--Advertisement--

कत्ल के जुर्म में उम्रकैद का फरार दोषी शहर में कर रहा था चोरियां, ऐसे हुआ अरेस्ट

2013 में नयागांव थाना में कत्ल का केस दर्ज, 2015 में हुआ था फरार।

Dainik Bhaskar

Dec 04, 2017, 05:19 AM IST
Life imprisonment was done in the city guilty of thieves

चंडीगढ़. कत्ल के केस में उम्रकैद पाने वाला एक आरोपी बिल्ला 2015 से पुलिस कस्टडी से फरार था। उसे अब चंडीगढ़ क्राइम ब्रांच ने इंस्पेक्टर अमनजोत की अगुवाई में गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी से चोरी के कुल 6 वाहन बरामद किए गए हैं। आरोपी की पहचान पंचकूला के सकेतड़ी के रहने वाले राकेश उर्फ बिल्ला के रूप में हुई है। पंजाब पुलिस आरोपी को जल्द ही प्रॉडक्शन वारंट पर लाने की तैयारी कर रही है। दरअसल, 29 नवंबर को क्राइम ब्रांच को गुप्त सूचना मिली कि पुलिस की कैद से भागा एक आरोपी चंडीगढ़ में घूम रहा है। इस पर क्राइम ब्रांच ने आरोपी को पीयू के टर्न के पास से पकड़ लिया। पूछताछ करने पर उसके पास से चोरी के टू व्हीलर मिले।


पेशाब करने के बहाने हुआ था फरार :

राकेश उर्फ बिल्ला के खिलाफ 2013 में नयागांव थाना पुलिस ने कत्ल का मामला दर्ज किया था। इस मामले में ही उसे उम्रकैद की सजा हो गई थी। सजा पाने के बाद वह पंजाब पुलिस के पास नाभा जेल में कैद था। इसी बीच उसे लूट के एक मामले में 24 दिसंबर 2015 को ले जाया जा रहा था। इस दौरान वह पेशाब का बहाना बनाकर पंजाब पुलिस की कस्टडी से फरार हो गया था। इसकी पटियाला के बख्शीवाला थाना पुलिस में एफआईआर रजिस्टर है। तब से वह फरार था।

खर्चा पूरा करने के लिए करता था चोरी

फरार होने के बाद से वह ट्राईसिटी में रह रहा था। अभी वो पंचकूला के सकेतड़ी में किराए पर रह रहा था। अपना खर्च पूरा करने के लिए वाहन चोरी करता था। इसकी जांच अभी क्राइम ब्रांच कर रही है कि वह चोरी के वाहनों को कहां पर बेचता था।

कई केस हुए सॉल्व

आरोपी की गिरफ्तारी से पुलिस ने सेक्टर-36, 34, सारंगपुर के एक-एक केस और सेक्टर 39 थाना से चोरी के तीन केस सॉल्व किए हैं। चोरी के वाहनों को आरोपी शहर की पार्किंग में खड़ा कर देता था। जिसके बाद ग्राहक मिलने के बाद उसे आगे बेच देता था।

X
Life imprisonment was done in the city guilty of thieves
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..