Hindi News »Union Territory »Chandigarh »News» मां से मिले संस्कारों से सद्‌गुरु और संत महात्माओं का सानिध्य मिलता है: शास्त्री

मां से मिले संस्कारों से सद्‌गुरु और संत महात्माओं का सानिध्य मिलता है: शास्त्री

भगवान भक्त के हृदय में उपजे भावों में प्रेम की भूख उत्कट इच्छा से और मनुष्य की सरलता से प्राप्त किए जा सकते हैं।...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 01, 2018, 02:05 AM IST

भगवान भक्त के हृदय में उपजे भावों में प्रेम की भूख उत्कट इच्छा से और मनुष्य की सरलता से प्राप्त किए जा सकते हैं। ध्रुव को जीवन की 3 अनमोल कृपाएं, मां महात्मा और परमात्म की असीम कृपाएं प्राप्त हुई थी। मां के द्वारा दिए गए संस्कारों से सदगुरु और संत महात्माओं का सानिध्य प्राप्त होता है। तत्पश्चात इनकी कृपाओं से ही भगवद प्राप्ति का मार्ग सुगम होता है। यह प्रवचन सुमंत कृष्ण शास्त्री महाराज ने श्रीमद् भागवत कथा में दिए। कथा का आयोजन नव दशहरा कमेटी के सहयोग से सेक्टर-43 के माता शाकुंभारी देवी मंदिर में किया जा रहा है।

बच्चे के जीवन में पहली मां गुरु...

शास्त्री जी ने कहा कि बच्चे के जीवन का सबसे पहला गुरु मां है। जिससे बच्चे के जीवन को पहली शिक्षा प्राप्त होती है। ध्रुव ने अपनी मां से बाल्यावस्था में ही एसी सुंदर शिक्षा और संस्कार प्राप्त किए जससे ध्रुव को 5 वर्ष की अवस्था में ही भगवद प्राप्ति हो गई। हम सब का परम कर्तव्य है कि हम अपने बच्चों को भी ऐसी शिक्षा दें।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×