--Advertisement--

गो कार्ट के टायर में बाल फंसने से हुई थी महिला की मौत, कंपनी को पुलिस ने भेजा नोटिस

लोकल एक्सपर्ट्स को गो कार्टिंग की वीडियोग्राफी भेजकर खामियों के बारे में पूछा जा रहा है।

Danik Bhaskar | Feb 23, 2018, 07:37 AM IST

पंचकूला. पिंजौर गार्डन के साथ लगते एक्वा विलेज के गो कार्ट सेक्शन में पिछले बुधवार को हुए हादसे में 32 साल की पुनीत कौर की मौत हो गई थी। गो कार्ट राइड के दौरान हेल्मेट का लॉक खुलने से पुनीत के बाल टायर में फंस गए और सिर की खाल समेत उखड़ गए थे। पुनीत की मौके पर ही मौत हो गई थी। इसके आठ दिन बाद पंचकूला पुलिस ने गो कार्ट बनाने वाली कर्नाटक की कंपनी को नोटिस भेजा है।

इसमें पूछा गया है, कि इस कार्ट को चलाने के क्या नियम-कायदे हैं, सेफ्टी के क्या पैमाने हैं और इसे चलाने के लिए परमिशन किससे लेनी पड़ती है। इस हादसे के बाद से गो कार्टिंग बंद है। एक्वा विजेल के मालिक पर लापरवाही से मौत का केस दर्ज किया गया था, लेकिन उसे गिरफ्तार नहीं किया गया है।

कमेटी लेगी बयान...

टूरिज्म डिपार्टमेंट ने जांच के लिए तीन अफसरों की कमेटी बनाई थी। इसमें डिपार्टमेंट के एडिशनल डायरेक्टर, जीएम और चीफ इंजीनियर हैं, जो सर्वे करने एक्वा विलेज आएंगे और बयान भी लेंगे।

ये थी खामियां...

शुरुआती जांच से साफ हो गया है कि यहां सुरक्षा के नियमों का कतई पालन नहीं किया जा रहा था।
1. अॉक्शन में कंडम कार्ट खरीदे गए थे
2. कार्ट के पीछे टायर का हिस्सा कवर नहीं था
3. हेल्मेट का लॉक खराब था
4. कार्ट में बैठने वालों को खतरे का अंदाजा नहीं होता। इस बारे में बताने के लिए न कोई बोर्ड था, न ही कोई इंस्ट्रक्टर।

नोटिस में कंपनी से सवाल

- क्या इसे चलाने के लिए लाइसेंस चाहिए?
- कैसे कपड़े पहनकर इस पर बैठना चाहिए?
- इसके एक्सपर्ट्स की क्या क्वालिफिकेशन होनी चाहिए?
- इसके बारे में और क्या- क्या नियम हैं?

वीडियो दिखाकर पूछ रहे खामियां...
पिंजौर पुलिस थाने की टीम इस केस की जांच कर रही है। लोकल एक्सपर्ट्स को गो कार्टिंग की वीडियोग्राफी भेजकर खामियों के बारे में पूछा जा रहा है।