Hindi News »Union Territory »Chandigarh »News» Thieves Did Dramatic Episode Of Epilepsy

चोर ने किया मिर्गी के दौरे का ड्रामा, इलाज के लिए लेकर जाने लगे तो चौकी की दीवार फांदकर फरार

घर से सिलेंडर चोरी करते हुए मकान मालिक ने दबोचा था चाेर, किया था पुलिस के हवाले

bhaskar news | Last Modified - Dec 23, 2017, 04:25 AM IST

  • चोर ने किया मिर्गी के दौरे का ड्रामा, इलाज के लिए लेकर जाने लगे तो चौकी की दीवार फांदकर फरार
    डेमोफोटो

    पंचकूला. घर से सिलेंडर चोरी करने वाले को मकान मालिक ने रंगे हाथों गिरफ्तार किया। फिर शिकायत देकर चोर को पुलिस के हवाले भी कर दिया। लेकिन पुलिस की पकड़ में आने के बाद चोर संदीप सिंह ने पुलिस चौकी में जाकर मिर्गी के दौरे पड़ने का ड्रामा किया। जब पुलिसकर्मी और होमगार्ड के जवान उसका इलाज करवाने के लिए पुलिस चौकी से उसे लेकर जाने लगे तो वह धक्का मारकर यहां से फरार हो गया।

    इस दौरान पुलिस चौकी में तैनात होमगार्ड उसे पकड़ने में नाकाम रहे। अब आरोपी के खिलाफ एक और मामला दर्ज किया गया है। यह मामला इंडस्ट्रियल एरिया के अभयपुर का है। यहां रहने वाले बाबूराम के घर पर दो दिन पहले सिलेंडर चोरी करने संदीप घुसा था। वह सिलेंडर उठाकर जाने लगा तो बाबूराम की नजर उस पर पड़ गई। उसने संदीप को सिलेंडर समेत पकड़ और पुलिस को साैंप दिया। आरोपी को अरेस्ट कर उसके खिलाफ आईपीसी की धारा 379,411 के तहत मामला दर्ज किया था। उसे रिमांड पर लेकर पूछताछ करनी थी। उसका सेक्टर 6 स्थित जनरल अस्पताल में मेडिकल करवाया गया। इसके बाद उसे दोपहर तक वापस पुलिस चौकी में लाया गया। इस दौरान पीसीआर नंबर 11 उसे लेकर गई थी।

    पुलिस की माने तो शिकायत में लिखा गया है कि उस दौरान पुलिस चौकी में ज्यादा स्टाफ नहीं था। इस लिए वो भाग गया। इस मामले में आरोपी संदीप के खिलाफ एक और एफआईआर आईपीसी की धारा 323 , 324 , 353 के तहत मामला दर्ज किया गया है। लेकिन अभी तक आरोपी संदीप को पकड़ा नहीं जा सका है।

    सेक्टर-20 थाना प्रभारी विकास कुमार जवाब से बचते नजर आए। जब इस मामले के बारे में विकास कुमार से जब इस मामले के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि वह बाहर हैं। इस बारे में कुछ नहीं बता सकते। अाराेपी फिर से गिरफ्तार हुआ या नहीं इस बारे में जानकारी नहीं है। विकासकुमार, सेक्टर-20 थाना प्रभारी


    मेडिकल के बाद अचानक से बैरक में संदीप सिंह नीचे लेट गया, जिस पर लगा कि उसे मिर्गी का दौरा आया है। होमगार्ड चेतन और श्याम सिंह ने उसे बाहर निकाला।

    पुलिस कंट्रोल रूम में कॉल करने की बजाय, अपने आप पीसीआर नंबर 11 पर कॉल की गई। उसके आने तक उसे बाहर निकाला गया। आरोपी का एक हाथ होमगार्ड चेतन ने पकड़ा हुआ था तो दूसरा श्याम लाल ने। संदीप जमीन पर गिर गया और मिर्गी के दौरे का ड्रामा करने लगा। चेतन उसके लिए पानी लेेकर आया और पानी पिलाने लगा। इसी दौरान संदीप ने उसे धक्का मारा और उसके बाद चौकी की दीवार को फांदकर यहां से फरार हो गया।

    - सबसे पहले किसी भी आरोपी के लिए होमगार्ड को ही क्यों तैनात किया गया। कोई पुलिस कर्मी क्यों नहीं था।
    - वहीं जब चेतन पानी लेने गया था और मौके पर श्याम लाल था तो उसने चेतन के पानी लेकर आने का इंतजार क्यों किया। वहीं उसके बाद धक्का भी चेतन को ही मारा। जबकि पुलिस की खुद की शिकायत कहती है कि चेतन और श्याम उसकी रखवाली में मौजूद था।
    - कॉन्स्टेबल संदीप कुमार ने अपनी शिकायत में कहा है कि सभी पीसीआर नंबर 11 में तैनात प्रदीप कुमार, रमेश कुमार का इंतजार कर रहे थे। ताकि आरोपी संदीप सिंह का मिर्गी का दौरा पड़ने के दौरान इलाज करवाया जा सके। लेकिन उसके भागने के दौरान एक दम से सभी पुलिसकर्मी यहां मौके पर गए।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Chandigarh News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Thieves Did Dramatic Episode Of Epilepsy
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×