--Advertisement--

‘नैंसी’ ने पकड़ा था हथियारों का जखीरा, नाले में कूदी तो मिले थे हथियार

नैंसी डॉग नाले में कूदा तो अधिकारियों ने सर्च कर पकड़ी थी खेप

Dainik Bhaskar

Feb 08, 2018, 04:49 AM IST
डॉग नैंसी डॉग नैंसी

गुरदासपुर. डेरा बाबा नानक की आईबी पर मंगलवार को बीओपी (बार्डर आउट पोस्ट) कस्सोवाल के समीप जीरो लाइन से जो हथियारों का जखीरा जब्त किया गया उसमें बीएसएफ के लैब्रोडोर प्रजाति की नैंसी डॉग की अहम भूमिका थी। नैंसी ने नाले में कूदकर जैसी ही खोदना शुरू किया उसे ही डॉग स्कवाएड अधिकारी और बीएसएफ जवान ने उस जगह की एहतियात के साथ सर्चिंग शुरू कर दी। इसके पीछे उनका मकसद था कि वहां कहीं कोई विस्फोटक पदार्थ न दबा रखा हो।

- बीएसएफ की हर बटालियन में चार-चार डॉग जिनमें लैब्राडोर और जर्मन शेफर्ड प्रजाति के शामिल होते हैं। इस जखीरे ने सुरक्षा एजेंसियों की नींद उड़ा दी है।

- हथियार, कारतूस के साथ हैंडग्रेनेड मिलने से यह भी साफ हो गया कि यह स्मगलिंग का खेल नहीं बल्कि पंजाब में दहशत फैलाने की साजिश थी।

- DIG राजेश शर्मा ने बताया कि हथियार पर जो डिटेल होती है वह साफ कर दी गई थी।

- इससे लगता है कि इन हथियारों को संभवत: चाइना में तैयार किया गया होगा। जो एके-47 एवं पिस्टल मिली वह पूरी तरह नई हैं। इनका अब तक उपयोग नहीं किया गया।

स्मगलिंग नहीं बड़ी वारदात की साजिश

- तीन एके-47 उसकी छह मैग्जीन और 150 कारतूस, दो पिस्टल उसकी दो मैग्जीन और पिस्टल के 100 कारतूस के अलावा छह हैंडग्रेनेड जब्त होने से साफ है कि यह स्मगलिंग की कोशिश नहीं थी।

- DIG के अनुसार स्मगलिंग हथियारों की हो सकती है लेकिन हैंडग्रेनेड मिलने से साफ है कि बड़ी घटना की साजिश रची जा रही है।

अब दुस्साहस किया तो भाग नहीं पाएंगे दहशतगर्द: डीआईजी
- DIG राजेश शर्मा ने बताया कि सरहद पर गश्त कड़ी कर दी गई है।

- दूसरी सुरक्षा एजेंसी के साथ ही सरहद से सटी सीमाओं पर सघन चेकिंग अभियान शुरू कर दिया गया है।

- पहले तो दहशतगर्द हथियार छोड़कर वापिस पाक सीमा में चले गए लेकिन अगली बार वह भागने के काबिल भी नहीं बचेंगे।

डीआईजी राजेश शर्मा डीआईजी राजेश शर्मा
X
डॉग नैंसीडॉग नैंसी
डीआईजी राजेश शर्माडीआईजी राजेश शर्मा
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..