--Advertisement--

ढाई एकड़ तक के किसानों की कर्ज माफी जनवरी से, रकम बैंक खातों में

इंडस्ट्री को अप्रैल से बढ़ी बिजली दरों में 50% की माफी, 300 करोड़ रु. वहन करेगी सरकार

Dainik Bhaskar

Dec 20, 2017, 07:15 AM IST
Debt forgiveness of farmers from Januari

चंडीगढ़. कैप्टनसरकार ने जनवरी के पहले हफ्ते से किसान कर्ज माफी की तैयारी कर ली है। पहले चरण में ढाई एकड़ तक के 3.20 लाख छोटे किसानों के कोऑपरेटिव बैंकों के 1680 करोड़ के कर्ज माफ किए जाएंगे। फर्जीवाड़ा हो इसलिए दो लाख रु. तक की कर्ज माफी की रकम किसानों के आधार लिंक्ड बैंक खातों में आरटीजीएस के जरिए ट्रांसफर करने पर विचार चल रहा है। इसके लिए कोऑपरेटिव विभाग ने सॉफ्टवेयर तैयार किया है। ढाई एकड़ तक के 3.20 लाख किसानों में सबसे अधिक संगरूर जिले के 34,409, सबसे कम 772 पठानकोट जिले के हैं।

लार्ज-मीडियम इंडस्ट्री को ~5 यूनिट जनवरी से

पंजाब कीलार्ज मीडियम स्केल इंडस्ट्री को एक जनवरी 2018 से बिजली 5 रुपए यूनिट मिलेगी। इससे सरकार पर सालाना करीब 1100 करोड़ सब्सिडी बोझ पड़ सकता है। इसके अलावा इंडस्ट्री को अप्रैल से बढ़ी दरों में भी 50 फीसदी माफी का एेलान किया गया है। बढ़ी दरों की बकाया 50 फीसदी रकम इंडस्ट्रयलिस्ट अगले 12 महीने के बिलों में बगैर ब्याज के पावरकॉम को जमा करा सकेंगे। मंगलवार को चंडीगढ़ में इंडस्ट्रियलिस्ट के साथ मीटिंग में बिजली मंत्री राणा गुरजीत िसंह ने कहा कि पीएसईआरसी की ओर से अक्टूबर में 9 फीसदी महंगी की गई बिजली दरें अप्रैल 2017 से लागू हुई हैं जिससे इंडस्ट्री पर 600 करोड़ रुपए के बोझ पड़ना था, लेकिन अब 300 करोड़ रुपए राज्य सरकार वहन करेगी। बिजली मंत्री ने बताया कि दो-भागीय दरों को 1 जनवरी, 2018 से लागू करने का फैसला पहले ही हो चुका है। इसके अनुसार अधिकतम ओवरआल रेट बड़े उद्योगों और मध्यम उद्योगों के लिए 1 जनवरी, 2018 से 31 मार्च, 2018 तक के लिए फिक्स किया जाएगा जो कि मध्यम उद्योगों के लिए 6.57 रुपए प्रति यूनिट और बड़े उद्योगों के लिए 6.89 रुपए प्रति यूनिट होगा। 5 रुपए यूनिट बिजली प्रति केवीएएच (किलोवाट प्रति घंटा एंपीयर) वेरिएबल रेट पर लागू होगी। इसके लिए फिक्स चार्जेज में कोई बदलाव नहीं होगा।

X
Debt forgiveness of farmers from Januari
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..