस ने खोल दी है। इसमें पता लग रहा है कि आरोपी सुनीता के साथ उनके क्लोज रिलेशन थे। उन्होंने अपनी जाली आईडी बनाई और ऑटोवाले के फोन से घंटों सुनीता से बात की। खुद अपनी सरकारी कार और गार्ड छोड़कर सुनीता से मिलने कैब पर जाते। पुलिस ने जज द्वारा होटल का कमरा बुक करने की भी पोल खोली।

    सुनीता के पास मंदिर में मिलने जाते थे जज
    - चार्जशीट के मुताबिक जज ने एक सीक्रेट नंबर ले रखा था। यह नंबर था 8360753268।

    - इसी नंबर पर पेपर लीक के दौरान जज सुनीता के सीक्रेट नंबर पर बात करते थे। यह नंबर मोहाली के आशीष के नाम था, जो उसने सुनीता की रूममेट आयुषी को दिया और आयुषी से लेकर सुनीता ने सीक्रेट नंबर जज को दिया।

    - इस नंबर पर जज ने उबर कैब में अपनी रजिस्टर आईडी बनाई खड़ूस-खड़ूस के नाम से। खड़ूस - खड़ूस की फर्जी आईडी से 23 जनवरी 2017 से 1 अप्रैल 2017 के बीच जज बलविंदर शर्मा ने 8 बार कैब बुक करवाई।

    - हर बार कैब को पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट में बुलाया गया और कैब सेक्टर-18 के मंदिर के लिए ले जाई गई। इस मंदिर में सुनीता रहती थी।

    - वहीं ओला कैब में सीक्रेट नंबर से जज ने दीपक गोयल के नाम से अपना अकाउंट रजिस्टर करवाया। ओला कैब से 4 बार जज बलविंदर शर्मा हाईकोर्ट से सेक्टर-18 के मंदिर में गए।

    कई बार रहे कुरुक्षेत्र के एक गेस्ट हाउस में
    - जज बलविंदर शर्मा और सुनीता 2014 से एक-दूसरे के जानकार थे और अगस्त 2017 तक लगातार एक-दूसरे को मिलते रहे। सुनीता ने इंटेरोगेशन में बताया कि दोनों में क्लोज रिलेशन था।

    - दिसंबर 2016 में दोनों जिला कुरुक्षेत्र के ब्रह्मसरोवर पर पहली बार घूमने गए। इसके बाद मार्च, अप्रैल, मई और जून 2017 में दोनों कई बार उसी जगह गए और कुरुक्षेत्र की जाट धर्मशाला के एक सरकारी गेस्ट हाउस में रहे। फरवरी 2017 में दोनों ने अपने पर्सनल नंबर से बातचीत बंद कर दी और दोनों सीक्रेट नंबरों से बातचीत करने लगे।

    - सुनीता ने पुलिस को बताया कि उसने सीक्रेट नंबर मंदिर के बाहर फूल की दुकान लगाने वाले नरेश शर्मा के नाम पर लिया, जो कैंटीन भी चलाता है। जबकि अपनी सहेली आयुषी से नंबर लेकर जज बलविंदर शर्मा को दे रखा था। जब पेपर लीक की शिकायत हुई तो दोनों ने फाेन तोड़कर सरकारी कूड़ेदान में गिरा दिए।

    जज बोला- पत्नी के साथ कुरुक्षेत्र गया था, पर पत्नी तब चंडीगढ़ के स्कूल में थी
    - सुनीता और बलविंदर ने इंटेरोगेशन में जब पुलिस को कहा कि वह फरवरी के बाद एक-दूसरे से मिले नहीं।

    - उन्होंने कहा कि कभी एक साथ रिसोर्ट में नहीं रुके तो पुलिस ने पोल खोली। पुलिस ने कुरुक्षेत्र के नीलकंठ कृष्णा धाम टूरिस्ट रिसोर्ट का एंट्री रजिस्टर हासिल किया। इसमें 25 से लेकर 27 दिसंबर 2016, 4 मार्च 2017, 8 अप्रैल 2017, 9 अप्रैल 2017, 13 व 14 मई 2017 और 23 जून 2017 को जज बलविंदर शर्मा की एंट्री थी।

    - इसके लिए उन्होंने अपना आधार कार्ड भी रिसोर्ट के प्रबंधन को दे रखा था। इन समय के दौरान सुनीता और जज बलविंदर दोनों के मोबाइल फोनों की टावर लोकेशन एक साथ कुरुक्षेत्र की थी। जज ने कहा कि वह अपनी पत्नी के साथ वहां जाते थे।

    - पुलिस ने रिकाॅर्ड चेक किया तो पाया कि जज ने जो रूम बुक करवाया, वो दो लोगों के लिए था। पुलिस ने उनकी पत्नी के स्कूल का रिकाॅर्ड चेक किया तो वो उन दिनों चंडीगढ़ के स्कूल में पढ़ा रही थी। उनकी पत्नी के मोबाइल की टावर लोकेशन भी उस दौरान चंडीगढ़ की ही थी।

    ऑटो ड्राइवर को पियून बनाने का लालच दिया हुआ था... जांच में पुलिस को एक ऑटो
    - ड्राइवर बापूधाम निवासी वरिंदर कुमार मिला। जांच में सामने आया कि यह ऑटो ड्राइवर लगातार सुनीता और जज दोनों से अपने मोबाइल से बात करता था।

    - पुलिस ने वरिंदर से पूछताछ की तो उसने कहा कि वह जुगनू ऑटो कैब में अपना ऑटो चलाता है। ऑटो चलाते हुए उसकी मुलाकात सुनीता से हुई।

    - सुनीता ने उसे नौकरी का झांसा दिया। उसको कहा कि उसे पियून की नौकरी दिलवा देगी। उसने जज बलविंदर शर्मा से भी उसे मिलाया।

    - वरिंदर ने बताया कि सुनीता उसे सीधा फोन कर पहले सेक्टर-18 बुलाती थी। टिफिन और कटे हुए फल देती थी। जो वह जज के सेक्टर-24 स्थित घर जाकर देकर आता था।

    - वरिंदर के मुताबिक उसके फाेन से जज हमेशा अपने घर से सुनीता से बातचीत करते थे।

  • लेडी से मिलने टैक्सी में खड़ूस नाम से जाते थे जज, ऑटो वाले के हाथ भिजवाती थी फ्रूट
    +2और स्लाइड देखें
    सुनीता जज एग्जाम की टॉपर है।
  • लेडी से मिलने टैक्सी में खड़ूस नाम से जाते थे जज, ऑटो वाले के हाथ भिजवाती थी फ्रूट
    +2और स्लाइड देखें
    सुनीता ऑटोवाले के हाथ से जज को टिफिन में फ्रूट भेजती थी।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Chandigarh News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Chargesheet Against Judge Balvinder And Sunita In Paper Leak Case
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×