--Advertisement--

रास्ता पूछने के बहाने रोकते हैं बाइक वालों को, फिर ऐसे लूटते हैं कीमती सामान

10 दिसंबर को कैंबवाला में कैब ड्राइवर से लूटी थी यह कार

Danik Bhaskar | Jan 06, 2018, 04:39 AM IST

चंडीगढ़. 10 दिसंबर रात को कैंबवाला से लूटी गई रिट्ज कार से शहर में स्नैचिंग और लूटने की वारदातें जारी हैं। लेकिन इसको पकड़ने में चंडीगढ़ पुलिस की सभी डिविजन नाकाम साबित हो रही है। वीरवार रात को भी रिट्स कार में सवार तीन आरोपियांे ने 15 मिनट में दो लोगों को लूट लिया।

पहली वारदात सेक्टर 14-15 लाइट पाॅइंट पर की गई और फिर 15 मिनट बाद दूसरी वारदात सेक्टर-39 थाना से चंद कदमों की दूरी पर। 23 दिसंबर, 25 दिसंबर रात को चंडीगढ़ में अलग-अलग जगहों पर वारदातें अंजाम देने के बाद अब इस कार ने सेक्टर-39 थाने से चंद कदमों की दूरी पर। शुक्रवार शाम को डीएसपी साउथ ने अपने एरिया के एसएचओ की मीटिंग ली। इसमें कहा गया कि वह एरिया में नाइट पैट्रोलिंग पर ध्यान दें।


तरीका एक जैसा: चारों वारदातों में आरोपी पंजाबी बोलते हैं और सफेद रंग की ही रिट्ज कार है। वह रास्ता पूछने के बहाने बाइक सवारों को रोकते है। पुलिस के पास आरोपियों की पंजाब से मिली हुई सीसीटीवी फुटेज भी है।

पहली घटना...12 बजकर 20 मिनट

रघविंद्र पीजीआई में भी नौकरी करते हैं और रात को डिलिवरी करते हैं। रघविंद्र डिलिवरी करने के बाद बाइक से पीजीआई कैंपस में स्थित घर में लौट रहे थे। तभी सेक्टर 14-15 लाइट पाॅइंट पर पिस्टल दिखाकर उन्हें कार में सवार तीन युवकों ने घेरा और 10 हजार रुपए लूट लिए। इसके बाद आरोपी फरार हो गए। रघविंद्र ने शिकायत पुलिस कंट्रोल रूम पर दी। पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है। जो गाड़ी के बारे में पुलिस को बताया गया जिससे सामने आया है कि यह वही कार सवार हैं जिन्होंने दूसरी वारदात को भी अंजाम दिया है।

दूसरी घटना...12 बजकर 35 मिनट

मोहाली में पड़ते बड़माजरा का रहने वाला रकम चंडीगढ़ में प्राइवेट नौकरी करते हैं। वह बाइक से मोहाली जा रहे थे। सेक्टर 39-40 लाइट पॉइंट के पास रिट्ज कार में सवार तीन युवक आए। उन्होंने रास्ता पूछने के बहाने उन्हें रोका। रकम रुका तो तीनों आरोपी बाहर आए और उनसे 1500 रुपए छीन लिए। रकम बाइक छोड़ सेक्टर-39 में गलियों की तरफ भाग गए। बाद में वह छिपते हुए मुख्य सड़क पर आए तो देखा कि लुटेरे नहीं है। इसके बाद बाइक पर थाने पहुंचे। जांच के बाद एफआईआर दर्ज कर दी गई।

पहले कब और कहां दिया वारदात को अंजाम...

10 दिसंबर... एक कैब को सेक्टर-43 से बुक किया। इसके बाद उसे गन पाॅइंट पर कैंबवाला में लूट लिया। यह कार रिट्ज कार थी।

23 दिसंबर... रात को 12:30 बजे जयराम को 55-40 की डिवाइडिंग रोड पर रोककर किडनैप किया। उनके एटीएम से रुपए निकाले और डीजल डलवाया। लेकिन मौका पाकर जय राम भाग गए थे।

25 दिसंबर.. रात को 2:10 पर 22-23 डिवाइडिंग रोड पर से-56 के रहने वाले संजीव को गन दिखाकर पीटा। उनसे 10 हजार रुपए लूटे। घटना के समय वह दुकान से अपनी बाइक पर घर लौट रहे थे।