--Advertisement--

पति-पत्नी और वो के चक्कर में हुआ वाईफ का मर्डर, लेना चाहती थी ये जगह

10 दिन से गायब थी एडवोकेट की पत्नी, गाड़ी में रस्सी से गला दबाकर जान ली, बॉडी को वहीं दबाया।

Danik Bhaskar | Jan 26, 2018, 05:52 AM IST
रजनी बाला उर्फ नीतू और उसका पति। रजनी बाला उर्फ नीतू और उसका पति।

पंचकूला. एडवोकेट मनमोहन की 16 जनवरी से गायब पत्नी रजनी का मर्डर कर दिया गया है। 16 जनवरी को ही रजनी का कत्ल करके शव सेक्टर-23 के डंपिंग ग्राउंड के पास दबा दिया गया था। अभी शव बरामद नहीं हुआ है। मर्डर के आरोप में पुलिस ने मृतका के पति मनमोहन की जानकार मोनिका और उसके जीजा संदीप को राउंड-अप कर लिया है। मनमोहन और मोनिका का आपस में मिलना-जुलना था। मोनिका रजनी की भी दोस्त बन गई थी। ये था मामला...

- पुलिस थ्योरी के मुताबिक मोनिका रजनी की जगह लेना चाहती थी, इसलिए उसे रास्ते से हटा दिया। इस कत्ल में मोनिका के जीजा संदीप ने साथ दिया। मर्डर में मनमोहन के रोल की जांच की जा रही है।

- मोनिका और मनमोहन एक दूसरे को करीब डेढ़ साल से जानते हैं। मनमोहन-रजनी के दो छोटे बच्चे हैं।
- मोनिका मनीमाजरा में रहती है और बतौर ब्यूटीशियन काम करती है। उसका जीजा संदीप उर्फ काला कैथल का रहने वाला है।

- गुरूवार रात को मोनिका और संदीप को राउंड-अप कर लिया गया था। देर रात दोनों को अरेस्ट भी कर लिया गया। हालांकि इस केस में पुलिस आधिकारिक तौर पर कुछ बोलने को तैयार नहीं है।

क्या हुआ था 16 जनवरी को

- जांच में सामने आया है कि मोनिका ने 16 जनवरी को फोन करके रजनी को पंचकूला सेक्टर-21 बुलाया था।

- इसके बाद मोनिका और संदीप रजनी को चंडीगढ़ की ओर लेकर गए। वहां उसका मोबाइल ऑफ करवा दिया।

- इसके बाद तीनों गाड़ी में पंचकूला सेक्टर-23 के पास बने डंपिंग ग्राउंड और निफ्ट के साथ लगती एक सुनसान सड़क पर गए।

- यहां मोनिका और संदीप ने रजनी के गले में रस्सी डालकर उसका गला घोंट दिया। फिर उसका शव डंपिंग ग्राउंड के पास ही दबा दिया।

पुलिस को गुमराह करती रही मोनिका

- मोनिका ने साजिश के तहत ही रजनी से नजदीकी बढ़ाई थी। मोनिका बार-बार रजनी को कॉल करती थी और मिलती भी थी।
- 16 जनवरी की दोपहर को रजनी के मोबाइल पर आखिरी कॉल भी मोनिका की ही थी। इसी आधार पर पुलिस को शक हुआ।

- हालांकि वह पुलिस को गुमराह करती रही। उसके पास बहाना था कि वो तो रजनी की दोस्त है, इसलिए फोन पर बातचीत तो करते ही होंगे।

मोनिका-रजनी-संदीप की मोबाइल लोकेशन एक साथ मिली, शक हुआ पुख्ता

- 16 जनवरी को दोपहर से मोनिका, संदीप और रजनी की मोबाइल फोन लोकेशन भी एक साथ आ रही थी।

- इसके बाद रजनी गायब हो गई। इससे पुलिस का शक पुख्ता हुआ। कुछ क्लू संदीप से पूछताछ में मिले।

- इसके बाद गुरूवार रात रजनी के गायब होने के राज से पर्दा उठ गया। पुलिस ने मोनिका और संदीप को राउंड-अप कर लिया है।

पति के खिलाफ अभी पुख्ता सबूत नहीं

अब पुलिस इस कत्ल में रजनी के पति मनमोहन के रोल की जांच कर रही है। हालांकि शुरुआती जांच में उसके खिलाफ कोई पुख्ता सबूत नहीं मिले हैं।

आज शव बरामद किया जाना है

रजनी का मर्डर सेक्टर-23 में हुआ और बॉडी को भी वहीं डंपिंग ग्राउंड और निफ्ट की सड़क के पास दबाया गया। शव ठीक किस जगह पर दबाया गया इसका खुलासा शुक्रवार सुबह होगा।

पहले मिली थी सूचना, लेकिन कुत्ते की लाश निकली थी

कुछ दिन पहले भी पुलिस को जानकारी मिली थी कि सेक्टर-23 के डंपिंग ग्राउंड में ही रजनी का शव दबाया गया है। वहां पुलिस ने मिट्‌टी खुदवाई थी तो कुत्ते की लाश निकली थी।

आगे की स्लाइड्स में देखें फोटोज...

मौके पर पहुंची पुलिस। मौके पर पहुंची पुलिस।
पुलिस को जगह से मिला जूता। पुलिस को जगह से मिला जूता।
गड्डे में मिली कुत्ते की लाश। गड्डे में मिली कुत्ते की लाश।
गड्डे को क्रेन से खोदा गया था। गड्डे को क्रेन से खोदा गया था।
क्रेन से गड्डा खुदवाती हुई पुलिस। क्रेन से गड्डा खुदवाती हुई पुलिस।
पुलिस जांच करती हुई। पुलिस जांच करती हुई।
गड़डे को खोदने में काफी मशक्कत हुई। गड़डे को खोदने में काफी मशक्कत हुई।
मृतका की रिलेटिव्स। मृतका की रिलेटिव्स।