--Advertisement--

पति गया जेल तो पत्नी करने लगी ये बिजनेस, ऐसे बनाई इतने करोड़ों की प्रॉपर्टी

सारा पैसा और डॉक्युमेंट रखे थे बैंक लॉकर में, फिर किया बरामद।

Dainik Bhaskar

Feb 03, 2018, 03:31 AM IST
नशा तस्कर स्वीटी। नशा तस्कर स्वीटी।

मोहाली. नशा तस्करी में पति को 10 साल की कैद हुई तो पत्नी स्वीटी ने यह काम शुरू कर दिया। उसे 6 दिसंबर 2017 को स्पेशल टॉस्क फोर्स (STF) ने अरेस्ट किया था। STF ने स्वीटी को प्रोडक्शन वाॅरंट पर लेकर पूछताछ की तो चौंकाने वाले खुलासे हुए। उसका अंबाला में SBI के एक बैंक लॉकर का पता चला। STF स्वीटी को लेकर अंबाला बैंक पहुंची और लॉकर तुड़वाया। इसमें से 117 ग्राम अफीम, 707.47 ग्राम सोने के आभूषण और बिस्कुट, 1 लाख 91 हजार 331 रुपए और 12 प्रॉपर्टियों की रजिस्ट्रियां व बयाने के डॉक्यूूमेंट बरामद हुए। STF ने सारे सामान को सील कर दिया है और स्वीटी के केस के साथ इस केस को अटैच कर दिया है। यह प्रॉपर्टी पिछले चंद कुछ सालों में ही दंपति ने बनाई है।

बॉडी में छिपाकर करती थी सप्लाई

- स्पेशल टॉस्क फोर्स करीब 6 महीने से स्वीटी को पकड़ने के लिए काम कर रही थी, लेकिन वह हमेशा बच निकलती थी।

- दो बार तो एसटीएफ ने उसकी गाड़ी की चेकिंग भी ली, लेकिन कुछ नहीं मिला।

- एसपी एसटीएफ राजिंदर सिंह ने इसको लेकर कॉन्फ्रेंस की। कहा कि स्वीटी इतनी शातिर थी कि जब भी वह अंबाला से मोहाली या चंडीगढ़ आती थी तो हमेशा उसके पास हेरोइन होती थी।

- स्वीटी हेरोइन गाड़ी में नहीं छुपाती थी, वह अपने प्राइवेट पार्ट पर पुड़िया बनाकर बांध लेती थी। पुलिस सिर्फ गाड़ी की ही चेकिंग करती और इसी बात का फायदा स्वीटी उठाती।

तीन घंटे में टूटा लॉकर

- स्वीटी पर अंबाला में भी एनडीपीएस के केस दर्ज हैं, लेकिन कभी पुलिस इसके बैंक लॉकर तक पहुंची ही नहीं।

- एसटीएफ ने जब लॉकर खोलने के लिए कोर्ट में याचिका दायर की थी तो स्वीटी ने कहा था कि चाबियां गुम हो गई हैं। इस कारण लॉकर को तुड़वाना पड़ा।

- लॉकर को तोड़ने में तीन घंटे लगे। इसके लिए मुंबई से एक्सपर्ट बुलाया गया था।

यहां ज्यादा खरीदी प्रॉपर्टी

- बलदेव के नाम शालीमार काॅलोनी अंबाला में 5 मरले का प्लॉट है। रजिस्ट्री 7 अप्रैल 2015 को हुई।
- 150 गज का प्लॉट कमल विहार काॅलोनी रकवा पत्ती रंगडा में है। 28 मार्च 2006 को रजिस्ट्री हुई।
- सिविल लाइन काॅलोनी, अंबाला में 150 गज का प्लॉट। 2011 को रजिस्ट्री हुई।
- पुरानी मिर्च मंडी सर्कुलर रोड अंबाला में 9 मरले के प्लॉट का इकरारनामा। बयाना 4 अगस्त 2015 को हुआ।
- हीरा नगर रोड, अंबाला में 150 गज के प्लॉट का इकरारनामा 25 फरवरी 2011 को हुआ।
- स्वीटी के नाम 96 गज का प्लॉट का इकरारनामा 29 अगस्त 2016 को हुआ
- अंबाला में बलदेव के नाम पर एक प्लॉट की रजिस्ट्री। 2 अगस्त 2011 को हुई रजिस्ट्री।
- बलदेव के नाम 150 गज का प्लॉट। 13 अक्टूबर 2011 को रजिस्ट्री
- शिवलिंग काॅलोनी, अंबाला में 150 गज का प्लॉट। खरीद-फरोख्त जनवरी 2013 को हुई।
- 150-150 गज के दो प्लॉटों की रजिस्ट्रियां। एक 82 गज का प्लॉट भी।
बरामद सामान कोर्ट में किया पेश
- इन्वेस्टिगेशन ऑफिसर अस्सिटेंट सब-इंस्पेक्टर हरभजन सिंह ने स्वीटी को शुक्रवार को कोर्ट में पेश किया।
- स्वीटी के खिलाफ जो 6 दिसंबर 2017 को एफआईआर दर्ज की थी, अफीम मिलने की धारा भी जोड़ी गई।
- लॉकर से रिकवर सामान कोर्ट में पेश किया गया। साथ ही एसटीएफ ने कोर्ट में एप्लिकेशन दी कि प्रॉपर्टी के जो कागजात मिले हैं, उसकी खरीद-फिरोख्त पर रोक लगाई जाए।
जेल में मामू व बलदेव की हुई पहचान, फिर की तस्करी
- स्वीटी के पति बलदेव के ऊपर अंबाला व पंजाब में कई एनडीपीएस केस दर्ज हैं। एक केस में उसे 2017 में 10 साल की सजा हो चुकी है। जेल में बलदेव की मुलाकात पहले मनोज कुमार उर्फ मामू से हुई। थी। - मामू को भी मोहाली पुलिस ने हेरोइन केस में पकड़ा था। दोनों ने जेल में बैठकर इस कारोबार को अागे बढ़ाने के लिए हाथ मिलाया।
- मामू जेल से दिल्ली में बैठे नाइजीरियन से हेरोइन मंगवाता और दिल्ली बाईपास पर स्वीटी यह माल लेने जाती।
- पैमेंट स्वीटी का साथी गुरप्रीत सिंह निवासी धनौर, संगरूर करता। गुरप्रीत और स्वीटी बाहर से पूरे कारोबार को थामे हुए थे।
नशा तस्कर स्वीटी को अरेस्ट किया। नशा तस्कर स्वीटी को अरेस्ट किया।
X
नशा तस्कर स्वीटी।नशा तस्कर स्वीटी।
नशा तस्कर स्वीटी को अरेस्ट किया।नशा तस्कर स्वीटी को अरेस्ट किया।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..