Hindi News »Union Territory »Chandigarh »News» Son And Daughter In Law Is Removed From Home On Court Orders

4 बच्चों की हुई मौत तो 13 साल की मिन्नतों से हुआ बेटा, वही बेटा-बहू रखते थे भूखा

रिटायरमेंट का पैसा बेटे के मुताबिक खर्च कर दिया, दवा-राशन के लिए गहने बेचने पड़े

Raveesh Kumar Jha | Last Modified - Jan 21, 2018, 12:46 PM IST

  • 4 बच्चों की हुई मौत तो 13 साल की मिन्नतों से हुआ बेटा, वही बेटा-बहू रखते थे भूखा
    +6और स्लाइड देखें
    बुजुर्ग दंपती ने एडीसी की कोर्ट में दी थी शिकायत

    पंचकूला.सेक्टर-9 में रहने वाले 73 साल के सुदर्शन कुमार कनोट और उनकी 79 साल की पत्नी स्वर्ण कौर अब सुकून से अपने घर पर रह सकेंगे। पिछले तीन साल से बेटा अमनदीप और बहू उनसे बदसलूकी करते थे। बुजुर्ग दंपती ने इसकी शिकायत एडीसी की सीनियर सिटीजन कोर्ट में दी थी। कोर्ट के आदेश पर पुलिस ने बेटा-बहू को घर से निकाल दिया है। दंपती ने बताया कि सेक्टर-10 पुलिस चौकी से आए मुलाजिम भी परेशान करते थे। कई बार हमें जबरदस्ती पुलिस चौकी ले जाने की कोशिश की। अमनदीप ने पहले दूध का बूथ खोला था, जो बेच दिया। फिलहाल कुछ नहीं करता है।

    रिटायरमेंट का पैसा बेटे के मुताबिक खर्च कर दिया, दवा-राशन के लिए गहने बेचने पड़े

    स्वर्ण कौर ने बताया कि पति ने 30 साल बैंक में सर्विस की। रिटायरमेंट पर लाखों रुपए मिले। बेटे के कहे मुताबिक एक-एक पैसा खर्च कर दिया। पिता को इमोशनली ब्लैकमेल कर बैंक में जमा रकम भी उड़ा दी। हालत यह हो गई कि घर के कागज गिरवी रखकर लोन लेना पड़ा। वो दिन भी देखे कि रोजमर्रा की जिंदगी जीने के लिए घर का सामान बेचना पड़ा। मार्च में पति की तबीयत खराब हुई तो बेटे से कहा अस्पताल ले जाओ। उसने जवाब दिया- तेरा पति है, तू ले जा... डॉक्टर से चेकअप के बाद दवा के लिए पैसे नहीं थे, घर में राशन नहीं था। मैंने अपने सोने के कड़े, बालियां, अंगूठियां ज्वेलर को बेचीं तो घर का राशन और दवा आई। पड़ोसियों को पता चला तो उन्होंने कुछ आर्थिक मदद की। मेरे मायके से भी मदद मिली। बहू ने खाना देना तक बंद कर दिया था। हमने टिफिन लगवाया तो टिफिन वाले को धमकाकर भगा दिया। तब से खुद खाना बनाते हैं और तबीयत ठीक न होने पर भूखे सोते हैं।

    शादी के बाद बेटे का व्यवहार बदल गया.

    सुदर्शन ने बताया- 60 के दशक में हमारी शादी हुई थी। चार बच्चों की मौत हो गई। शादी के 13 साल बाद काफी मन्नतों से अमनदीप मिला। इकलौते बेटे की हर ख्वाहिश पूरी की। शादी के कुछ समय बाद बेटे का व्यवहार बदल गया।

    घर खाली करने को कहा तो बेटे ने मां के खिलाफ ही दी अर्जी

    अमनदीप ने एडीसी से मिलकर लिखित तौर पर अर्जी दी थी और कहा था कि पिता की मानसिक स्थिति ठीक नहीं है। मां ने चचेरे भाई से मिलकर मकान बेचने की साजिश रची है। इसे रोका जाए। इसके साथ ही घर खाली करने के लिए कुछ दिन की मोहलत दी जाए।

  • 4 बच्चों की हुई मौत तो 13 साल की मिन्नतों से हुआ बेटा, वही बेटा-बहू रखते थे भूखा
    +6और स्लाइड देखें
  • 4 बच्चों की हुई मौत तो 13 साल की मिन्नतों से हुआ बेटा, वही बेटा-बहू रखते थे भूखा
    +6और स्लाइड देखें
  • 4 बच्चों की हुई मौत तो 13 साल की मिन्नतों से हुआ बेटा, वही बेटा-बहू रखते थे भूखा
    +6और स्लाइड देखें
  • 4 बच्चों की हुई मौत तो 13 साल की मिन्नतों से हुआ बेटा, वही बेटा-बहू रखते थे भूखा
    +6और स्लाइड देखें
  • 4 बच्चों की हुई मौत तो 13 साल की मिन्नतों से हुआ बेटा, वही बेटा-बहू रखते थे भूखा
    +6और स्लाइड देखें
  • 4 बच्चों की हुई मौत तो 13 साल की मिन्नतों से हुआ बेटा, वही बेटा-बहू रखते थे भूखा
    +6और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Chandigarh News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Son And Daughter In Law Is Removed From Home On Court Orders
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×