--Advertisement--

गैंगस्टर्स को फेसबुक फॉलो करते थे लड़के, पुलिस ने बताया अब ये होगा लॉरेंस का हाल

पुलिस का यूथ को मैसेज- बुरे काम का बुरा नतीजा

Danik Bhaskar | Jan 08, 2018, 02:22 AM IST
गैंगस्टर लॉरेंस। गैंगस्टर लॉरेंस।

मोहाली. सोशल मीडिया यानी की फेसबुक, ट्विटर और अन्य सोशल साइट्स पर गैंगस्टर्स को फॉलो करने वाले लड़कों को पुलिस ने सोपू नेता और गैंगस्टर लाॅरेंस बिश्नोई की पूरी कहानी सुनाई। पुलिस ने लड़कों को बताया कि कैसे लाॅरेंस की जिंदगी शुरू हुई और उसने धीरे-धीरे जुर्म की दुनिया में पैर रखा और कैसे टॉप क्लास क्रिमिनल्स में उसका नाम शामिल हुआ। इस जुर्म के रास्ते पर चलने को कभी भी ना सोचे...

- पुलिस ने लड़कों को यह भी बताया कि बिश्नोई के गैंगस्टर बनने के बाद आखिर में उसका क्या अंजाम हुआ। यह सारी बातें मोहाली पुलिस के सोशल मीडिया मोनिटरिंग सेल ने 25 ऐसे लड़कों को, जो सोशल मीडिया पर गैंगस्टर्स को फॉलो करते थे और उस से प्रभावित थे, उन्हें काउंसिलिंग सेशन में बताई।
- पुलिस टीम ने इन लड़कों को गैंगस्टर्स को फॉलो ना करने और जुर्म के रास्ते से दूर रहने के लिए जागरूक कर मैसेज दिया कि- बुरे काम का बुरा नतीजा होता है।
- हाल ही में मोहाली पुलिस की ओर से सोशल मीडिया मोनिटरिंग सेल बनाया गया था। जिसमें कि पुलिस की टीम स्पेशल इस काम के लिए लगाई गई थी कि वो चेक करें कि सोशल मीडिया पर जो युवा गैंगस्टर्स को फॉलो कर रहे हैं और उनसे प्रभावित हो रहे हैं, उन्हें ढूंढ़ कर उनके पेरेंट्स से मीटिंग की जाए और उन्हें बताया जाए कि उनके बच्चे किस और जा रहे हैं।
- इसके अलावा उन लड़कों की काउंसिलिंग करवा कर उन्हें जागरूक किया जाए कि आिखर में क्राइम करने वाले गैंगस्टर्स का क्या अंजाम होता है और किस प्रकार उनकी और उनके परिवार की जिंदगी बर्बाद हो जाती है। जिससे यूथ

गैंगस्टर्स को फॉलो करने वाले आए थे सामने

- सोशल मीडिया पर गैंगस्टर्स को फॉलो करते हुए उनकी फोटोज और वीडियोज लाइक और कमेंट करने वाले 25 लड़के पुलिस ने ढूंढे थे, जो कि गैंगस्टर्स की लाइफ से प्रभावित थे।

- मोहाली पुलिस सोशल मीडिया मोनिटरिंग सेल ने पहले चरण में 25 लड़कों की लिस्ट बनाई थी, जो सोशल मीडिया पर गैंगस्टर्स को फॉलो कर रहे थे। पुलिस ने इनकी अपराध के रास्ते पर ना चलने के लिए कांउसिलिंग की। - पुलिस को लड़कों में गैंगस्टर लाॅरेंस बिश्नोई का क्रेज है इसका तब पता चला जब पुलिस ने बिश्नोई के फेसबुक आईडी पर उसके फॉलोअर्स को सोशल मीडिया मोनिटरिंग सेल ने चेक किया तो पाया कि करीब 65 लड़के गैंगस्टर्स - लाॅरेंस बिश्नोई से प्रभावित हैं। ये लड़के फेसबुक और ट्वीटर पर आने वाली उसकी फोटो और वीडियों को लाइक करके उसपर कमेंट करते हैं और लाॅरेंस के फेसबुक पर बनाए गए पेजों और आईडी को फॉलो करते हैं।

शहीदों का है फैन, कॉलेज में फायरिंग कर किया रुतबा कायम

- वह स्टूडेंट ऑर्गेनाइजेशन ऑफ पंजाब यूनिवर्सिटी (सोपू) नामक संगठन का कर्ताधर्ता है। लॉरेंस डिफरेंट स्टाइल में समाजसेवा करने का दावा करता है।
- पंजाब और हरियाणा की सबसे खतरनाक गैंगों में से एक का लीडर लॉरेंस है और अपनी गैंग का संचालन अमूमन जेल से ही करता है।
- उसके पास महंगी पिस्तौल और बंदूकों का जखीरा भी है। दस साल पहले कॉलेज में दो बार हवाई फायरिंग करके वो अपना रुतबा कायम कर चुका है।
- फेसबुक प्रोफाइल की तस्वीरों से मालूम पड़ता है कि गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई भगत सिंह समेत कई महान क्रांतिकारियों को अपना आदर्श मानता है।
- लॉरेंस जेल में अमूमन विदेशी सिम काम में लेकर सारे संदेश वॉट्सऐप के जरिये भेजता है।
- गैंगस्टर के पिता लविंद्र कुमार पंजाब पुलिस में कॉन्स्टेबल के पद पर रह चुके हैं।

आगे की स्लाइड्स में देखें फोटोज...

लॉरेंस डिफरेंट स्टाइल में समाजसेवा करने का दावा करता है। लॉरेंस डिफरेंट स्टाइल में समाजसेवा करने का दावा करता है।
स्टूडेंट ऑर्गेनाइजेशन ऑफ पंजाब यूनिवर्सिटी (सोपू) नामक संगठन का कर्ताधर्ता है। स्टूडेंट ऑर्गेनाइजेशन ऑफ पंजाब यूनिवर्सिटी (सोपू) नामक संगठन का कर्ताधर्ता है।
लॉरेंस डिफरेंट स्टाइल में समाजसेवा करने का दावा करता है। लॉरेंस डिफरेंट स्टाइल में समाजसेवा करने का दावा करता है।
अपनी गैंग का संचालन अमूमन जेल से ही करता है। अपनी गैंग का संचालन अमूमन जेल से ही करता है।
उसके पास महंगी पिस्तौल और बंदूकों का जखीरा भी है। उसके पास महंगी पिस्तौल और बंदूकों का जखीरा भी है।
उसके पास महंगी पिस्तौल और बंदूकों का जखीरा भी है। उसके पास महंगी पिस्तौल और बंदूकों का जखीरा भी है।
गैंगस्टर के पिता लविंद्र कुमार पंजाब पुलिस में कॉन्स्टेबल के पद पर रह चुके हैं। गैंगस्टर के पिता लविंद्र कुमार पंजाब पुलिस में कॉन्स्टेबल के पद पर रह चुके हैं।