Hindi News »Union Territory »Chandigarh »News» Irrigation Scandal

इरिगेशन घोटाला : हार्ड डिस्क में छिपा इरिगेशन अफसरों और नेताओं के मोटे कमीशन का सच

गुरिंदर के लिए टेंडर आदि भरने और तैयार करने का काम करते थे।

bhaskar news | Last Modified - Dec 16, 2017, 05:34 AM IST

  • इरिगेशन घोटाला : हार्ड डिस्क में छिपा इरिगेशन अफसरों और नेताओं के मोटे कमीशन का सच
    डेमोफोटो

    चंडीगढ़. 2000 करोड़ के इरिगेशन घोटाले के मुख्य आरोपी ठेकेदार गुरिंदर सिंह की गिरफ्तारी के बाद विजिलेंस को कई खुलासे होने की उम्मीद है। अब तक की जांच में पता चला है कि गुरिंदर सिंह ने चंडीगढ़ के सेक्टर-19 में अपना आॅफिस खोला था। वहां उसके खुद के स्टाफ के अलावा इरिगेशन विभाग के अफसर भी आते थे। विभाग की जो फाइलें चोरी हुई बताई जा रही हैं, उन पर भी इसी आॅफिस में काम किया जाता था।

    मामले संबंधी एक एसपी स्तर के अधिकारी को जांच का जिम्मा सौंपा गया है। यही नहीं विभाग ने ऑफिस से हार्ड डिस्क कब्जे में ली हैं जिनकी जांच की जा रही है। यहां विभाग के दो एसडीओ समेत 6 अफसर और कर्मचारी आते थे, जिनमें एक सरकारी कुक भी शामिल था। यहां वे गुरिंदर के लिए टेंडर आदि भरने और तैयार करने का काम करते थे।

    किसको कितना कमीशन, सबका हिसाब
    गुरिंदर के आॅफिस से जिन कंप्यूटर्स की हार्ड डिस्क्स कब्जे में ली गई हैं, उनमें इरिगेशन और अन्य विभागों के अफसरों को दिए जाने वाले कमीशन का पूरा हिसाब किताब भी रखा गया है। जांच के बाद पता चलेगा कि किस अफसर या कर्मचारी को कितना कमीशन दिया जा रहा था। उसके बाद विजिलेंस की ओर से उन अफसरों और कर्मचारियों पर भी कार्रवाई की जाएगी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Chandigarh News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Irrigation Scandal
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×