Home | Union Territory | Chandigarh | News | two arrest from assault case

रेप करने वाले दोनों गिरफ्तार, फिर एक साल से जेल में बंद वसीम का कसूर क्या

कॉल सेंटर में काम करने वाली एक लड़की से सेक्टर-29 की आयरन मार्केट के पास जंगल में दो लड़कों ने ऑटो में गैंगरेप किया।

Bhaskar news| Last Modified - Mar 15, 2018, 06:26 AM IST

two arrest from assault case
रेप करने वाले दोनों गिरफ्तार, फिर एक साल से जेल में बंद वसीम का कसूर क्या

चंडीगढ़. दिसंबर, 2016 में कॉल सेंटर में काम करने वाली एक लड़की से सेक्टर-29 की आयरन मार्केट के पास जंगल में दो लड़कों ने ऑटो में गैंगरेप किया। करीब एक साल बाद सेक्टर-53 में तीन लड़कों ने मिलकर ऑटो में एक लड़की से गैंगरेप किया था। सेक्टर-53 के गैंगरेप में पकड़े गए एक आरोपी इरफान ने कबूल कर लिया कि उसी ने सेक्टर-29 वाले केस में लड़की के साथ रेप किया था। इरफान की निशानदेही पर अब पुलिस ने उस रेप केस में शामिल दूसरे आरोपी कमल हसन को बुधवार को दिल्ली से गिरफ्तार कर लिया है। उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। कमल हसन की आइडेंटिफिकेशन परेड की एप्लीकेशन भी कोर्ट ने मंजूर कर ली है। से-29 केस की पीड़िता इरफान को पहचान चुकी है और अब वह जेल में कमल की शिनाख्त करवाएगी। 

 

ये था मामला: 13 दिसंबर 2016 को पिकाडली चौक से कॉल सेंटर में काम करने वाली लड़की ने रात 8 बजे ऑटो हायर किया था। उसे हल्लोमाजरा अपने घर जाना था। जबकि ऑटो ड्राइवर और उसके साथ बैठा शख्स लड़की को चाकू दिखाकर आयरन मार्केट सेक्टर-29 के पास जंगलों की तरफ ले गए। वहां उससे दोनों ने चाकू दिखाकर बलात्कार किया। इसके बाद आरोपी ट्रिब्यून चौक के पास पीड़िता को छोड़कर फरार हो गए। उस केस में पुलिस ने सेक्टर-52 निवासी वसीम को गिरफ्तार किया था। एक साल बाद सेक्टर-53 ऑटो गैंग केस में जब पकड़े गए इरफान की फोटो अखबार में छपी देखी तो उस लड़की ने कहा कि जिन्होंने उसके साथ रेप किया था उसकी शक्ल इरफान से मेल खाती है। 


लड़की भी क्रॉस में कह चुकी है कि श्योर नहीं कि वसीम वही आरोपी...पुलिस ने सेक्टर-29 रेप केस के बाद एक ऑटो चालक वसीम मलिक को हांसी से गिरफ्तार किया था। अब सवाल ये है कि जब रेप करने वाले दोनों गिरफ्तार हो चुके हैं तो वसीम बंद क्यों है? वसीम भी शुरुआत से कह रह था कि उसने कुछ नहीं किया। वसीम के वकील अंकुर चौधरी ने बताया कि पीड़िता ने पहले जज के सामने तो उसकी पहचान कर ली थी लेकिन क्रॉस एग्जामिनेशन में कह दिया था कि पूरी तरह श्योर नहीं है कि ये वही लड़का है। इसके बाद कोर्ट ने उसे होस्टाइल डिक्लेयर कर दिया था लेकिन अभी तक वसीम जेल में ही है और उस पर केस चल रहा है। वीरवार को वसीम के केस की कोर्ट में सुनवाई है। उस पर कोर्ट चार्ज भी फ्रेम कर चुकी है। वसीम को हाईकोर्ट तक से भी जमानत नहीं मिली। 


परिवार में इकलौता कमाने वाला था वसीम...वसीम के पिता का कहना है कि उनका बेटा ही घर चला रहा था। महज एक हजार रुपए की बुढ़ापा पेंशन से गुजारा चला रहे हैं। पिता ने बताया कि वसीम का और उसकी बहन का रिश्ता भी रेप के लगे आरोपों के बाद टूट गया है। 

prev
next
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now