--Advertisement--

CM सिक्युरिटी की ड्यूटी छोड़ घूस लेने आया था गनमैन, फिर ऐसे हुआ अरेस्ट

3000 रुपए की घूस लेते रंगे हाथ पकड़ा। यह रकम रेत के टिपर छोड़ने के नाम पर ली जा रही थी।

Dainik Bhaskar

Dec 10, 2017, 04:16 AM IST
Gainman left duty to take a bribe

मोहाली. चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी घडुआं में सीएण कैप्टन अमरिंदर सिंह एक कार्यक्रम में बतौर चीफ गेस्ट पहुंचे हुए थे। जहां से सीएम को गुजरना था उस रूट पर पंजाब पुलिस के सैकड़ों जवान और अफसर तैनात थे। वहीं, यूनिवर्सिटी के अंदर पंजाब विजिलेंस ब्यूराे की मोहाली टीम ने ट्रैप लगा रखा था। ट्रैप के दौरान विजिलेंस ने एसएचओ घडुआं साहब सिंह के गनमैन हेड कॉन्स्टेबल रशपाल सिंह को 3000 रुपए की घूस लेते रंगे हाथ पकड़ा। यह रकम रेत के टिपर छोड़ने के नाम पर ली जा रही थी।

एसएचओ साहब सिंह को फेज-8 स्थित विजिलेंस पुलिस थाने ले जाया गया है, जहां उनसे पूछताछ चल रही थी। शिकायतकर्ता ने एसएचओ की कॉल रिकार्डिंग विजिलेंस को दी है। डीएसपी विजिलेंस तेजिंदर सिंह ने बताया कि रशपाल के खिलाफ करप्शन एक्ट के तहत केस किया है। एसएचओ से पूछताछ की जा रही है।

हेड कॉन्स्टेबल की शिकायत पर एसएचओ बोले- कोई नहीं, कर लो
जरनैल शुक्रवार रात को ही उस नाके पर पहुंचा। वहां रशपाल ने फिर 10 हजार की डिमांड दोहराई, लेकिन जरनैल ने इनकार किया और थाने में एसएचओ साहब सिंह के पास गए। एसएचओ को रिश्वत मांगने की बात बताई तो उन्होंने कहा- कोई नहीं एक बार रशपाल से मिल लो। वह अपने आप कर लेगा। जरनैल ने इसकी रिकॉर्डिंग कर ली और रशपाल के पास पहुंचे। वहां जरनैल ने रशपाल को 7000 रुपए दिए और कहा कि अभी इतने ही हैं, बाकी 3000 शनिवार सुबह देंगे। इसके बाद जरनैल सीधे विजिलेंस थाने पहुंचे और शिकायत दी। इसके बाद ट्रैप लगाया गया।

एसएचओ की भी रिकॉर्डिंग दी शिकायतकर्ता ने
डीएसपी के मुताबिक सेक्टर-71 के जरनैल सिंह ने शिकायत दी थी कि उनके टिपर चलते हैं। शुक्रवार रात उनका टिपर ड्राइवर घडुआं से मोरिंडा रोड पर जा रहा था। आगे पुलिस का नाका लगा था, जहां हेड कॉन्स्टेबल रशपाल सिंह ने टिपर रोका। यहां कई और टिपर भी रोके हुए थे। रशपाल ने टिपर छोड़ने के नाम पर 10 हजार रुपए मांगे। ड्राइवर ने फोन पर रशपाल की बात जरनैल से कराई। जरनैल के सामने भी रशपाल ने 10 हजार रुपए की डिमांड रखी।


ड्यूटी छोड़ गेट पर पैसे लेने आया
विजिलेंस टीम सादे कपड़ों में यूनिवर्सिटी कैंपस व आसपास तैनात थी। जरनैल ने रशपाल को फोन कर पूछा कहां हो। रशपाल गेट के पास पहुंचा और जैसे ही 500 के 6 रंग लगे नोट पकड़े विजिलेंस ने दबोच लिया। एसएचओ भी सीएम के इवेंट की ड्यूटी पर थे। विजिलेंस उन्हें भी ले गई।

हर चक्कर के 2000
विजिलेंस को जरनैल ने बताया कि रशपाल ने इस रोड पर प्रति गेड़ा टिपर ले जाने के लिए दो हजार रुपए मांगे। एसएचओ को यह बात भी बताई थी, लेकिन उन्होंने गंभीरता से नहीं लिया।

नयागांव में भी साहब सिंह ने की थी गड़बड़
सब-इंस्पेक्टर साहब सिंह करीब दो महीने पहले ही घडुआं पुलिस स्टेशन मंे बतौर एसएचओ तैनात हुए थे। इससे पहले नयागांव पुलिस स्टेशन में थे। कांसल में एक एनआरआई के बंद घर में चोरी हुई थी। उस केस में फुटेज में दो चोर दिखे। एक की शक्ल वहीं कांसल में दुकानदार से मिल रही थी। साहब सिंह उस दुकानदार को पकड़ना चाहते थे, लेकिन उन दिनों वह दुकानदार दोस्तों के साथ हरिद्वार में छुटिट्यों मनाने गया हुआ था। चोरी के तीसरे दिन दुकानदार को पता चला तो वह खुद ही दोस्तों के साथ नयागांव थाने पहुंच गया। साहब सिंह ने उसे और उसके साथी हरियाणा पुलिस के जवान को पकड़ लिया, और तीन दिनों तक गायब रखा। हरियाणा पुलिस को पता चला तो मोहाली एसएसपी से संपर्क किया। इसके बाद साहब सिंह ने दोनों को छोड़ा था।

X
Gainman left duty to take a bribe
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..