चंडीगढ़ समाचार

--Advertisement--

इलेक्ट्रिकल व्हीकल चार्जिंग स्टेशन के लिए टैरिफ बनाकर अप्रूवल के लिए भेजा

पॉल्यूशन घटाने और एन्वायर्नमेंट बचाने के लिए शहर में आने वाले सालों में इलेक्ट्रिकल व्हीकल चलेंगे। इनके लिए...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 02:05 AM IST
पॉल्यूशन घटाने और एन्वायर्नमेंट बचाने के लिए शहर में आने वाले सालों में इलेक्ट्रिकल व्हीकल चलेंगे। इनके लिए चार्जिंग स्टेशन भी बनेंगे। इसी को देखते हुए बिजली विभाग ने इलेक्ट्रिकल व्हीकल चार्जिंग स्टेशन के टैरिफ बनाकर जेईआरसी (जॉइंट इलेक्ट्रिसिटी रेगुलेटरी कमीशन) के पास अप्रूवल के लिए भेजे हैं। इसके लिए बिजली टैरिफ 7.8 से 25 फीसदी बढ़ाने की जेईआरसी के पास 12 जनवरी को पिटीशन दायर की है। इसपर जेईआरसी चेयरमैन और मैंबर द्वारा 13 फरवरी को सेक्टर-10 के म्युजियम एंड आर्ट गैलरी के ऑडिटोरियम में पब्लिक हियरिंग करेंगे। इसमें आरडब्ल्यूए, बिजनेस काउंसिल, चंडीगढ़ व्यापार मंडल और अन्य एसोसिएशन एवं रेजिडेंट्स टैरिफ पर सुझाव और आपत्ति दर्ज कर सकेंगे। इलेक्ट्रिकल व्हीकल के चार्जिंग स्टेशन के रेट्स पर भी चर्चा होगी। वाजिब है या नहीं। इन्हें कंसीडर करके ही जेईआरसी चेयरमैन बिजली टैरिफ बढ़ाना उचित समझेंगे या नहीं। अगर जेईआरसी चेयरमैन और मैंबर को बिजली टैरिफ बढ़ाना जायज लगा तो बढ़ाने की नोटिफिकेशन मार्च माह के अंत तक जारी हो जाएगी।


0 से 150 6.20 रुपए

151 से 400 6.45 रुपए

400 से ऊपर 6.75 रुपए




बिजली विभाग की ओर से जेईआरसी (जॉइंट इलेक्ट्रिसिटी रेगुलेटरी कमीशन ) के पास दायर की गई पिटीशन में कहा गया है कि वर्ष 2016 में ही टैरिफ 17.78 फीसदी बढ़े थे। इसके बाद से दायर की गई पिटीशन पर जेईआरसी की ओर से टैरिफ नहीं बढ़ाए गए। हालांकि जेईआरसी की ओर से वर्ष 2016 में मल्टी ईयर टैरिफ अप्रूव कर दिया था। इसके बाद भी बिजली विभाग का पिछले साल का 280 करोड़ घाटा चला आ रहा है। वहीं, एफएफपीसीए (फ्यूल प्राइस एंड पावर परचेज एडजस्टमेंट चार्जेज) की 4 तिमाही के कारण कंज्यूमर से रिकवरी तो हो रही है। लेकिन पिछला घाटा कवर नहीं हो रहा है। अब बिजली विभाग की ओर से 12 जनवरी को जेईआरसी के पास पिटीशन दायर कर दी है।



X
Click to listen..