--Advertisement--

संधू ने नहीं की जांच ज्वाॅइन, कोर्ट ने दिए देखते ही गिरफ्तार करने के आदेश

लाश को जंगल में फेंकने वाले तीन आरोपियों का रिमांड चार दिन और बढ़ा

Dainik Bhaskar

Apr 01, 2018, 07:32 AM IST
पहले लाश छिपाई और अब चेहरा पहले लाश छिपाई और अब चेहरा

मोहाली. अभिषेक मर्डर केस में पुलिस ने डब्ल्यूडब्ल्यूआईसीएस के सीएमडी कर्नल (रिटायर्ड) बीएस संधू को इन्वेस्टिगेशन ज्वाइन करने के लिए नोटिस दिया था। लेकिन वे नहीं आए। अब कोर्ट ने उनके गिरफ्तारी वॉरंट जारी कर दिए हैं। यानि कि अब पुलिस संधू को देखते ही गिरफ्तार कर सकती है। पुलिस ने शनिवार को नयागांव के फॉरेस्ट हिल रिजॉर्ट के जिन तीन सदस्यों गुरविंदर सिंह बैंस, तरसेम फौजी और बलजिंदर सिंह को दो दिनों का रिमांड खत्म होने के बाद खरड़ कोर्ट में पेश किया। यहां से तीनों का चार दिन का और रिमांड दिया गया है। तीनों को पुलिस अब 3 अप्रैल को कोर्ट में पेश करेगी।

- जज ने पौना घंटा केस फाइल पढ़ी, फिर बढ़ाया रिमांड... शनिवार सुबह करीब साढ़े 10 बजे नयागांव एसएचओ भरत भूषण अपनी टीम के साथ तीनों उक्त आरोपियों को लेकर खरड़ कोर्ट में पेश हुए। जज के सामने केस की फाइल रखी। जज ने पूरी फाइल की डिटेल पढ़ने के करीब पौने घंटे बाद बाहर भेजे गए तीनों आरोपियों को दोबारा कोर्ट में पेश करने के निर्देश दिए। एसएचओ तीनों को लेकर कोर्ट रूम पहुंचे और जज ने तीनों आरोपियों का चार दिन का रिमांड दे दिया।

रिमांड लेने के लिए पुलिस ने रखे 4 पॉइंट...

जंगल में जहां लाश फेंकी, वहां आरोपियों को लेकर जाना है...

1. पुलिस ने कहा कि अभिषेक के शव को रिजॉर्ट के सीवर ट्रीटमेंट प्लांट के टैंक से बाहर निकालकर पैक करने के मामले में रिजॉर्ट के ही अन्य तीन गार्ड रमेश, धर्मपाल, दविंदर कुमार व रमेश चंद को इस केस में नामजद किया है। शव को पैक कर हरियाणा के जंगलों में फेंकने वाले इन चारों को अरेस्ट करना अभी बाकी है।
2. पकड़े गए तीनों आरोपियों ने रिजॉर्ट मालिक कर्नल बीएस संधू का नाम लिया था कि उनके कहने पर शव को खुर्द-बुर्द किया गया। संधू को इन्वेस्टिगेशन ज्वाइन करने के लिए नोटिस भेजा था लेकिन वे नहीं आए। फरार संधू को अभी पकड़ना है। इनसे संधू के बारे में पूछताछ करनी है।
3. पुलिस ने जज से कहा कि इन सबने मिलकर शव को टैंक से निकाला और पैक कर पिंजौर के जंगलों में फेंका। आरोपियों से अभी और पूछताछ करनी है और उन्हें जंगल में मौके पर लेकर भी जाना है।
4. एसएचओ ने कहा कि रिमांड लेने का सबसे बड़ा कारण है कि यह चीज जानना कि अभिषेक रिजॉर्ट में पहुंचा कैसे? ये चारों प्वाइंटस सुनने के बाद जज ने तीनांे आरोपियों का रिमांड चार दिन के लिए बढ़ा दिया।

पहले लाश छिपाई और अब चेहरा

- फॉरेस्ट हिल रिजॉर्ट के सीवर ट्रीटमेंट प्लांट के टैंक से मिली लाश को बसोरा गांव के जंगलों में फेंककर ठिकाने लगाने वाले तरसेम फौजी, फॉरेस्ट हिल रिजॉर्ट का चीफ सिक्योरिटी इंचार्ज गुरविंदर सिंह बैंस और एडिशनल सिक्योरिटी इंचार्ज बलजिंदर सिंह भले ही दबंग होकर इस काम को अंजाम दिया है, लेकिन जबसे पुलिस गिरफ्त में है तब से इनकी दबंगी धराशाही हो गई है। यह तीनों आरोपी अब अपना चेहरा छुपाते हुए दिखाई देते हैं। जब शनिवार को पेशी के लिए कोर्ट में लाया गया तो तीनों चेहरा छिपाते रहे।

अभिषेक मर्डर: कोर्ट में अगली सुनवाई तीन अप्रैल को... अभिषेक मर्डर: कोर्ट में अगली सुनवाई तीन अप्रैल को...
X
पहले लाश छिपाई और अब चेहरापहले लाश छिपाई और अब चेहरा
अभिषेक मर्डर: कोर्ट में अगली सुनवाई तीन अप्रैल को...अभिषेक मर्डर: कोर्ट में अगली सुनवाई तीन अप्रैल को...
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..