--Advertisement--

कोर्ट ने कहा- शिल्पी पातर आए या न आए लेकिन केस में बहस जरूर होगी

रिश्वत मामले में फंसी एचसीएस ऑफिसर शिल्पी पात्तर पिछले कुछ समय से स्पाइन की प्रॉब्लम से जूझ रही है। उन्होंने...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 02:05 AM IST
रिश्वत मामले में फंसी एचसीएस ऑफिसर शिल्पी पात्तर पिछले कुछ समय से स्पाइन की प्रॉब्लम से जूझ रही है। उन्होंने कोर्ट में पेश न होने लिए तीन हफ्ते की छूट मांगी, लेकिन कोर्ट ने सिर्फ दो हफ्ते की दी है। ये भी कहा है कि भले ही शिल्पी कोर्ट में न आए लेकिन केस पर बहस चलेगी, अगली सुनवाई 16 फरवरी को होगी। दरअसल, वीरवार को इस केस की सुनवाई थी। शिल्पी के वकील ने कोर्ट में मेडिकल सर्टिफिकेट लगाकर पेशी से छूट की एप्लीकेशन दी। इस पर सीबीआई के वकील ने विरोध किया। पिछली पेशी के दौरान भी शिल्पी कोर्ट नहीं आई थी और तब कोर्ट ने उनका मेडिकल सर्टिफिकेट वेरिफाई करवाने के लिए कहा था। कोर्ट ने कहा कि शिल्पी आगे भी पेश न हो लेकिन बहस जारी रहेगी।

ये है मामला... आरोप के मुताबिक, विवादित प्रॉपर्टी की सील खोलने के नाम पर शिल्पी ने रिश्वत मांगी थी। सेक्टर-26 ग्रेन मार्केट में तरसेम का भाई से प्रॉपर्टी का झगड़ा था। तरसेम ने 1.39 करोड़ में 43 परसेंट हिस्सा खरीदा था, पर रजिस्ट्री से पहले ही झगड़ा हो गया। पुलिस ने एसडीएम ईस्ट शिल्पी पातर को रिपोर्ट भेजी। शिल्पी ने तरसेम का फ्लोर सील कर दिया। प्रॉपर्टी की सील खोलने के नाम पर 2 लाख की डील हुई। इस पर तरसेम ने सीबीआई का ट्रैप लगवाया।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..