--Advertisement--

शादी के 6 दिन बाद निकाला घर से, फिर अपनी पत्नी को घर के बजाय ले गया होटल

शगुन के पैसे और अन्य सामान लेकर 6 दिन बाद उसे अपने घर से निकल दिया गया।

Dainik Bhaskar

Dec 10, 2017, 05:20 AM IST
डेमोफोटो डेमोफोटो

मोहाली. एमबीए स्टूडेंट लड़की के घरवालों ने उसके लिए लड़का देखा। दोनों परिवारों में बात हुई और 21 जनवरी 2017 को जिले के एक गुरुद्वारे में जोड़े ने लावां ले लीं। शादी के बाद पति अपनी पत्नी को घर ले जाने के बजाय अपने फेज-5 स्थित होटल में ले गया। उसके बाद शुरू हुआ दहेज प्रताड़ना का खेल। बहाने से दुल्हन के गहने, उसे मिले शगुन के पैसे और अन्य सामान लेकर 6 दिन बाद उसे अपने सेक्टर-91 स्थित घर से निकल दिया गया।

पीड़िता अपने पति, ससुर, सास और देवर की मिन्नतें करती रही, लेकिन किसी ने उसकी एक नहीं सुनी। इसके बाद पीड़िता ने अपने मायके में फोन कर इस बारे में बताया। उसके मायके वाले आकर भी दरवाजा खटखटाते रहे, लेकिन किसी ने दरवाजा नहीं खोला तो मायके वाले बेटी को फेज 3ए स्थित अपने घर ले आए। इसके बाद फिर दोनों के रिश्तेदार इकट्‌ठे हुए और बातचीत की, लेकिन ससुराल वालों ने लड़की को नहीं अपनाया। इस पर पीड़िता ने पुलिस को शिकायत दी। पुलिस ने भी जांच में ढील बरती, जिस पर परेशान पीड़िता को पजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट में यािचका दायर करनी पड़ी। कोर्ट ने जब स्टेटस रिपोर्ट मांगी तो शनिवार को फेज-1 थाने में पुलिस ने आईपीसी की धारा 406, 498ए के तहत सुप्रीत सिंह के खिलाफ केस दर्ज कर लिया और जांच शुरू कर दी।

शादी के 6 दिन बाद घर से निकाला

पीड़िता ने एसएसपी को दी शिकायत दी बताया कि 14 अगस्त 2016 को उसकी सगाई सुप्रीत सिंह के साथ हुई। उनका फेज-5 में किंगस रेजीडेंसी होटल एक आटा मिल भी है। उसकी शादी 21 जनवरी 2017 जीरकपुर में हुई। सुप्रीत शादी के बाद उसे अपने सेक्टर-91 स्थित घर ले जाने के बजाय होटल में ले आया। उसने पूछा तो सुप्रीत ने बहाना लगाया कि घर में काफी मेहमान हैं। पीड़िता ने उसको अपने गहने शगुन के लिफाफे रखने की बात कही तो उसने कहा कि मम्मी को दे दो। वह अपने पास सुरक्षित रख लेंगे। सुप्रीत के कहने पर उसने गहने अपने सारे रुपए अपनी सास बलविंदर कौर को दे दिए। शादी के तीसरे दिन ही उसकी सास, पति, देवर ससुर उससे फ्लैट की मांग करने लगे।

सबने कहा कि अपने पिता को कहे कि एक फलैट सुप्रीत को लेकर दे और सुप्रीत तुम्हें वहां रखेगा, लेकिन उसने यह कहते हुए मना कर दिया कि पिता ने शादी पर सारे पैसे लगा दिए हैं। वह फ्लैट कहां से लेकर देंगे। शादी के 6 दिनों के भीतर ही आरोपियों ने उसको अपने सेक्टर-91 स्थित घर से निकाल दिया। इस पर एसएसपी ने इंक्वायरी मार्क कर दी। लेकिन पुलिस टालमटोल करती रही तो पीड़िता कोर्ट गई और याचिका दायर की। कोर्ट ने अब पुलिस से इस केस की स्टेटस रिपोर्ट मांगी है।

X
डेमोफोटोडेमोफोटो
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..