Hindi News »Union Territory »Chandigarh »News» Shubman Gill Came To His Home In Chandigarh

स्टार क्रिकेटर शुभमन पहुंचे घर, बताया- पाकिस्तानी गालियां दे रहे और मैं...

घर लौटकर बोले शुभमन-वर्ल्ड कप ने मैच्योर क्रिकेटर बनाया, पिता के साथ साथ कोच राहुल द्रविड़ का कामयाबी में बड़ा योगदान...

Bhaskar News | Last Modified - Feb 18, 2018, 08:52 AM IST

  • स्टार क्रिकेटर शुभमन पहुंचे घर, बताया- पाकिस्तानी गालियां दे रहे और मैं...
    +6और स्लाइड देखें
    शुभमन गिल अपने घर पहुंचे।

    चंडीगढ़/मोहाली. अंडर-19 क्रिकेट वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में भारत का मुकाबला पाकिस्तान से था और दोनों ही टीमों के लिए जीत बेहद जरूरी थी। उस मैच में सिटी स्टार शुभम गिल का बल्ला खूब बोला और उनके शानदार शतक के दम पर टीम ने पाकिस्तान को बड़े अंतर से हराया। शुभमन उस पारी को अपने करियर की बड़ी पारियों में से एक मानते हैं, लेकिन उनके लिए वहां बल्लेबाजी करनी आसान नहीं थी। शुक्रवार को घर लौटने पर शुभमन ने भास्कर से बात करते हुए कहा कि वो मैच मुश्किल था। पाकिस्तानी प्लेयर्स मैदान में बुरी तरह स्लेजिंग कर रहे थे। गालियां तक दे रहे थे। मैंने एक भी बार गुस्सा नहीं किया। मैंने उनकी स्लेजिंग का जवाब बल्ले से दिया।

    मां ने दो साल बाद खिलाए परांठे

    शुभमन की मां कीरत गिल लंबे समय से बेटे का इंतजार कर रही थीं और उसे खुद खाना बनाकर खिलाना चाहती थीं। वर्ल्ड कप के बाद शुभमन विजय हजारे ट्रॉफी के लिए बेंगलुरू गए और वहां पंजाब सीनियर टीम से खेले। शुभमन ने घर आते ही मां के हाथ के बने आलू के परांठे खाए जो उन्होंने करीब दो सालों से नहीं खाए थे।

    कोच राहुल द्रविड़ ने सही किए मेरे वीक शॉट्स

    शुभमन गिल ने कहा कि कोच राहुल द्रविड़ का हमारी सफलता में बड़ा योगदान है। वर्ल्ड कप के 15 महीने पहले से वे हमारे साथ दिन रात मेहनत कर रहे थे और उसी मेहनत का नतीजा आपके सामने हैं। हमारे प्रैक्टिस टाइमिंग से लेकर खाने पीने तक सभी चीजें फिक्स थी। उन्होंने मेरी बैटिंग में भी काफी सुधार लाया है। मेरे बहुत से शॉट्स वीक थे जो कोच राहुल ने सही किए और अब वे शॉट्स मैदान में मेरे काफी काम आते हैं।

    सीनियर्स के बीच शतक लगाना बड़ी बात

    शुभमन ने वर्ल्ड कप में तो खुद को साबित किया ही, साथ में उन्होंने बेंगलुरू में पंजाब की सीनियर टीम से खेलते हुए भी शतक लगाया। कर्नाटक जैसी चैंपियन टीम के खिलाफ शुभमन ने नाबाद 123 रन बनाकर साबित किया कि बॉलर कोई भी दो उन्हें फर्क नहीं पड़ता। शुभमन ने कहा कि जब आप सीनियर्स के बीच में रन बनाते हो तो वो हमेशा खास होता है। उससे आपके कॉन्फीडेंस में इजाफा होता है। मुझे उस शतक के बाद सभी ने बधाई दी और युवराज पाजी ने भी काफी बात की। उन्होंने कहा कि आज में रहना है कल के बारे में नहीं सोचना। एक अच्छा क्रिकेटर बनना है।

    वर्ल्ड कप ने टाइटल के अलावा बहुत कुछ दिया

    शुभमन गिल ने वर्ल्ड कप के एक्सपीरिएंस के बारे में कहा कि हमने टाइटल जीतने के लिए काफी मेहनत की थी और इस टाइटल में सभी ने अपना योगदान दिया। पूरी टीम को इसका क्रेडिट जाता है। हमें इस वर्ल्ड कप ने एक जूनियर क्रिकेटर से मैच्योर क्रिकेटर बना दिया है। एक बड़े मैच के दौरान मैदान में उतरने के बाद ही आपको पता चलता है कि गेम का कंपीटिशन लेवल क्या है। इस वर्ल्ड कप ने हमें टाइटल के अलावा भी बहुत कुछ दिया है।

  • स्टार क्रिकेटर शुभमन पहुंचे घर, बताया- पाकिस्तानी गालियां दे रहे और मैं...
    +6और स्लाइड देखें
    शुभमन गिल घर पहुंचे तो लोगों ने उन्हें अपने कंधे पर उठा लिया था।
  • स्टार क्रिकेटर शुभमन पहुंचे घर, बताया- पाकिस्तानी गालियां दे रहे और मैं...
    +6और स्लाइड देखें
    शुभमन गिल जब घर पहुंचे तो काफी लोगों ने उनके साथ सेल्फी ली।
  • स्टार क्रिकेटर शुभमन पहुंचे घर, बताया- पाकिस्तानी गालियां दे रहे और मैं...
    +6और स्लाइड देखें
    शुभमन गिल मैच जीतने के बाद।
  • स्टार क्रिकेटर शुभमन पहुंचे घर, बताया- पाकिस्तानी गालियां दे रहे और मैं...
    +6और स्लाइड देखें
    इंडियन क्रिकेटर इऱफान खान के साथ शुभमन गिल
  • स्टार क्रिकेटर शुभमन पहुंचे घर, बताया- पाकिस्तानी गालियां दे रहे और मैं...
    +6और स्लाइड देखें
    शुभमन गिल के पुराने बैट
  • स्टार क्रिकेटर शुभमन पहुंचे घर, बताया- पाकिस्तानी गालियां दे रहे और मैं...
    +6और स्लाइड देखें
    शुभमन गिल
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Chandigarh News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Shubman Gill Came To His Home In Chandigarh
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×